बेतिया : सरस्वती पूजा शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने का निर्देश - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 3 फ़रवरी 2022

बेतिया : सरस्वती पूजा शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने का निर्देश

  • * सरस्वती पूजा हेतु अनुज्ञप्ति लेना है अनिवार्य
  • * कोविड-19 प्रोटोकॉल का शत-प्रतिशत अनुपालन कराने का निर्देश
  • * स्कूल, कॉलेजों में मूर्ति अधिष्ठापन पर रोक
  • * डीजे, मेला, सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रदर्शनी पर पूर्णतः प्रतिबंध

betiya-dm-meeting-for-saraswatipuja
बेतिया। सरस्वती पूजा को शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आज कार्यालय प्रकोष्ठ में समीक्षात्मक बैठक सम्पन्न हुई।  जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार ने कहा कि सरस्वती पूजा शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने के लिए गृह विभाग, बिहार द्वारा जारी निदेश के आलोक में मूर्ति अधिष्ठापन के लिए सक्षम अधिकारी से अनुज्ञप्ति लेना आवश्यक है। यह सुनिश्चित किया जाय कि बिना अनुज्ञप्ति के कहीं भी मूर्ति अधिष्ठापन नहीं हो। ऐसे स्थलों पर कोविड-19 प्रोटोकॉल का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। उन्होंने कहा कि गृह विभाग द्वारा डीजे, मेला और प्रदर्शनी पर पूर्णतः प्रतिबंध है। साथ ही स्कूल, कॉलेजों में मूर्ति अधिष्ठापन पर रोक है। इसका सख्ती के साथ अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरती जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि थाना स्तर, अनुमंडल स्तर एवं जिला स्तर पर शांति समिति की बैठक अनिवार्य रूप से कराया जाना है। इस के लिए पूर्व में ही निदेशित किया गया है। अबतक जिन स्थलों पर शांति समिति की बैठक सम्पन्न नहीं हुई है वहाँ तुरंत शांति समिति की बैठक करायें। उन्होंने कहा कि आवश्यकतानुसार मजिस्ट्रेट, पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति ससमय करा दी जाय। 107 के तहत कार्रवाई सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि विसर्जन में जुलूस की अनुमति नहीं दी गयी है। एक वाहन में मूर्ति का विसर्जन कराना सुनिश्चित किया जाय। प्रयास यह किया जाय कि विसर्जन दिन में ही सम्पन्न हो जाय। विसर्जन में अधिकतम 10 व्यक्तियों को शामिल होने की अनुमति दी जाय। विसर्जन मार्ग का सत्यापन करा ली जाय। विसर्जन स्थल पर नाव, नाविक और गोताखोरों की व्यवस्था ससमय करा ली जाय। उन्होंने कहा कि पूजा स्थलों पर सीसीटीवी अधिष्ठापन, सेनेटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग आदि का अनुपालन कराने के लिए कार्रवाई सुनिश्चित किया जाय। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक, बेतिया, श्री उपेन्द्र नाथ वर्मा आदि उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: