विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 18 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 अप्रैल 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 18 अप्रैल

लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों में रह गए 11 सौ से  अधिक परिवारो के बैंक खातो में एक-एक हजार रूपए की राशि जमा होगी

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु जारी लॉकडाउन अवधि के दौरान जिले के एक हजार एक सौ दस परिवारों के बैंक खातो में मुख्यमंत्री जी द्वारा की गई घोषणा के अनुपालन में क्रमशः एक-एक हजार रूपए की राशि जमा कराने की कार्यवाही क्रियान्वित है। कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि विदिशा जिले के मजदूरी से जीवनयापन करने वाले परिवार जो अन्य राज्यों में रह गए है उनमें राजस्थान, उत्तरप्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, हरियाणा, गुजरात, हिमाचलप्रदेश, दिल्ली, आंध्रप्रदेश, उत्तराचंल, पंजाब इन राज्यों में जिले के रहवासी परिवार 1110 तथा सदस्यो की कुल संख्या 1883 है। जो पूर्व उल्लेखित राज्यों में रह गए है। इन परिवारो के सदस्यों से मोबाइल पर सम्पर्क किया गया है और उनके बैंक खाते प्राप्त किए गए है ताकि मुख्यमंत्री जी की घोषणा के अनुरूप एक-एक हजार रूपए की राशि उनके बैंक खातो में जमा कराई जा सकें। मोबाइल सम्पर्क के माध्यम से अन्य राज्यों में रह रहे परिवारो के सदस्यों ने अवगत कराया कि उन्हें किसी भी प्रकार की समस्या नही आ रही है संबंधित राज्य के द्वारा खाद्यान्न व अन्य आवश्यक वस्तुएं प्रदाय की गई है। अब बस घर जल्दी लौटने का इंतजार है। अन्य राज्यों में रह रहे सभी परिवारों के सदस्यों को आश्वस्त कराया गया है कि लॉकडाउन हटने के उपरांत ही अपने नियत स्थल से बाहर निकले। किसी भी प्रकार की समस्या हो तो टोल फ्री नम्बर 104 या 181 पर अथवा 0755-2411180 पर सूचित कर सकते है। लॉकडाउन अवधि के दौरान जिले के अन्य प्रदेशो में रह रहे प्रवासी श्रमिकों की जानकारी देते हुए नोडल अधिकारी सामाजिक न्याय विभाग के उपसंचालक डॉ पीके मिश्रा ने बताया कि विदिशा जिले के कुल 1110 परिवार जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों के 1056 परिवार तथा शहरी क्षेत्र के 54 परिवार शामिल है। 

