झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 03 जुलाई - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 3 जुलाई 2022

झाबुआ (मध्य प्रदेश) की खबर 03 जुलाई

पंचायतीराज में पहली बार गांव का बेटा बना सरपँच, ग्राम पंचायत नरसिंहपुरा में टूटा 70 साल का रिकॉर्ड


jhabua-news
पारा। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में विगत कई वर्षों से क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे कई क्षत्रपों को पराजय का सामना करना पड़ा वही युवा और नए चहरे के हाथों में ग्राम विकास की कमान देने में ग्राम वासियों ने कोई कमी नही रहने दी।  ऐसा ही मामला गत दिनों रामा विकास खण्ड के पारा क्षेत्र के ग्राम पंचायत नर्सिंहपुरा में देखना को मिला। इस ग्राम पंचायत में आजादी के 70 सालों में पंचायतीराज लागू होने के बाद पहली बार गांव का बेटा शंकर सिह डोडवा सरपँच पद पर निर्वाचित हुआ। ग्राम पंचायत नर्सिंहपुरा तीन ग्राम नर्सिंहपुरा उकाला ओर नवापाड़ा को मिला कर बनाई गई है। तीनो गांव ने कुल1483 मतदाता है। जिसमे सर्वाधिक मतदाता करीब 750 से ज्यादा ग्राम नवापाड़ा के है दुसरे नम्बर पर करीब पांच सौ से ज्यादा मतदाता नर्सिंहपुरा के ओर ग्राम उकाला के 238 के लगभग मतदाता है।  पंचायतीराज लागू होने के बाद ग्राम पंचायत नर्सिंहपुरा शरू से ही ग्राम नवापाड़ा का राज रहा है । वर्तमान 2022 के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ग्राम नर्सिंहपुरा के मतदाताओं ने एक मत होकर गांव के ही युवक शंकर सिह डोडवा के पक्ष में मतदान किया व गांव के विकास का सपना संजोए शंकर को  विजयी दिलवाई।  शंकर ने ग्राम नवापाड़ा पूर्व सरपंच को 144 मतों हरा कर जीत हांसिल की।  इससे नर्सिंहपुरा के ग्राम वासियों में हर्ष है। परिणाम के बाद ग्रामीणों ने शंकर की जीत का जश्न भी धूमधाम से मनाया।  नवनिर्वाचित सरपँच शंकर डोडवा ने ग्राम वासियों सहित पंचायत के समस्त मतदाताओं का आभार व्यक्त किया।


पत्रकारों पर हो रहे हमले को लेकर दर्ज कराई रिपोर्ट - पुलिस अपराधियों को पकड़ने में हो रही नाकाम


jhabua-news
थांदला। माफियाओं के खिलाफ कलम चलाने वालें जाबांज पत्रकारों को सुरक्षा प्रदान करना शासन प्रशासन की जिम्मेदारी होती है लेकिन वारदात के बाद भी पुलिस की निष्क्रियता जग जाहिर है तभी आपराधिक तत्वों के हौसलें बुलंद हो जाते है। हाल ही में जिलें के बड़े पत्रकार के कार्यालय पर अज्ञात बदमाशों ने पत्थर से शीशा तोड़ दिया तो निकटवर्ती राज्य राजस्थान के गाँव मोहकमपुरा के पत्रकार जगदीश पिता जगमालसिंह चावड़ा को काली बिना नम्बर की पल्सर पर आये कुछ अज्ञात नकाबपोश बदमाशों ने थांदला कुशलगढ़ मार्ग पर खजूरी पूल के निकट गाड़ी रोककर जान से मारने की धमकी दी। बदमाशों ने उसे हिंदूवादी होने व पत्रकारिता में आगे बढ़ने पर उसे धमकी भरें लहजे में कहा आज तेरा अंतिम दिन है बस आगे आ अकेले में मिल पिस्टल दिखाकर उडा देंगे।  इस तरह की पत्रकारों को मिलने वाली धमकी आम बात है पहले भी जिलें के कई पत्रकारों को ऐसी धमकी मिल गई है यहाँ तक कि कुछ पत्रकारों की पिटाई तक हो चुकी है। यह सब दृश्य घटित होने पर भी पुलिस महकमा शायद बदमाशों व माफियाओं के हाथों कठपुतली बना नजर आ रहा है तभी अभी तक अपराधी तक पुलिस नही पहुँच पा रही है। युवा पत्रकार ने पाटन व थांदला में अपने पिता के साथ आकर अज्ञात अपराधियों के खिलाफ आवेदन देते हुए सुरक्षा की मांग की है। उल्लेखनीय है कि झाबुआ जिलें के पीड़ित पत्रकार एम एल परमार एक समाचार पत्र के मालिक होकर यूट्यूब चौनल के माध्यम से प्रदेश भर की खबरों को प्रकाशित करते है वही राजस्थान के युवा पत्रकार आरएसएस विचारधारा का होकर विगत 15 वर्षों से निर्भीक पत्रकारिता कर रहा है।


राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग ने डॉक्टर्स डे पर किया डॉक्टर्स को सम्मानित डॉक्टर बनकर महानगरों के बजाय अंचल में सेवा देना महान - नाहर


jhabua-news
थांदला। एक डॉक्टर जब उच्च शिक्षा प्राप्त कर लेता है तो उसके लिए पैसा कमाना आसान हो जाता है और वह इसके लिए महानगरों का रुख कर लेता है। लेकिन वे डॉक्टर्स धन्य है जो ग्रामीण अंचल में रहकर रोगियों की सेवा कर मानव पुण्य कमाते है। कुछ इसी तरह का जज्बा लिए अनेक डॉक्टर्स दूर दराज ग्रामीण अंचल के आभाव विहीन क्षेत्रों में जाकर अपनी सेवाएं दे रहे है। उन सभी डॉक्टर्स के सम्मान का भाव लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा व मुख्य महासचिव डॉ रविन्द्र मिश्रा के निर्देश पर मध्यप्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष पवन नाहर के मार्गदर्शन में आयोग के मध्यप्रदेश महासचिव नव निर्वाचित पंच मोहनलाल पाटीदार व तहसील अध्यक्ष गोपाल चोयल के तथा प्रदेश महिला उपाध्यक्ष धापू बेन पाटीदार, तहसील उपाध्यक्ष गोविंद पाटीदार व कालूसिंह टंडा द्वारा उप स्वास्थ्य केंद्र रायपुरिया जाकर वहाँ कार्यरत डॉक्टर सीता काग व सहयोगी कर्मचारियों का शाल माला पहनाकर व उनका मुँह मीठा कराकर स्वागत सम्मान किया। इस तारतम्य में थांदला सिविल अस्पताल के स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ प्रदीप भारती, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रोहित मुजाल्दे, डॉ मनीष दुबे, डॉ अंकिता धाकिया, डॉ रोशनी मंडलोई, डॉ पंकज खतेड़िया आदि डॉक्टर्स का भी संस्था के पवन नाहर, कमलेश तलेरा, मनोज उपाध्याय, राजेश डामर, समकित तलेरा, आतमराम शर्मा आदि ने सम्मान कर उनके कार्यों की सराहना की।


बाबा बर्फानी के दर्शन करने दर्जनों यात्री अमरनाथ रवाना


थांदला। जम्मू कश्मीर के प्रसिद्ब तीर्थ बाबा अमरनाथ की यात्रा के लिए आज शनि मंदिर से बस स्टैंड से 20 यात्री स्लीपर बस द्वारा रवाना हुए जिसमें सबसे लंबी उम्र के 75 वर्षीय जगदीश मालवी (पानेवाले), नेता प्रतिपक्ष लक्ष्मण राठौड़, भोलें भंडारें के सदस्य तुलसीराम मेहते, मिस्त्री, राजेश भाटिया, नानालाल खेमराज राठौड़, शांतिलाल हीराजी सौलंकी, श्रीमती शकुंतला छाजेड़ सहित आठ जोड़े शामिल है। वही बस में अन्य 20 सवारी पेटलावद व रायपुरिया आदि स्थानों की है। जानकारी देते हुए लक्ष्मण राठौड़ ने बताया कि 15 दिवसीय यात्रा में मध्यप्रदेश के उज्जैन महाकाल तीर्थ सहित प्रमुख धार्मिक स्थलों के दर्शन करते हुए जम्मू - कश्मीर, पंजाब आदि स्थानों पर सभी देवालयों व प्रमुख यादगार स्थलों के दर्शन किये जायेंगे। यात्रियों को सबसे ज्यादा खुशी बाबा बर्फानी, माता वैष्णोदेवी के दर्शन के साथ हिंदुस्तान - पाकिस्तान की चर्चित वाघा बॉर्डर पर देश के जवानों से मिलने को लेकर हो रही है। बाबा अमरनाथ यात्रा को आज ही दूसरा जत्था वैष्णोदेवी एक्सप्रेस (जम्मूतवी) से जा रहा है जिसमें भोला भंडारें सदस्य श्रीमंत अरोड़ा, नीरज सौलंकी, महेश नागर, मनीष जैन आदि अंचल के करीब 50 से ज्यादा यात्रियों को भोला भंडारें परिवार के पवन नाहर, आतमराम शर्मा, मनोज उपाध्याय, समकित तलेरा, विवेक व्यास, दिनेश चतुर्वेदी आदि के साथ परिवार के सदस्यों ने पुष्प माला पहनाते हुए उनकी यात्रा मंगलकरी होने की शुभकामनाएं प्रेषित की।

कोई टिप्पणी नहीं: