बुजुर्गों की सेवा में तत्पर सबरी हेल्पेज - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 3 अक्तूबर 2021

बुजुर्गों की सेवा में तत्पर सबरी हेल्पेज

helpage-serving-elders
कोलकाता ,लाइव आर्यावर्त ,3 अक्टूबर। सिर्फ जीना ही काफी नहीं है ,जिंदादिली से जीने के लिए जीवन में  कुछ मकसद का निर्धारण  भी जरूरी है - यह कहना है कोलकाता की जानी मानी सामाजिक संस्था सबरी हेल्पेज की संस्थापक अध्यक्ष आरती  बीआर सिंह का। अपने स्थापना काल 2013 से ही बुजुर्गों की देखभाल ,सड़क पर रहने वाली बच्चियों की  शिक्षा ,महिला सशक्तिकरण ,जरूरतमंदों की सहायता आदि क्षेत्रों में कार्य करने वाली सबरी हेल्पेज जरूरतमंद बुजुर्गों की देखभाल करती आई है और समय समय पर उनके स्वास्थ्य जांच ,खाने पीने की व्यवस्था आदि में अपनी भूमिका निभाती रही है। गैर लाभकारी संस्था की अध्यक्ष आरती सिंह  का प्रयास 'वृद्ध सेवाया ' मिशन के तहत  एक ओल्ड ऐज होम बनाने का है ,जहाँ जीवन के अंतिम पड़ाव पर पहुंचे लोग मर्यादा और सम्मान के साथ अपना जीवन यापन कर सकें। सुश्री सिंह कहती हैं कि बुजुर्ग हमारी धरोहर हैं और उनके जीवन भर के अनुभवों का लाभ हम समाज हित में कर सकते हैं। आरती सिंह बताती हैं कि ओल्ड ऐज होम में रहने वाले बुजुर्गों को शारीरिक गतिविधियों के साथ साथ मानसिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए उन्हें कला संस्कृति , शैक्षणिक व अन्य कार्यक्रमों में सक्रिय भागीदारी के तहत सम्मान ,गरिमा व स्वतंत्रता के साथ जीवन यापन की सुविधा प्रदान करना ही हमारा उद्देश्य है। सबरी हेल्पेज प्रति माह नियमित रूप से जरूरतमंद बुजुर्गों का उनके मौजूदा निवास पर जाकर देखभाल करती रही है और यथोचित सहायता प्रदान करती आई है जो आगे भी निरंतर जारी रहेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: