भारतीय जन क्रान्ति दल (डेमोक्रेटिक) ने प्रारम्भ किया चुनावी अभियान | - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 9 जुलाई 2020

भारतीय जन क्रान्ति दल (डेमोक्रेटिक) ने प्रारम्भ किया चुनावी अभियान |

bhaartiy-jan-kranti-dal-caaimpaign
भारतीय जन क्रान्ति दल(डेमोक्रेटिक)  के राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पटना उच्य न्यायालय के अधिवक्ता श्री सुनील कुमार मिश्र के आवास पर सोसिअल डीस्टेंसिंग का पालन करते हुए आयोजित की गई | बैठक में सर्वसम्मती से यह निर्णय लिया गया कि अभी प्रत्येक दिन बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या बढती चली जा रही है वैसे में चुनाव होना प्रदेश के लिए हितकर नहीं होगा उसके बाबजूद भी अगर चुनाव होते है तो हमारी पार्टी उसके लिए भी तैयार है | पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डॉ राकेश दत्त मिश्र ने कहाकि हमने चुनाव आयोग को बिहार चुनाव को टालने का पत्र दिया है अगर हमारी मांग को सरकार नहीं मानती है तो समझा जायेगा सरकार सिर्फ सत्ता के लिए कार्य कर रही है जनता से इसका कोई लेना देना नहीं है | बिहार में पिछले १५ साल ब्यूरोक्रेसी की सरकार रही है जनता की सुननेवाला कोई नहीं | राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री सुनील मिश्र ने कहाकि बिहार में बदलाब जरुरी है इसी वास्ते आज से हम लोगों ने बिहार के कई जिलों में अपना कार्यालय प्रारम्भ किया है पटना में दानापुर पिलर नम्बर ३१६ के समीप , मलाही पकड़ी में मधुवन आवास वोर्ड, खुस्रुपुर एवं मधेपुरा में भी कार्यालय प्रारम्भ किया गया है | राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश कुमार चौबे ने बताया अभी तो केंद्र और राज्य सरकार को कोरोना जैसे  विकट परिस्थिति को देखते हुए जनता के तकलीफों को देखने का समय है न की चुनाव का |राष्ट्रीय प्रवक्ता हरीश नन्दन ने कहा अगर सरकार चुनाव थोपती ही है तो हमारी पार्टी तैयार है इस बार हम अपनी उपस्थिति विधानसभा में अवश्य दर्ज करवाएंगे | इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव डॉ राकेश दत्त मिश्र, राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश कुमार, हरीश नन्दन, लक्ष्मण पाण्डेय, शिव दयाल पासवान, बसंत कुमार, सुनीता गिरी, अलोक कुमार आदि उपस्थित थे

कोई टिप्पणी नहीं: