बिहार : SXCMT छात्रों ने बेघरों और गरीबों को 'रोटी दिवस' पर खाना खिलाया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 18 मार्च 2021

बिहार : SXCMT छात्रों ने बेघरों और गरीबों को 'रोटी दिवस' पर खाना खिलाया

sxcmt-student-feed-poor
पटना। आज दीघा-आशियाना मार्ग पर स्थित सेंट जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी (SXCMT) में 'रोटी डे'मनाया गया। यहां पर त्यागार्चना बॉक्स रखा गया है।इसमें घोषित निर्धारित दिवस के अवसर पर स्टूडेंट्स घर से रोटी और सब्जी पैकेट लाते हैं और त्यागार्चना बॉक्स में डाल देते हैं।  कॉलेज फ़ोरम, यूथ फ़ॉर फ़्री इंडिया (वाईएफआई), के स्वयंसेवक बॉक्स से रोटी और सब्जी पैकेट को निकालते हैं.पुन:न्यू पैकेट में रोटियाँ और सब्जियाँ डालकर छात्रों ने 90 भोजन के पैकेट तैयार किए और बैग में पैकेट डालकर गरीबों के द्वार जाकर रोटियाँ और सब्जियाँ की पैकेट वितरित किये।  बताते चले कि रोटी भारत, पाकिस्तान, इंडोनेशिया, मलेशिया में सामान्य खाने में पका कर खाये जाने वाली चपटी खाद्य सामग्री है। यह आटे एवं पानी के मिश्रण को गूंध कर उससे बनी लोई को बेलकर एवं आँच पर सेंक कर बनाई जाती है। रोटी बनाने के लिए आमतौर पर गेहूँ का आटा प्रयोग किया जाता है पर विश्व के विभिन्न हिस्सों में स्थानीय अनाज जैसे मक्का, जौ, चना, बाजरा आदि भी रोटी बनाने के लिए प्रयुक्त होता है। रोटी में केलोरी की मात्रा अधिक होती है. इस रोटी का महत्व पटना के सेंट जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी (SXCMT) ने भी समझा है।हालांकि 13 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय रोटी दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन किसी गरीब को खाना खिलाया जाता है। SXCMT के छात्रों ने बुधवार, 17 मार्च, 2021 को अपनी रोटी दिवस परियोजना को चिह्नित करने के लिए पटना में बेघर और जरूरतमंद लोगों को भोजन कराया। सोशल वर्क एक्टिविज्म के लिए कॉलेज फ़ोरम, यूथ फ़ॉर फ़्री इंडिया (वाईएफआई), के स्वयंसेवक छात्रों ने 90 भोजन के पैकेट तैयार किए, जिसमें रोटियाँ और सब्जियाँ थीं, और उन्हें गांधी मैदान और पटना जंक्शन के पास गरीब लोगों में वितरित किया। वाईएफआई के अध्यक्ष आदित्य ने कहा कि कॉलेज के छात्रों ने लगभग 350 घर की बनी रोटियों और पकी हुई सब्जियों का योगदान दिया था। कॉलेज के प्राचार्य फादर टी निशांत एसजे, वाइस प्रिंसिपल फादर मार्टिन पोरस एसजे, वाईएफआई के संरक्षक श्री पीयूष रंजन सहाय ने वाईएफआई के सदस्यों को "एक बहुत अच्छी पहल" के लिए बधाई दी और उनके माता-पिता को भी उनके समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। भोजन का पैकेट बांटने वाली छात्रों की टीम में आयुष केडिया,वेद प्रकाश, सलोनी, शिवांशु, शिवम आर्यन,संघमित्रा राजे, अंजलि, आकाश, उत्सव, आदित्य,सत्यम, अमित और निक्की शामिल थे ।





live news, livenews, live samachar, livesamachar

कोई टिप्पणी नहीं: