सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 18 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 18 मार्च 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 18 मार्च

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के क्रियान्वयन में राष्ट्रीय स्तर पर मध्यप्रदेश प्रथम स्थान पर उत्कृष्ठ कार्य करने वाले सीहोर सहित पांच जिलों की सराहना


प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में मध्यप्रदेश को वर्ष 2020-21 में योजना क्रियान्वयन में राष्ट्रीय स्तर प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। मध्यप्रदेश ने योजना में 152 प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में मध्यप्रदेश को राष्ट्रीय पर प्राप्त हुए प्रथम सथान के लिये महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को बधाई दी है। उत्कृष्ट कार्य करने वाले सीहोर सहित पांच जिलों की सराहना की गई। इसके लिए मुख्य मंत्री श्री चौहान ने कलेक्टर सहित विभागीय अमले को बधाई दी। केन्द्र सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 15 मार्च 2021 को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा बैठक सह क्षमता संवर्धन कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में भारत सरकार की टीम द्वारा अवगत कराया गया कि मध्यप्रदेश में योजना प्रारंभ से वर्तमान तक 22 लाख 2 हजार 258 आवेदन-पत्रों पर हितग्राहियों को राशि रूपये 942 करोड़ का मातृत्व लाभ वितरण किया गया, जो राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम है। समीक्षा बैठक में योजना के सफल एवं सुचारू क्रियान्वयन के लिय आगर मालवा, छिंदवाड़ा, शहडोल, सीहोर एवं अलीराजपुर जिले कों उत्कृष्ट कार्य करने वाले जिलों एवं प्रदेश द्वारा किये गये प्रयासो की सराहना और राज्य की टीम को भी बधाई दी गई। मध्यप्रदेश को विगत वर्ष भी योजना क्रियान्वयन में राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने पर पुरस्कृत किया गया था। भारत सरकार द्वारा एक जनवरी 2017 से प्रांरभ की गई प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना प्रदेश के समस्त जिलों में 'राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत लागू की गयी है। योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को मजदूरी की हानि की आंशिक क्षतिपूर्ति के रूप में नकद प्रोत्साहन प्रदान करना है, जिससे महिलाओं को प्रथम बच्चे के प्रसव के पूर्व एवं पश्चात पर्याप्त आराम मिल सके। नकद प्रोत्साहन के माध्यम से गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं के स्वास्थ्य संबंधी व्यवहारों में सुधार लाना भी योजना का उद्देश्य है। योजना अन्तर्गत समस्त गर्भवती महिलाएँ और धात्री माताएँ को प्रथम जीवित जन्मे बच्चे पर निर्धारित शर्तों की पूर्ति उपरान्त प्रति हितग्राही 5 हजार रूपये तीन किस्तों में दिये जाते है। प्रथम किस्त 1000 आंगनवाड़ी केन्द्र पर गर्भावस्था का शीघ्र पंजीयन कराने पर, द्वितीय किस्त 2000 रूपये कम से कम एक प्रसव पूर्व जाँच कराने एवं गर्भावस्था के 6 माह पूर्ण होने पर और तृतीय किरत 2000 रूपये बच्चे के जन्म का पंजीकरण एवं बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूर्ण होने पर डी.बी.टी. के माध्यम से सीधे उनके आधार लिंक्ड बैंक या पोस्ट आफिस खाते में प्रदान करने का प्रावधान है। प्रदेश में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को 'उमंग' ऐप से भी लिंक किया गया है, जिसका उपयोग कर योजना अन्तर्गत हितग्राहियों के आवेदन पत्रों को प्रविष्टि किये जाने में लगने वाले समय को कम किया जा सकेगा। 'उमंग' एप के माध्यम से क्षेत्रीय अमला नवीन हितग्राहियों का पंजीयन द्वितीय एवं तृतीय किश्त आवेदनो की प्रविष्टि, करेक्शन क्यू में सुधार एवं हितग्राही की जानकारी प्राप्त कर सकेगा।


नगरीय निकाय एवं पंचायत निर्वाचन की तैयारी एक साथ करें, प्रशिक्षण कार्यक्रम में सचिव राज्य निर्वाचन आयोग : श्री दुर्ग विजय सिंह  


नगरीय निकाय और पंचायत निर्वाचन की तैयारी एक साथ करें। सचिव राज्य निर्वाचन आयोग श्री दुर्ग विजय सिंह ने यह बात जिले के अधिकारियों के स्थानीय निर्वाचन संबंधी प्रशिक्षण में कही। प्रशिक्षण वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से हुआ। श्री सिंह ने कहा कि नाम निर्देशन-पत्रों की प्राप्ति, उनकी संवीक्षा, नाम वापसी और प्रतीक आवंटन के संबंध में सभी तैयारियाँ राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि आयोग द्वारा चाही गयी जानकारी तुरन्त उपलब्ध करवायें। श्री सिंह ने कहा कि प्रशिक्षण बार-बार नहीं होगा। अत: जो बातें आज बतायी जा रही हैं, उन्हें ध्यान से सुनें। पूरी प्रक्रिया में कोविड-19 की गाइड लाइन का शत-प्रतिशत पालन हो। प्रशिक्षण में राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स डॉ. समीरा नईम और श्री अजय काले ने निर्वाचन की घोषणा के बाद की जाने वाली कार्यवाही और आदर्श आचरण संहिता के बारे में बताया। श्री दीपक पाण्डे ने नाम निर्देशन-पत्रों की प्रस्तुति, संवीक्षा, और प्रतीक आवंटन प्रक्रिया के संबंध में जानकारी दी। प्रशिक्षण में ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया आई.ई.एम.एस. सहित निर्वाचन संबंधी अन्य आई.टी.टूल्स और एप्लीकेशन के बारे में भी जानकारी दी गयी। इस दौरान उप सचिव श्री अरूण परमार एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


कोविड संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी


जिले में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने तथा बचाव के लिए जिला दण्डाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने सीहोर जिले में धारा 144  के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये हैं । यह आदेश तत्काल प्रभाव से संपूर्ण सीहोर जिले की राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक लागू रहेगा। जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी आदेश के अनुसार सीहोर जिले में आयोजित होने वाले समस्त सामाजिक, शैक्षणिक, राजनैतिक, धार्मिक, खेल, मनोरंजन, सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के अयोजन के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम से अनुमति लेना अनिवार्य होगा। सभी दुकानों एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। दुकानों के सामने रस्सी, गोल मार्क  आदि के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। पालन न करने वाले दुकानदारों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जायेगी। राजस्व, पुलिस, नगरपालिका, नगर परिषद, पंचायत के अमले द्वारा नियमित रूप से मास्क नहीं पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वाले व्यक्तियों पर नियमानुसार स्पॉटफाईन की कार्यवाही की जायेगी।


कोविड संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी


जिले में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने तथा बचाव के लिए जिला दण्डाधिकारी श्री अजय गुप्ता ने सीहोर जिले में धारा 144  के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये हैं । यह आदेश तत्काल प्रभाव से संपूर्ण सीहोर जिले की राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक लागू रहेगा। जिला दण्डाधिकारी द्वारा जारी आदेश के अनुसार सीहोर जिले में आयोजित होने वाले समस्त सामाजिक, शैक्षणिक, राजनैतिक, धार्मिक, खेल, मनोरंजन, सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के अयोजन के लिए संबंधित क्षेत्र के एसडीएम से अनुमति लेना अनिवार्य होगा। सभी दुकानों एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। दुकानों के सामने रस्सी, गोल मार्क  आदि के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। पालन न करने वाले दुकानदारों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही की जायेगी। राजस्व, पुलिस, नगरपालिका, नगर परिषद, पंचायत के अमले द्वारा नियमित रूप से मास्क नहीं पहनने व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वाले व्यक्तियों पर नियमानुसार स्पॉटफाईन की कार्यवाही की जायेगी।


आंदोलनकारी तीन सौ किसानों ने तोड़ दिया है अबतक मौके पर दम, किसानों के मतों से केंद्रीय सत्ता में पहुंची भाजपा को नहीं है कोई गम

