हम पाकिस्तान के साथ संबंधों को अहमियत देते हैं : अमेरिका - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 14 अप्रैल 2022

हम पाकिस्तान के साथ संबंधों को अहमियत देते हैं : अमेरिका

we-value-pak-said-usa
वाशिंगटन, 14 अप्रैल, अमेरिका ने शहबाज शरीफ को पाकिस्तान का नया प्रधानमंत्री चुने जाने पर बधाई दी और कहा कि वह दोनों देशों के संबंधों को अहमियत देता है तथा लंबे समय से चले आ रहे सहयोग को बरकरार रखने का इच्छुक है। वाशिंगटन के इस बयान को पाकिस्तान की नयी हुकूमत में इस्लामाबाद से रिश्ते सुधारने की उसकी कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। अमेरिका के साथ पाकिस्तान के संबंध उतार-चढ़ाव भरे रहे हैं, खासकर बाइडन प्रशासन के तहत। पिछले हफ्ते अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से अपदस्थ किए गए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के अमेरिका पर उनकी सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाने के बाद दोनों देशों के रिश्तों में और खटास आ गई थी। हालांकि, अमेरिकी प्रशासन ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया था। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा, “पाकिस्तान बीते 75 वर्षों से परस्पर हितों से जुड़े विभिन्न क्षेत्रों में अहम भागीदार रहा है और अमेरिका, पाकिस्तान के साथ अपने संबंधों को महत्व देता है।” उन्होंने कहा, “अमेरिका पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को बधाई देता है। हम पाकिस्तान की सरकार के साथ लंबे समय से चले आ रहे सहयोग को जारी रखने की उम्मीद करते हैं।” ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका एक मजबूत, समृद्ध और लोकतांत्रिक पाकिस्तान को दोनों देशों के हितों के लिए जरूरी मानता है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने अमेरिकी विदेश मंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह इस्लामाबाद और वाशिंगटन के वर्षों पुराने संबंधों को दोबारा मान्यता देने का स्वागत करता है। पाक प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कया, “नई सरकार क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और विकास के साझा लक्ष्यों को बढ़ावा देने के लिए अमेरिका के साथ रचनात्मक और सकारात्मक रूप से मिलकर काम करना चाहती है।” उसने कहा, “हम समानता, आपसी हित और लाभ की बुनियाद पर इस महत्वपूर्ण रिश्ते को और गहरा करने के लिए तत्पर हैं।” हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शहबाज शरीफ के प्रधानमंत्री निर्वाचित होने के बाद उन्हें अभी तक शिष्टाचार के तौर पर फोन कॉल नहीं किया है। उन्होंने पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को भी उनके कार्यकाल के दौरान ऐसा कोई फोन कॉल नहीं किया था।

कोई टिप्पणी नहीं: