जमशेदपुर : कोरोना वायरस को लेकर पूर्वी सिंहभूम में अलर्ट, बड़े अस्पतालों को आइसोलेशन वार्ड बनाने का निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 30 जनवरी 2020

जमशेदपुर : कोरोना वायरस को लेकर पूर्वी सिंहभूम में अलर्ट, बड़े अस्पतालों को आइसोलेशन वार्ड बनाने का निर्देश

चीन से फैले कोरोना वायरस का प्रकोप अब कई देशों में बढ़ता जा रहा है. भारत भी इस वायरस की चपेट में आ चुका है. दुनिया में वायरस के संक्रमण से अभी तक कई लोगों की जानें जा चुकी हैं. इसको लेकर सोमवार को पूर्वी सिंहभूम में भी अलर्ट जारी किया गया है. हालांकि इससे संबधित कोई भी मामला सामने नहीं आया है.
alert-in-jamshedpur-for-corona
जमशेदपुर (प्रमोद कुमार झा) : चीन में फैली कोरोना वायरस बीमारी को लेकर पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन ने सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है. इसको लेकर सिविल सर्जन ने जिले के सभी सरकारी और निजी अस्पतालों को दिशा-निर्देश जारी किया है. कोरोना वायरस को लेकर सोमवार को जिले के अर्लट जारी किया गया है । चीन में कोरोना वायरस तेजी से अपने पैर पसार रहा है. कोरोना वायरस से चीन में अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि इस वायरस की चपेट में कई देश आ रहे हैं. इसको देखते हुए भारत में भी सतर्कता बरती जा रही है. इसी क्रम में पूर्वी सिंहभूम सिविल सर्जन ने अलर्ट जारी किया है. हालांकि जमशेदपुर में इससे संबंधित कोई मामला अभी तक सामने नहीं आया है. इधर स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक अगर कहीं भी कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज मिलते हैं, तो इसकी सूचना तत्काल विभाग को देना होगा, ताकि उसका इलाज बेहतरीन ढंग से किया जा सके. वहीं इसको लेकर पूर्वी सिंहभूम जिला के सिविल सर्जन डॉक्टर महेश्वर प्रसाद ने बताया कि कोरोना बीमारी फिलहाल जमशेदपुर में नहीं पहुंची है, लेकिन जिला प्रशासन ने अपने स्तर से पूरी तैयारी कर रहा है. इसके लिए शहर के सभी सरकारी और निजी अस्पताल को दिशा निर्देश जारी किया गया है. उन्होंने कहा कि कुछ बड़े अस्पतालों में 5 बेड का अलग से आइसोलेशन वार्ड बनाने का निर्देश दिया गया है, ताकि संदिग्ध मरीज कहीं भी मिले तो उसका इलाज किया जा सके. उन्होंने कहा कि जमशेदपुर और इसके आसपास के क्षेत्रों में इससे संबंधित कोई शिकायत नहीं मिली है. वहीं लोगों से कहा कि इससे डरने की कोई जरूरत नहीं है.

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...