नेपाल के सामाजिक आर्थिक विकास में है भारत का हित : प्रणव

nepal-development-in-inda-favior-pranab-mukherjee
नयी दिल्ली, 19 अप्रैल, राष्‍ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने कहा है कि भारत और नेपाल के बीच सदियों पुराने घनिष्ठ संबंध हैं और नेपाल के सामाजिक आर्थिक विकास में ही भारत का स्थायी हित है। श्री मुखर्जी ने राष्ट्रपति भवन में नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी के सम्मान में कल देर रात आयोजित भोज के दौरान कहा कि भारत को प्रसन्‍नता है कि नेपाल संविधान कार्यान्‍वयन और प्रगतिशील तथा समावेशी राजनीतिक एजेंडा के महत्‍वपूर्ण कार्यों में संलग्‍न है। उन्‍होंने कहा कि भारत के नेपाल के साथ घनिष्‍ठ ऐतिहासिक और पारंपरिक संबंध हैं। दोनों देशों के बीच संबंध और सहयोग भूगोल द्वारा परिभाषित तथा समान संस्‍कृति एवं इतिहास से समृद्ध हैं और उनके बीच वर्षों से भाईचारे के संबंध सरकारों और नेताओं द्वारा और गतिशील तथा समृद्ध किए गए हैं। राष्‍ट्रपति ने कहा कि नेपाल के सामाजिक आर्थिक विकास में भारत के स्‍थायी हित निहित है। उन्‍होंने कहा कि दोनों देशों की समृद्धि सुरक्षा और कल्‍याण आपस में जुड़े हुए और एक-दूसरे पर निर्भर हैं। उन्‍होंने कहा कि भारत नेपाल सरकार और वहां के लोगों की प्राथमिकताओं के अनुरूप हर संभव समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि नेपाल की पहली महिला राष्‍ट्रपति का स्‍वागत करते हुए उन्‍हें अत्‍यंत हर्ष हो रहा है। श्री मुखर्जी ने राष्‍ट्रपति के तौर पर अपनी पहली विदेश यात्रा के रूप में भारत का चयन करने के लिए श्रीमती भंडारी की सराहना की। इस अवसर पर राष्‍ट्रपति ने अपनी हाल की नेपाल यात्रा और पिछले वर्ष उनके साथ अपनी बैठक को याद किया। उन्‍होंने अपनी यात्रा के दौरान नेपाल सरकार और वहां के लोगों द्वारा किए गए अतिथ्‍य सत्कार के लिए श्रीमती भंडारी का आभार व्‍यक्‍त किया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...