बिहार : कोरोना से डरना नहीं है बल्कि सुरक्षा में ही बचाव करना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 अप्रैल 2020

बिहार : कोरोना से डरना नहीं है बल्कि सुरक्षा में ही बचाव करना

safety-is-security-from-corona
पटना,18 अप्रैल। वैश्विक नावेल कोरोना के मद्देनजर दीघा सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा था। खुद इस जिले के जिलाधिकारी कुमार रवि  ने मोर्चा संभाला,ताकि लगातार आने वाली शिकायत पर विराम लगा सकें। पटना-दीघा-दानापुर मुख्य मार्ग के दीघा हाट के सड़क की दोनों तरफ सजने वाली दुकानों को पीछे ढकेला और स्थायी ढंग से सड़क पर सब्जी बेचने वालो को दीघा पोस्ट ऑफिस रोड पर दीघा सब्जी मंडी को सजाने की जगह दे दी। तब भी क्रेता व विक्रेता वालों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया। यह क्षेत्र पटना नगर निगम के वार्ड नम्बर-1 में पड़ता है। जो  पाटलिपुत्र अंचल के अधीन है।पाटलिपुत्र अंचल के वॉरियर्स ने सब्जी बेचने वालों को कुछ बाँस देकर भूमि का सीमांकन कर रस्सी से लक्ष्मण रेखा बना दी।  सुबह 6:00 से शाम 6:00 बजे तक सब्जी बेचने का समय निर्धारित कर दिया।इसे भी पालन नहीं करने से जिला प्रशासन ने जनहित व राष्ट्रहित में दीघा पोस्ट ऑफिस रोड पर दीघा सब्जी मंडी को ही उखाड़कर न बाँस रहेगा,न बाँसुरी बाजेगी कहावत को चरितार्थ कर दिया।जिला प्रशासन ने बैठकर सब्जी बेचने को मोबाइल करवा दिया। ठेला पर सब्जी बेचने को कह दिया।कुछ तो पेशा ही बदल लिया है वहीं कुछ लोग बेकारी दूर करने के लिए ठेला पकड़कर सब्जी बेचने लगे। अब तो ठेला पर सब्जी बेचने वालों  दीघा के लोग डरने लगने हैं। उनके डरने का कारण है कि हाल में फेरी करके सब्जी बेचने वाला नावेल कोरोना वायरस की चपेट में आ जाना है। उसी तरह पिज्जा डिलीवरी  बॉयस में भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वास्तव में डरने की जरूरत नहीं है बल्कि मुकाबला करने की जरूरत है। सुरक्षा में ही बचाव है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...