  • कलेक्ट्रेट पहुंचकर आखिल भारतीय किसान सभा ने मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन

sehore news
सीहोर। किसान आंदोलन में अब तक तीन सौ किसानों की मत्यु हो गई है लेकिन किसानों के मतों से केंद्रीय सत्ता में पहुंची भाजपा सरकार को कोई गम नहीं है। पूरे देश में जैसे हालात है उससे बदतर हालात मध्य प्रदेश में बने हुए है। किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर गुरूवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर आखिल भारतीय किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश महासचिव प्रहलाद दास बैरागी एवं अखिल भारतीय किसान सभा के सीहेार जिला भानू प्रताप मेवाडा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम डिप्टी कलेक्टर को दिया ज्ञापन है। आखिल भारतीय किसान सभा के प्रदेश महासचिव श्री बैरागी ने कहा की किसान,मजदूर सभी परेशान हैं और एैसी परिस्थितियों में किसान विरोधी कानून कॉपरेट  के पक्ष में लाकर पूरी ताकत लगाकर किसान हितैशी कानूनों को तोड़ा जा रहा हैं । एमएसपी न देकर मंडियों में अव्यवस्था लाकर हर प्रकार से किसान को परेशान किए जा रहा है। उन्होने कहा की 113 दिन से तीनों कृषि कानून खत्म करने के लिए दिल्ली में किसान आंदोलन में अब तक 300 किसानों की मत्यु हो गई है । भूमि अधिग्रहण कानून , 2013 तथा फसल बीमा योजना लागू करने का अनुभव बेहद दुखद और असंतोषजनक रहा है । संपूर्ण विरोध देशभर में जारी है और साथ ही श्रमिकों के आजादी के आंदोलन से आज तक जन संघर्ष के द्वारा हासिल किए हुए 44 श्रम कानून रदद करने की साजिश रची जा रहीं है। आखिल भारतीय किसान सभा जिलाध्यक्ष भानू प्रताप मेवाड़ा ने सभी किसानों का कर्जा माफ किया जाना चाहिए। चना और मसूर की समर्थन मल्य पर खरीद किय जाने के लिए हो रहे पंजीयन की तारीख बढ़ाई जाए । राजस्व विभागा द्वारा पंजीयन के लिए आधार लिंक की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। अनाज खरीदी केंद्र पर सभी किसानों के अनाज की तुलाई में अव्यवस्था ना हो इसके लिए उपार्जन केंद्र बढ़ाए जाए । बिजली कटौती एवं वोल्टेज के उतार चढ़ाव के चलते किसानों की मोटर जलने से होने वाले नुकसान की भरपाई बिजली कंपनी द्वारा किये जाने । सब्सिडी पर बिजली ट्रांसफार्मर लगाए जाए। एचपी के मोटर पंप का 5 एचपी का बिजली बिल की जबरन वसूली पर रोक लगाई जाए। डीजल पेट्रोल गैस की कीमतों में तुरंत कटौती की जाए। बैंकों द्वारा किसानों के कृषि यंत्रों की कुड़की पर रोक लगाइ जाए। किसानों को राहत दी जाने की मांग की गई है। 

सीईओ जिला पंचायत की नई पहल व्ही.सी. के माध्यम से करेगें ग्रामीणों से चर्चा


 जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हर्षसिंह ने एक नई पहल करते हुये जिले की समस्त ग्राम पंचायतों के विभागीय अमले तथा ग्रामीण जनों से प्रत्येक गुरूवार को वीडियों कांफ्रेसिंग के माध्यम से चर्चा करने का निर्णय लिया है। श्री सिंह प्रत्येक गुरूवार को शाम 4 बजे जिले के प्रत्येक जनपद की दो-दो ग्राम पंचायतों से व्ही.सी. के माध्यम से जुड़ेगें । अपने निर्णय को अमलीजामा पहनाते हुये श्री हर्ष सिंह ने आज दिनांक 18.3.21 को जनपद आष्टा की ग्राम पंचायत मेना, मुरावर सीहोर जनपद की ग्राम पंचायत श्यामपुर एवं बिलकिसगंज तथा बुदनी जनपद की जहानपुर एवं पीलीकरार ग्राम पंचायतों में उपस्थित ग्राम पंचायत सरपंच, सचिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, पटवारी, कार्पोटिव सोसाइटी के सेल्समेन आदि से बात बात कर विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान उन्होने आंगनबाड़ी कार्यकताओं को प्रतिदिन आंगनबाड़ी खोलने तथा कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर लाने तथा समय पर टीकाकरण कराने के निर्देश दिये । व्ही.सी. के दौरान सीईओ जिला पंचायत ने पंचायत सचिवों तथा जीआरएस को प्रधानमंत्री आवास, तथा संबल सहित अन्य विभागीय योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को समय सीमा में प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होने सीएम हेल्पलाईन में प्राप्त शिकायतों के त्वरित निराकरण हेतु संबंधितों को निर्देश दिया। सीईओ जिला पंचायत की वीडियों कांफ्रेसिंग समीक्षा में जिले की समस्त जनपदों में सीईओ सहित समस्त अमला एवं जिला पंचायत की समस्त परियोजनाओं के परियोजना अधिकारी भी जानकारी सहित उपस्थित रहे।


ग्राम कोड़िया छीतू तथा ग्राम पंचायत पड़ली में विधिक साक्षरता शिविर का अयोजन


विधिक सहायता जागरूकता शिविर जिले के ग्रगाम कोड़िया छीतू में 17 मार्च को तथा ग्राम पंचायत पड़ली में 18 मार्च को आयोजित किया गया । जिला न्यायाधीश श्री राजवर्धन गुप्ता के निर्देशानुसार शिविर में पैरालीगल वॉलेटियर द्वारा आयुष्मान भारत योजना, आपदा पीड़ितो, वृद्धजनों से संबंधित कानून, लोक अदालत तथा विवाद विहीन ग्राम योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। पैरालीगल वॉलेटियर  श्री आकिब खान ने आयुष्मान भारत योजना के बारे में जानकारी दी कि योजना के अंतर्गत 1400 विभिन्न रोग बीमारियों का इलाज इस योजना के अंतर्गत होता है। योजना का लाभ लेने के लिए फोटो पहचान पत्र, आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लायसेंस, पेनकार्ड आदि की आवश्यकता पड़ती है। योजना के अंतर्गत कार्ड बन जाने पर नि:शुल्क उपचार के उपरांत 10 दिन तक की दवाईयां भी नि:शुल्क दी जाती हैं। इसके अलावा वन स्टॉप सेंटर  के प्रभारी प्रशासक ने वनस्टॉप सेंटर द्वारा घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम 2005 दहेज प्रतिशेध अधिनियम एवं बाल विवाह प्रतिशेध अधिनियम के बारे में शिविर में उपस्थित आमजन को जानकारी दी । दोनों ही शिविरों में कोरोना वायरस कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया गया।


शासकीय महाविद्यालय शाहगंज में आजादी का अमृत महोत्सव संपन्न


 आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर देश में अमृत महोत्सव की शुरूआत की गई। अमृत महोत्सव के तहत शासकीय महाविद्यालय शांहगंज में निबंध प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसका शीर्षक "दांण्डी मार्च और महात्मा गाधी" था। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान रिया तोमर, द्वितीय स्थान निदेश गाठे तथा तृतीय स्थान दीप्ति भार्गव ने प्राप्त किया।  उल्लेखनीय है कि 12 मार्च को महात्मा गाँधी द्वारा नमक कानून तोडने के लिए 386 किलोमीटर लंबे मार्ग पर यात्रा का शुभारंभ किया गया था। उसी को याद करने के लिए प्रधानमंत्री के द्वारा साबरमती आश्रम से दांडी मार्च को हरी झंडी दिखाकर इस अमृत महोत्सव का उदघाटन किया गया था ।


आज 04व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 64


पिछले 24 घंटे के दौरान 06 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। बुधनी के वार्ड नंबर-1, आष्टा के चाचरसी से 01 व्यक्ति तथा ग्राम रामाखेडी तथा रावनखेड़ा से 01-01  व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि वर्तमान में जिले में एक्टिव/पॉजिटिव की संख्या 64 है। अब तक कुल रिकवर की संख्या 2804  है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 264 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 60,  नसरूल्लागंज 30 , आष्टा से 50, इछावर से 15, श्यामपुर से 70,  बुदनी से 39 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2916 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2804 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 64 है। आज 264 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 79230 हैं जिनमें से 75114 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 283 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1129 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। आज पॉजिटिव मिले नये कन्टेनमेंट झोन सहित समस्त कन्टेनमेंट एवं बफर जोन मे स्वास्थ्य दलों द्वारा स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है वहीं पॉजिटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्ये कन्टेनमेंट जोन मे सर्वे के लिए जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-07562 226470 है एवं 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती हैं। जिला स्तर पर मोबाइल नंबर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होन कारोन्टाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हल्पलाईन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम कारान्टाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकॉलोजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है।


वाहक जनित रोग नियंत्रण हेतु कार्यशाला अयोजित  


वाहक जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत नेशनल फ्रेमवर्क फार मलेरिया एलिमिनेशन 2030 के तहत जिला स्तर पर इंडियन मेडिकल एसोसियेशन के डॉक्टरों के लिए प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया की अध्यक्षता में 17 मार्च को आयोजित किया गया। कार्यशाला में मलेरिया ट्रीटमेंट, ड्रम पॉलिसी-2013 के बाने में जानकारी दी गई जिसमें कहा गया कि मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया बीमारी नोटिफाइड है इसकी जानकारी तुरंत मलेरिया कार्यालए एवं आईडीएसपी सेंटर को सचित करना है। डॉ डेहरिया द्वारा  समस्त चिकित्सकों को  प्रत्येक मलेरिया सकारात्मक मरीज की जानकारी प्रेषित करने एवं तुरंत जांच व पूर्ण उपचार करने के निर्देश दिये।


आष्टा एवं बुधनी विकासखण्ड की महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता को दिया गया मलेरियालॉजी पर प्रशिक्षण

देश एवं प्रदेश को वाहक जनित रोगों से मुक्त करने हेतु क्षेत्रिय स्तर पर कार्यकर्ताओं को 18 मार्च को जिला मलेरिया कर्यालय में आष्टा एवं बुधनी ‍िविकासखण्ड की  महिला  स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को मलेरियाजॉजी पर प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में श्रीमती क्षमा बर्वे जिला मलेरिया अधिकारी द्वारा क्षेत्र की आशा कार्यकर्ताओं को मलेरियालॉजी को वाहक जनित रोग ( मलेरिया, डेंगू, मलेरिया, चिकुनगुनियाराष्ट्रीय, जीका, जे.ई.)के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया।  प्रशिक्षण में डेंगू, मलेरिया, चिकुनगुनिया पुस्तिका एवं मलेरिया दवा निती के चार्ट का वितरण भी किया गया। मलेरिया के लक्षण-ठण्ड देकर बुखार आना, एक दिन छोडकर बुखार आना, बुखार पसीना आने के बाद उतर जाना। डेंगू के लक्षण- तेज बुखार, सिरदर्द, आंखों में दर्द, जोडों में दर्द, बदन दर्द , भूख कम लगना, जी मचलाना, उल्टी होना, चमड़ी पर लाल चकत्ते दिखना। गंभीर स्थिति में कान/ मुंह से रक्त भी निकलता है। डेंगू का कोई ईलाज नहीं है मरीज की पर्याप्त मात्रा में आहार एवं पानी लेना चाहिए। बुखार के लिए डॉक्टर की सलाह से दवाइयां लेना चाहिए। बुखार या सर दर्द के लिए एस्प्रिन/ ब्रूफिन का उपयोग कदापी नहीं करना चाहिए। चिकुनगुनियां के लक्षण- अचानक तेज बुखार होना, ठण्ड लगना, जोड़ों में दर्द खासतौर से हाथ की उंगलियों, पैरों के छोटे जोडों में दर्द एवं सूजन होना, मांसपेशियों में दर्द होना, कभी कभी  शरीर पर लाल दाने होना।  


सीहोर जिले के 50 प्रधानमंत्री आवास तथा अन्य निर्माण कार्यो का वर्चुअल लोकार्पण, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने धार से किया वर्चुअल लोकार्पण  


sehore news
प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत निर्मित सवा लाख से अधिक आवासों एवं 10 हजार से अधिक सामुदायिक कार्यो का केन्द्रीय कृषि मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा वर्चुअल लोकार्पण किया गया।  सीहोर जिले में जिन ग्रामों में लोकर्पण किया गया वहां कार्यक्रम आयोजित कर स्थानीय जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया । कार्यक्रम में सीहोर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में 50 प्रधानमंत्री आवासों में गृह प्रवेश कराया गया। 06 शांति धाम, 02 गौशाला, 01 खेल मैदान, एवं 08 पंचायत भवनों का लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

पीएम आवास योजना से ओम प्रकाश का पक्के मकान का सपना हुआ साकार

 ग्राम पिपलानी निवासी आज उस समय श्री ओम प्रकाश का सपना साकार हुआ जब जब मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ऑनलाइहन राज्य स्तर पर आयोजित कार्यक्रम में हितग्राहियों को ग्रह प्रवेश कराया। श्री ओम प्रकाश मर्सकोले ने बताया कि आज वे बेहतद खुश हैं । सालों से अपने घर का सपना देख रहा था लेकिन मेरी आमदानी इतनी नहीं थी कि मैं पक्का मकान बनावा सकूं। श्री मर्सकोले ने कहा कि यह योजना नही होती तो मेरा सपना साकार नहीं हो पाता। ओम प्रकाश मर्सकोले का पूरा परिवार खुश है, कि अब पक्के पकान में रहेंगा । ओम प्रकाश बीते दिनों को याद करते हुए बताते हैं कि बारिश के दिन बडी कठिनाई से बीतते थे।  कच्चा घर होने के कारण  बारिश में पानी छत से टपकता था। रात सामान इधर से उधर करने में निकलती थी।  तेज बारिश में कई बार तो रात में सो भी नहीं पाते थे। आज मुख्यमंत्री द्वारा ऑनलान ग्रह प्रवेश के बाद गांव की सरपंच ने विधिवत ग्रह प्रवेश कराया तो यकीन नहीं हो राहा थी कि यह मेरा अपना घर है। श्री मर्सकोले ने बताया कि जब प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उन्हें पक्का आवास बनाने की स्वीकृति मिली, तो उन्हें यकीन ही नहीं हो रहा था उनका सपना हकीकत बनने वाला है। आवास निर्माण के लिए राशि मिलने पर श्री मर्सकोले ने अपने मकान का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया और कुछ ही महीनों में उनका सपनों का मकान बन कर तैयार हो गया। अब वह अपने परिवार के साथ सीमेंट कांक्रीट के पक्के मकान में रहते हैं।


रोजगार मेले का आयोजन  


आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत स्वामी विवेकानन्द कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा 18 मार्च को चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में रोजगार मेले का आयोजन किया गया। प्राचार्या डॉ आशा गुप्ता ने इस अवसर पर कहा कि  रोजगार मेले से विद्यार्थियों को रोजगार प्राप्त करने में मदद मिलेगी। रोजगार मेले में महाविद्यालय के 64 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया जिसमें 38 छात्राएं तथा 26 छात्र थे। इस अवसर पर जीवन बीमा के क्षेत्र में कैरियर की संभावनाओं के बारे में भारतीय जीवन बीमा के स्थानीय महाप्रबधं ने विस्तार से युवाओं को जानकारी दी। जिला रोजगार अधिकारी ने रोजगार कार्यालय में ऑलाईन रजिस्ट्रेशन की जानकारी प्रदान की, इसके अलावा सेक्युरिटी सर्विसेज, हर्बल न्यूट्रीशियन क्षेत्र में रोजगार की संभावनाओं के बारें में भी जानकारी प्रदान की  ।


जिला सतर्कता एवं मॉनिटरिंग समिति की बैठक 23 मार्च को


आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के तहत जिलास्तरीय सतर्कता एवं मॉनीटरिंग समिति की बैठक कलेक्टर सभाकक्ष में 23 मार्च को शाम 04 बजे आयोजित की गई है।


अब तक 41 हजार 701 को लगा कोविड का टीका, 34 हजार 8 को प्रथम डोज तथा 7693 को द्वित्तीय डोज लगाया गया

  • 21 हजार 717 बुजुर्गों ने लगवाया टीका, 45 से 59 वर्ष की आयु वाले 20 चिन्हित बीमारी के 1047 हितग्राहियों को लगा टीका

sehore news
जिले में कोविड-19 का टीका आज दिनांक तक 41 हजार 701 व्यक्त्यिों को लगाया जा चुका है। जिले में 21 हजार 717 बुजुर्गो तथा 45 से 59 वर्ष के आयु के मध्य 1047 हितग्राहियों को टीका लगाया जा चुका है। अब तक 34 हजार 08 को प्रथम तथा 7693 को द्वित्तीय डोज लगाया जा चुका है।  विष्व के सबसे बडे़ टीकाकरण  महाअभियान का शुभारंभ 16 जनवरी से जिले की 4 संस्थाओं में प्रारंभ किया गया था। 01 मार्च 2021 से  45 से 59 वर्ष की आयु वाले व्यक्ति जिन्हें 20 प्रकार की चिन्हित बीमारियां है तथा 60 वर्ष की आयु से अधिक के व्यक्तियों को टीका लगाने का अभियान प्रारंभ किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि 6044 हेल्थ केयर वर्कर को प्रथम डोज तथा 4924 को द्वित्तीय डोज लगाया गया है। 5200 फ्रंट लाईन वर्कर को प्रथम डोज तथा 2769 को द्वित्तीय डोज लगाया गया है। विकासखण्ड आष्टा में आज दिनांक  तक 9513 व्यक्त्यिों का टीकाकरण किया जा चुका है। विकासखण्ड बुदनी में 5374 विकाखण्ड इछावर  में 6051 नसरूल्लागंज में 6518 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अंतर्गत 5621 तथा जिला चिकित्सालय स्थित डीईआईसी टीकाकरण केन्द्र पर अब तक 8624 को कोविड का टीका लगाया जा चुका है। 60 वर्ष से अधिक आयु वाले सर्वाधिक 7521 का प्रथम डोज तथा 1992 को द्वित्तीय डोज  सिविल अस्पताल आष्टा के अंतर्गत आने वाले टीकाकरण केन्द्रों पर लगाया गया। जिला चिकित्सालय में 6756 को  प्रथम डोज तथा 1868 को टीके का द्वित्तीय डोज लगाया गया। बुधवार को जिले के 37 टीकाकरण केन्द्रों पर 3867 हितग्राहियों का टीका लगाया गया जिसमें 3500 को प्रथम डोज तथा 367 को द्वित्तीय डोज लगाया गया।


सीईओ जिला पंचायत की नई पहल व्ही.सी. के माध्यम से करेगें ग्रामीणों से चर्चा 


जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हर्षसिंह ने एक नई पहल करते हुये जिले की समस्त ग्राम पंचायतों के विभागीय अमले तथा ग्रामीण जनों से प्रत्येक गुरूवार को वीडियों कांफ्रेसिंग के माध्यम से चर्चा करने का निर्णय लिया है। श्री सिंह प्रत्येक गुरूवार को शाम 4 बजे जिले के प्रत्येक जनपद की दो-दो ग्राम पंचायतों से व्ही.सी. के माध्यम से जुड़ेगें । अपने निर्णय को अमलीजामा पहनाते हुये श्री हर्ष सिंह ने आज दिनांक 18.3.21 को जनपद आष्टा की ग्राम पंचायत मेना, मुरावर सीहोर जनपद की ग्राम पंचायत श्यामपुर एवं बिलकिसगंज तथा बुदनी जनपद की जहानपुर एवं पीलीकरार ग्राम पंचायतों में उपस्थित ग्राम पंचायत सरपंच, सचिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, एएनएम, पटवारी, कार्पोटिव सोसाइटी के सेल्समेन आदि से बात बात कर विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। इस दौरान उन्होने आंगनबाड़ी कार्यकताओं को प्रतिदिन आंगनबाड़ी खोलने तथा कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर लाने तथा समय पर टीकाकरण कराने के निर्देश दिये । व्ही.सी. के दौरान सीईओ जिला पंचायत ने पंचायत सचिवों तथा जीआरएस को प्रधानमंत्री आवास, तथा संबल सहित अन्य विभागीय योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को समय सीमा में प्रदान करने के निर्देश दिए। उन्होने सीएम हेल्पलाईन में प्राप्त शिकायतों के त्वरित निराकरण हेतु संबंधितों को निर्देश दिया। सीईओ जिला पंचायत की वीडियों कांफ्रेसिंग समीक्षा में जिले की समस्त जनपदों में सीईओ सहित समस्त अमला एवं जिला पंचायत की समस्त परियोजनाओं के परियोजना अधिकारी भी जानकारी सहित उपस्थित रहे। 




live news, livenews, live samachar, livesamachar

कोई टिप्पणी नहीं: