गया : सरस्वती पूजा में कोविड प्रोटोकॉल का हो शत प्रतिशत अनुपालन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 3 फ़रवरी 2022

गया : सरस्वती पूजा में कोविड प्रोटोकॉल का हो शत प्रतिशत अनुपालन

  • *पूजा/जुलूस में 50 से अधिक लोगों की अनुमति नहीं
  • *मूर्ति विसर्जन के लिए पूर्व के निर्गत मार्ग का ही होगा इस्तेमाल
  • *पूजा/जुलूस में डीजे/लाउडस्पीकर पर पूर्ण प्रतिबंध, पकड़े जाने पर डीजे/लाउडस्पीकर जब्त
  • * दिनांक-06.02.2022 तक निश्चित रूप से हो मूर्ति विसर्जन-डीएम

covid-protocal-in-gaya-sarswatipuja
गया, 02 फरवरी। ज़िला पदाधिकारी, गया डॉ० त्यागराजन एसएम एवं वरीय पुलिस अधीक्षक, गया श्री आदित्य कुमार की संयुक्त अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आगामी सरस्वती पूजा, 2022 पर विधि व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था संधारण के संबंध में गया ज़िला के सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, राजस्व पदाधिकारी, अंचलाधिकारी के साथ जिलाधिकारी के प्रकोष्ठ में बैठक आयोजित की गई। ज़िला पदाधिकारी ने बताया कि सरस्वती पूजा में कोविड 19 के दिशा निर्देश का अनुपालन करना अनिवार्य है। जितने भी जुलूस निकलते है, प्रतिमा बैठाया जाता है, सभी का लाइसेंस संबंधित थाना में सूची बनाया जाएगा और सभी के पास लाइसेन्स अनिवार्य रूप से होना चाहिए। लाइसेन्स बनाने के समय प्रतिमा की ज़िम्मेदारी लेने वाले कम से कम 10 लोगों के नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर लिखना ज़रूरी है। संबंधित क्षेत्र में थानाध्यक्ष एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी के पास उसकी सूची उपलब्ध होना चाहिए। प्रतिमा विसर्जन के समय 10 से 15 लोग से ज़्यादा शामिल नहीं हो सकते हैं।  इस वर्ष भी सरस्वती पूजा में डीजे/लाउडस्पीकर लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष को निदेश दिया कि अपने क्षेत्र के सभी डीजे/लाउडस्पीकर वाले के साथ बैठक कर स्पष्ट निदेश दे दें कि कही भी सरस्वती पूजा में डीजे नहीं होना चाहिए मिलने पर ज़िम्मेदार व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही डीजे/लाउडस्पीकर को जब्त कर लिया जाएगा।  संवेदनशील जगहों पर विशेष पुलिस फ़ोर्स के साथ प्रखंड विकास पदाधिकारी, थानाध्यक्ष स्वयं उपस्थित रहेंगे। जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को अपने क्षेत्रान्तर्गत कल ही शांति समिति की बैठक करने का निदेश दिया। साथ ही पूर्व में मूर्ति विसर्जन के लिए निर्गत मार्ग को ही इस बार भी लिया जाएगा। नए मार्ग की अनुमति नहीं होगी।  जिलाधिकारी ने निदेश दिया कि संवेदनशील स्थानों पर अस्थायी सीसीटीवी लगाना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही मुख्य चौक चौराहों पर एक एक वीडियोग्राफर की प्रतिनियुक्ति करना सुनिश्चित करेंगे, ताकि मूर्ति विसर्जन के समय वीडियोग्राफी किया जा सके।  वरीय पुलिस अधीक्षक श्री आदित्य कुमार ने बताया कि मूर्ति विसर्जन के समय यदि रास्ते मे कोई मस्जिद आता है, तो वहां पर स्पेशल फोर्स दिया जाएगा और सभी का रूट चार्ट संबंधित थाना में होना चाहिए। जिलाधिकारी ने स्पष्ट निदेश दिया कि इंटरमीडिएट परीक्षा को देखते हुए *मूर्ति विसर्जन दिनांक-06 फरवरी, 2022 (रविवार) तक हर हाल में सभी जगह का हो जाना चाहिए, इसे सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, थानाध्यक्ष सुनिश्चित करेंगे।* उन्होंने बताया की संवेदनशील क्षेत्र में पर्याप्त रोशनी लगाने की आवश्कता है, यह सुनिश्चित करेंगे। बैठक मे उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्त्ता, ज़िला आपूर्ति पदाधिकारी, वरीय कोषागार पदाधिकारी, विशेष कार्य पदाधिकारी, नजारत उप समाहर्त्ता, पुलिस उपाध्यक्ष, विधि व्यवस्था, सहित अन्य पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: