बिहार : रूपेश सिंह की हत्या की गुत्थी सुलझाने में नाकामयाब - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 जनवरी 2021

बिहार : रूपेश सिंह की हत्या की गुत्थी सुलझाने में नाकामयाब

rupesh-murder-mistry-un-identified
पटना. बिहार सरकार के गृह मंत्री हैं नीतीश कुमार.कई बार समीक्षा बैठककर पुलिस अधिकारियों को आवश्यक निर्देश चुके हैं पर पुलिस अधिकारियों ने अंजाम देने में सफल नहीं हो पा रहे हैं.इनसे न शराबबंदी और न ही क्राइम पर नियत्रंण हो पा रहा है.इस समय सरकार की किरकिरी हो गयी है कि  स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या की गुत्थी सुलझाने में पुलिस अधिकारी उलझकर रह गये हैं. बता दें कि पटना के शास्त्रीनगर थाना क्षेत्र में पटना हवाई अड्डे पर इंडिगो एयरलाइंस कंपनी के स्टेशन प्रबंधक रूपेश सिंह की अपराधियों ने 12 जनवरी को उस समय गोली मारकर हत्या कर दी थी, जब वे अपने पुनाईचक स्थित कुसुमविला अपार्टमेंट में प्रवेश कर रहे थे. राजधानी में इंडिगो एयरलाइंस कंपनी के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या के करीब दो सप्ताह गुजर जाने के बाद भी बिहार पुलिस अब तक गुनहगारों को ढूंढ नहीं सकी है. बिहार के मुख्यमंत्री इस मामले में खुद पुलिस महानिदेशक एस के सिंघल से बातकर अपराधियों को ढूंढ निकालने का निर्देश दे चुके हैं. बिहार पुलिस सूत्रों के मुताबिक पुलिस इस मामले में सिंह के नजदीकी लोगों और उनके सपंर्क में आने वाले लोगों सहित करीब 250 से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है, लेकिन हत्या के कारणों का पता नहीं लगा सकी है. घटना के कुछ दिन बाद पुलिस महानिदेशक ने पत्रकारों को यह जरूर बताया कि इस मामले में ठेका विवाद सामने आ रहा है. सूत्रों के मुताबिक, पुलिस इस मामले में झारखंड, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में सुराग खोजने की कोशिश की है तथा कई शूटरों से भी पूछताछ कर चुकी है. पुलिस का मानना है कि जब शूटर्स को पकड़ लिया जाएगा, तो सुपारी देने वाले का नाम भी सामने आ जाएगा. इस हत्या की जांच के लिए विशेष जांच दल का गठन किया है और विशेष कार्य बल को भी लगाया गया है. सूत्रों का दावा है कि इस मामले को लेकर कई ठेकेदारों के गुर्गो से भी पूछताछ की गई है. सूत्रों का कहना है कि पुलिस लेनदेन के मामले में हत्या की आशंका को लेकर सिंह के बैंक खातों की भी जानकारी इकट्ठा कर चुकी है. सूत्र बताते हैं कि पुलिस इस हत्या का सुराग ढूंढने के लिए दर्जनों संदिग्धों के मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर ले रखा है, लेकिन सिंह की हत्या अब तक पुलिस के लिए पहेली बनी हुई है. पटना में यह पहला ऐसा हाईप्राेफाइल हत्याकांड है जिसमें 16दिन गुजर जाने के बाद भी पुलिस किसी कारण का खुलासा नहीं कर सकी है. इस मामले में पुलिस करीब 200 से अधिक लाेगाें से पूछताछ कर चुकी है जिनमें से 50 से अधिक काे हिरासत में लिया जा चुका है. पुलिस ने इस केस में छापेमारी में काेई काेर-कसर नहीं छाेड़ी है. एसटीएफ, एसआईटी ने आधा दर्जन बाइकराें काे भी पकड़ा, उनसे पूछताछ करने में जुटी है.

कोई टिप्पणी नहीं: