पूर्णिया : अर्द्धनिर्मित हवा महल बना मवेशियों का बसेरा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 30 अक्तूबर 2018

पूर्णिया : अर्द्धनिर्मित हवा महल बना मवेशियों का बसेरा

purnia-building-animal-house
पूर्णिया : जिले के पूर्णिया पूर्व प्रखंड के चांदी पंचायत अंतर्गत वार्ड नंबर 7 के चांदी कठवा लुदिया मुसहरी टोला में कल्याण विभाग द्वारा अर्द्धनिर्मित हवामहल आम नागरिकों के बजाय मवेशियों के बसेरा बन गया है। जिसपर न तो किसी सरकारी बाबुओं की नजर पड़ रही है और न ही किसी जनप्रतिनिधियों की। इस हवामहल के निर्माण करने वाले संवेदक विकास मित्र रिंकी कुमारी भी अब पल्ला झाड़ रही हैं। जबकि महादलित परिवारों ने इसका विरोध किया है। इस संबंध में अनुसूचित जाति बस्ती के वार्ड सदस्य मीणा देवी, महेंद्र ऋषि, रघुनाथ ऋषि, गिरिजा ऋषि, मंगल ऋषि, गुलाबी ऋषि, गुगली देवी, माखो देवी, सजनी देवी, नंदनी देवी, बिलसी देवी, संतुलिया देवी, मंची देवी, झरिया देवी ने बताया कि इस हवामहल का निर्माण अनुसूचित जाति गांव के बीच में होना चाहिए था, परंतु इसका निर्माण गांव से दूर किया गया है। इस हवामहल का निर्माण कार्य जनवरी 2017 में शुरू किया गया था, लेकिन आधा निर्माण कर इसको अबतक छोड़ दिया गया है।  कुछ लोगों ने इसका निर्माण अपने स्वार्थ के लिए ही कराया है। जिसका उपयोग उनलोगों द्वारा मवेशी बांधने में किया जा रहा है। इस संबंध में प्रखंड कल्याण पदाधिकारी रत्नेश कुमार सिंह ने कहा कि लोगों की शिकायत पर मैं हवामहल निर्माण कार्य का निरीक्षण करने गया था। जिसमें संवेदक विकास मित्र की लापरवाही सामने आई है। संवेदक को सख्त निर्देश दिया गया है कि जल्द निर्माण कार्य को पूरा करें अन्यथा विभागीय कार्रवाई की जाएगी।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...