नोडल अधिकारी प्रशिक्षित हुए 

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण के प्रति जागरूकता संबंधी जानकारी देने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए है उक्त नोडल अधिकारियों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण आज कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित किया गया था। डिप्टी कलेक्टर श्री लोकेन्द्र सरल ने प्रशिक्षणार्थियों को नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संबंध में जो साहित्य उपलब्ध कराया गया है उसे अवश्य ही अध्ययन करें। वायरस के संबंध में अद्यतन नई-नई जानकारियां जुड़ती जा रही है अतः हम स्वंय अपडेट रहें ओर ऐसी ही प्रेरणा अन्य को दें। इससे पहले चिकित्सकों द्वारा कोरोना वायरस के पहचान लक्षण की जानकारी दी गई। यदि किसी व्यक्ति का सेम्पल लेना है तो क्या-क्या सावधानियां बरती जाए से अवगत कराया गया। यदि कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से ग्रस्त पाया जाता है तो उसके इलाज हेतु किए गए प्रबंधो की जानकारी दी गई। इसके अलावा संबंधित व्यक्ति के निवास क्षेत्र, सम्पर्क चेन, कंटेनमेंट जोन, वफर जोन के अलावा क्यूरेन्टाइन के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है। प्रशिक्षणार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान चिकित्सकों ने मौके पर किया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि आमजनो को जानकारी देने के दौरान उनमें भ्रमक संबंधी जिज्ञासाओं का समाधान अवश्य करें ताकि वे कोरोना वायरस के संक्रमण को स्वंय रोक सके और अन्य को प्रेरित कर सकें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से सम्पादित किए जाने वाले कार्यो की बिन्दुवार जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना से डरना नही है बल्कि हमें लड़ना है और इस लड़ाई में सभी व्यक्तियों का सहयोग अति आवश्यक है। इस दौरान मास्टर ट्रेनर्स डॉ प्रमोद मिश्रा, डब्ल्यूएचओएसएमओ के प्रतिनिधि डॉ शेखावत, श्री राकेश बरसैया, श्री के सिंह, श्री एसपी जाटव तथा श्री व्हीके जैन ने प्र्रशिक्षणार्थियों को विभिन्न बिन्दुओं से अवगत कराते हुए उनकी समस्याओं का समाधान किया है। उक्त प्रशिक्षण में नोडल सर्वे टीम मेडीकल मोबाइल यूनिटसुश्री मौसम जैन, डिस्ट्रिक एम्बुलेंस के नोडल प्रभारी के अलावा स्वास्थ्य विभाग के मीडिया प्रभारी श्री व्हीएस दांगी, आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी, जिला क्रीडा अधिकारी श्रीमती पूजा कुरील, प्राध्यापक श्री मणीमोहन मेहता के अलावा श्री जीपी भार्गव, श्री कुशलकांत शर्मा, श्री दिवाकर मोंगे, श्री राजीव जैन, श्री जेएस मौर्य मौजूद थे। 

नोडल एवं सहायक नियुक्त

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के कार्य हेतु वालिटियर्स प्रबंधन, पैसेन्ट कलेक्शन एवं वायोमेडिकल वेस्ट प्रबंधन के लिए नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त करने का आदेश जारी कर दिया है। कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा जारी आदेश में उल्लेख है कि जन अभियान परिषद की जिला समन्वयक श्रीमती पूजा श्रीवास्तव 9425421501 को वालिटियर्स प्रबंधन का नोडल तथा जिला खेल अधिकारी श्रीमती पूजा कुरील 7415722624 को सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी 9009212745 को पेशेन्ट कलेक्शन एवं होम क्यूरेन्टाइन किए गए व्यक्तियो के घरो में परिपत्र वितरण एवं पोस्टर चस्पा कार्य का नोडल अधिकारी तथा लोक निर्माण विभाग की उपयंत्री सुश्री आकांक्षा जैन 9981957482 को वायोमेडिकल वेस्ट प्रबंधन का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।

कंट्रोल रूम गठित

कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में समर्थन मूल्य पर उपार्जन एवं पंजीयन संबंधी कार्यो में किसानो की समस्याओें से त्वरित अवगत होने के उद्वेश्य से जिला स्तर पर कंट्रोल रूम गठित करने के निर्देश दिए गए थे के परिपालन में किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक द्वारा कंट्रोल रूम गठन करने की कार्यवाही पूर्ण की गई है।जिला मुख्यालय पर गठित कंट्रोल रूम प्रातः आठ बजे से रात्रि आठ बजे तक क्रियाशील रहेगा। कंट्रोल रूम का दूरभाष क्रमांक 07592-233153 है। इसके अलावा वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी श्री आरके शर्मा 9425741129 तथा ग्राम कृषि विस्तार अधिकारी श्री अजय अग्रवाल 8718914754 पर सूचनाएं दी जा सकती है। 

व्यापारीगण किसानों से सौदा पत्रक के आधार पर खरीदी

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि जिले में व्यापारियो के द्वारा किसानो से उपज सौदा पत्रक के माध्यम से क्रय की जाएगी। ततसंबंध में मुख्यमंत्री जी द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से दिशा निर्देश गत दिवस दिए है। 

सौदा पत्रक 
सौदा पत्रक के माध्यम से मंडी उपविधि 2000 की कंडिका में सौदा पत्रक द्वारा कृषि उपज के विक्रय का प्रावधान संसोधित किया गया है। जिसके अनुसार परन्तु मंडी क्षेत्र का विक्रेता यदि अपनी अधिसूचित कृषि उपज को किसी कारणवश मंडी प्रागंण मेंं नही ला पाता है और नमूने के आधार पर कृषि उपज का विक्रय करना चाहता है तब नमूने के आधार पर उसका घोष विक्रय कराया जाएगा अथवा मंडी प्रागंण के बाहर यदि क्रेता एवं विक्रेता की पूर्व सहमति हो चुकी है तब आपसी सहमति के आधार पर ऐसे सौदे के संबंध में मंडी सचिव समिति द्वारा प्रारूप दो में सौदा पत्रक सम्पादित कराया जाएगा। मंडी प्रागंण के बाहर अधिसूचित कृषि उपजों का क्रय विक्रय उपविधि कडिका (31) के अधीन स्थापित क्रय केन्द्रो पर भी प्रारूप दो (अ) मेंं सौदा पत्रक सम्पादित कराया जाएगा। ततसंबंध में प्रक्रिया उपरोक्त बिन्दु के अनुसार सम्पादित होगी। सौदा पत्रक के आधार पर क्रय की गई कृषि उपज की तौल सौदा पत्रक में उल्लेखित स्थान पर अनुज्ञप्तिधारी तुलैया द्वारा की जाएगी। बीओटी तौल कांटे से जारी इलेक्ट्रॉनिक पर्ची ही मान्य होगी। तौल पर्ची में वास्तविक वजन, क्रेता, व्यापारी का नाम तथा कृषि उपज की विक्रय की दर अंकित की जाएगी। सौदा पत्रक मंडी कर्मचारी के द्वारा जारी किया जाएगा। क्रय केन्द्रों पर तौल पुस्तिका क्रेता द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी एवं अन्य समस्त विक्रय सव्यवहारों में तौल पुस्तिका मंडी समिति द्वारा तुलैया को उपलब्ध कराई जाएगी। जिसका अभिलेख मंडी समिति संधारित करेगी। सौदा पत्रक निष्पादित हो जाने के बाद बेची गई कृषि उपज के मूल्य में किसी भी प्रकार का परिवर्तन नही किया जाएगा और ना ही सौदा पत्रक में अंकित उपज की तौल कराने के लिए क्रेता, विक्रेता इंकार नही कर सकेंगे। यदि कोई आपत्ति है तो वह लिखित आवेदन मंडी सचिव को प्रस्तुत किया जाएगा। मंडी सचिव परीक्षण पश्चात उसी दिन विनिश्चय करेंगें। सौदा पत्रक में उल्लेखित व्यक्ति से भिन्न व्यक्ति कृषि उपज नही करेंगे। तौल पर्ची के आधार पर क्रेता व्यापारी द्वारा भुगतान पत्रक जारी किया जाएगा। विक्रेता किसान को उसी दिन पूर्ण भुगतान किया जाएगा। क्रेता के भुगतान की पुष्टि हो जाने एवं मंडी शुल्क तथा निराश्रित शुल्क भुगतान के बाद क्रेता को क्रय की गई कृषि उपज की निकासी के लिए ई अनुज्ञा जारी की जाएगी। सौदा पत्रक के माध्यम से क्रय विक्रेता कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को कम करने हेतु जारी गाइड लाइन का पालन करेंगे। जिसमें मुख्य रूप से सोशल डिस्टेन्स तथा सेनेटाइजर ओर मास्क पहनना इत्यादि प्रमुख है। 

बैंक में जमा राशि की जानकारी मोबाइल नम्बरों पर उपलब्ध

लीड़ बैंक आफीसर श्री दिलीप सीरवानी ने बताया कि बैंको में जमा राशि की जानकारी प्राप्ति हेतु उपभोक्तागण चाहे तो बैंको के द्वारा जारी किए गए मोबाइल नम्बरों पर सीधे प्राप्त कर सकते है। जिले की संबंधित बैंको और उनकी शाखा प्रबंधकों को ततसंबंध में निर्देश जारी किए गए है कि बैंक के सूचना पटल अथवा फ्लैक्स के माध्यम से मोबाइल नम्बर प्रदर्शित करें ताकि बैंक उपभोक्तागण कोरोना वायरस के दौरान बैंको में अपना बैंलेसे की जानकारी प्राप्ति हेतु अनावश्यक आना ना पडे़ और घर बैठे सातो दिन चौबीस घंटे बैंक खाते में जमा राशि की जानकारी प्राप्त कर सकें। लीड़ बैंक आफीसर श्री सीरवानी ने बताया कि उपभोक्तागण द्वारा बैंको में रजिस्टर्ड अपने मोबाइल से एक मिस्ड कॉल कर बैलेसे चेक कर सकेंगे। लॉकडाउन में अथवा बाद में विभिन्न योजनाओं के तहत मजदूरो, किसानो, महिलाओं तथा जन-धन खाता धारकों में डीबीटी के माध्यम से राशि भेजी जा रही है। उन्होनें संबंधित उपभोक्ताओं से आग्रह किया है कि वे उक्त राशि की जानकारी के लिए बैंको के चक्कर न लगाए। बल्कि अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर से खाताधारक अपने बैंलेस की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। लीड़ बैंक आफीसर श्री सीरवानी ने बताया कि बैंक का नाम, बैलेस जानने के लिए मोबाइल नम्बर स्टेट लेबल बैंक आफ कमेटी के द्वारा उपलब्ध कराए गए है तदानुसार  केनरा बैंक के उपभोक्ताकगण 09015483483, 09015734734 भारतीय स्टेट बैंक ग्राहक 09223766666, 1800112211 इसी प्रकार पंजाब नेशनल बैंक 18001802222,  18001802223, 01202303090ए बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र 9222281818ए एक्सिस बैक 18004195959ए पंजाब एंड सिंध बैंक 7039035156ए यूको बैंक 9278792787ए देना बैंक 09278656677, 09289356677ए बैंक ऑफ़ इंडिया 9015135135ए आईसीआईसीआई 9594612612ए इंडियन बैंक 9289592895ए ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स 08067205757ए एचडीएफसी 18002703333 , 18002703355ए कारपोरेशन बैंक 9268892688ए आईडीबीआई 18008431122ए यस बैंक 9223920000ए यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 09223008586ए यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इंडिया 09015431345ए बैंक ऑफ बड़ौदा 8468001111 तथा इलाहाबाद बैंक के खाताधारक 9224150150 उक्त8 नम्ब0र पर मिस्डककाल कर बैलेस की जानकारी प्राप्त1  कर सकेंगे। 

प्रतिरोधक क्षमता में वृद्वि की औषधियों का वितरण

vidisha news
कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के उपायों से अवगत कराते हुए जनमानस में रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्वि के लिए जिले में आयुष संचालनालय के द्वारा जारी दिशा निर्देशो के अनुसार आयुष विभाग द्वारा कार्यो का सम्पादन किया जा रहा है। जिला आयुष अधिकारी डॉ दिनेश कुमार अहिरवार ने बताया कि आयुर्वेद, होम्योपैथिक, यूनानी पद्वति की औषधियों का निःशुल्क घर-घर जाकर विभाग का अमला वितरित कर रहा है साथ ही जिला आयुष कार्यालय के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु उपायों की जानकारी दी जा रही है जिसमें सोशल डिस्टेन्स के अलावा हाथो की साफ सफाई तथा बार-बार सेनेटाइजर करने तथा समय अंतराल में साबुन से हाथ धोने की विधियों की प्रायोगिक जानकारी दी जा रही है। जिले में अब तक एक लाख 36 हजार 296 व्यक्तियों को निःशुल्क आयुष औषधियों से लाभांवित किया जा चुका है। 

कोई टिप्पणी नहीं: