बिहार : मंत्री जी के भाई के परिसर में नहीं थाना तो जनता करे केस : तेजस्वी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 17 मार्च 2021

बिहार : मंत्री जी के भाई के परिसर में नहीं थाना तो जनता करे केस : तेजस्वी

tejaswi-attack-nitish-minister
पटना : बिहार सरकार के मंत्री रामसूरत राय के भाई हंसलाल राय के स्कूल में शराब मिलने के बाद विपक्ष द्वारा लगातार इसको लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। लगातार उठते सवाल को लेकर कल सदन में रामसूरत राय ने जसवीर यादव को गांधी मैदान में आकर अच्छे से फरीया लेने का भी बात कह दी है। इस बीच अब तेजस्वी यादव ने एक और नया खुलासा किया है। तेजस्वी यादव ने अपने नए खुलासे में कहा है कि पुलिस की डायरी के अनुसार इस मामले में मंत्री जी के भगिना पर भी केस किया गया है। जब उनके भाई और भगिना पर केस किया गया तो पांच महीना होने के बाद भी उन्हें गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि 1 अप्रैल को शराबबंदी कानून लागू किया गया था। इस बार 1 अप्रैल को इस कानून के 5 साल पूरे हो जाएंगे और अब सीएम नीतीश को अपने घर में शराब का ठेका खुलवा लेना चाहिए।इसके साथ ही साथ उनके सारे मंत्री के घर में एक-एक ठेका खोलवा दें। फिर उनके द्वारा की गई शराबबंदी सही मायने में लागू मानी जाएगी और गांधी जी भी यह देखकर खुश हो जाएंगे। तेजस्वी ने यह बात रामसूरत राय के भाई और भगीना पर अभी तक कोई पुलिसिया कार्रवाई नहीं होने के कारण कहीं। उन्होंने कहा कि शराबबंदी के 5 साल होने से पहले 1 अप्रैल तक इनकी गिरफ्तारी कर देनी चाहिए वरना अभी मैंने जो बात कही है राज्य के मुखिया को वही काम करना चाहिए। इसके साथ तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार को ओपेन चैलेंज करते हुए कहा है कि एक सप्ताह के अंदर अगर मंत्री के भाई और भगिना को गिरफ्तार नहीं किया गया तो राजद सहित पूरा महागठबंधन सीएम आवास का घेराव करेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर बिहार सरकार के मंत्री रामसूरत राय के भाई की स्कूल परिसर में थाना नहीं खोला गया तो वैसे लोग सीएम पर केस करें, जिनकी संपत्ति शराबबंदी कानून के तहत जब्त की गई है। इसके अलावा सदन में कल रामसूरत राय द्वारा तेजस्वी के खानदान पर की गई टिप्पणी पर तेजस्वी ने कहा कि मैं वैसी ओछी बाते नहीं करता। लेकिन यह तो मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री को सोचना चाहिए कि एक मंत्री विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के खानदान को चुनौती देते रहे और वह उन बातों को सुनते रहे।






live news, livenews, live samachar, livesamachar

कोई टिप्पणी नहीं: