गया : राजस्व ग्राम में डोर टू डोर किए जा रहे सर्वेक्षण में तेजी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 17 अक्तूबर 2022

गया : राजस्व ग्राम में डोर टू डोर किए जा रहे सर्वेक्षण में तेजी

Door-to-door-gaya
गया. अल्प वर्षापात के लेकर बिहार सरकार द्वारा घोषित किये गए सुखाड़ को लेकर ज़िले के विभिन्न राजस्व ग्राम में डोर टू डोर किए जा रहे सर्वेक्षण तेजी से किया जा रहा है, ताकि सुखाड़ से प्रभावित व्यक्ति को सरकार द्वारा किए जा रहे लाभ को उपलब्ध कराया जा सके.  इसी परिपेक्ष में आज जिला पदाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम द्वारा परैया प्रखंड का निरीक्षण किया गया। परैया प्रखंड में 06 पंचायत सुखाड़ प्रभावित चिन्हित किए गए हैं. उन सभी पंचायतों के सभी राजस्व ग्राम का किये रहे सर्वे का निरीक्षण किया. सुखाड़ सर्वेक्षण का स्वयं जिलाधिकारी द्वारा निगरानी रखी जा रही है। इसके साथ ही जिले के कई वरीय अधिकारियों को सुखाड़ वाले प्रखंडों में नामित किया गया है जो सीधे तौर पर नीचे के पदाधिकारियों से समन्वय करते हुए निगरानी रखेंगे. परैया प्रखंड के परैयाखुर्द पंचायत के ग्राम परैयाखुर्द जो सूखाग्रस्त इलाका है, इन इलाकों का सर्वेक्षण करने के कार्य का डीएम द्वारा निरीक्षण किया गया. उन्होंने उपस्थित सर्वेक्षणकर्ता को निर्देश दिया कि वार्ड वार घूम घूम कर प्रत्येक घर का सर्वेक्षण कार्य गुणवत्ता पूर्ण करें. उन्होंने उपस्थित सर्वेक्षण कर्ता  से आज के रिपोर्ट की जानकारी लिया कि कितने घरों का आज सर्वेक्षण किया गया.बताया गया कि वार्ड संख्या 09 में कुल 170 घरों को चिन्हित करते हुए आपदा सम्पूर्ति पोर्टल के लिए पर्याप्त का दीदार को देखते हुए मिलान किया गया. जिला पदाधिकारी ने सभी सर्वेक्षण कर्ताओं को कठोर निर्देश दिया है कि जिनको भी जो दायित्व दी गई है वह फील्ड में जा करके वास्तविक सर्वेक्षण करें, न कि कागजी प्रक्रिया करें.ऐसे लापरवाही करने वाले सर्वेक्षणकर्ता कर्मियों के विरूद्ध आपदा अधिनियम के तहत कठोर कार्रवाई की जाएगी. ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि इस टोले में विगत 1 सप्ताह से ट्रांसफार्मर खराब होने के कारण बिजली बाधित है जिला पदाधिकारी में कार्यपालक अभियंता ग्रामीण बिजली विभाग को निर्देश दिया कि 2 दिनों के अंदर नए ट्रांसफार्मर लगवाना सुनिश्चित कराएं. कई ग्रामीणों ने जिला पदाधिकारी से अनुरोध किया कि जमीन का एलपीसी निर्गत करने में अंचल कार्यालय में काफी लंबित रखा जा रहा है. जिला पदाधिकारी ने अंचल अधिकारी को निर्देश दिया कि कागजातों का जांच करते हुए तेजी से एलपीसी निर्गत करना सुनिश्चित करें.

कोई टिप्पणी नहीं: