सुशील मोदी ने मुख्यमंत्री से की लालू के पुत्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

sushil-modi-demand-nitish-action-against-lalu-sons
पटना 20 अप्रैल, बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के परिवार पर कथित जमीन घोटाले को लेकर जारी हमले को अंजाम तक पहुंचाने के लिए आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जानबूझकर बेनामी संपत्ति छुपाने के मामले में श्री यादव के मंत्री पुत्र तेजप्रताप यादव को तत्काल बर्खास्त कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग की। श्री मोदी ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि पर्यावरण एवं वन तथा लघु जलसंसाधन मंत्री तेज प्रताप यादव के चुनाव आयोग एवं बिहार सरकार से औरंगाबाद में अपने नाम से रजिस्ट्री कराई गई 53 लाख रुपये की 45 डिसमिल जमीन की सही जानकारी जानबूझकर छुपाई है। उन्होंने कहा कि धोखाधड़ी एवं जानबूझकर बेनामी सम्पत्ति छुपाने के कुत्सित प्रयास के आरोप में श्री तेजप्रताप को तत्काल बर्खास्त करते हुए उनपर प्राथमिकी दर्ज कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाए। भाजपा नेता ने कहा कि श्री तेजप्रताप यादव ने 16 जनवरी 2010 को औरंगाबाद में सात लोगों जैसे सीता देवी, बिनेश्वर साव, फूलमती देवी, सरस्वती देवी, जिलाल यादव एवं अनीता कुमारी से 53 लाख 34 हजार रुपये में 45.24 डिसमिल जमीन की रजिस्ट्री अपने नाम से करायी थी। उन्होंने कहा कि इसके बाद 02 फरवरी 2012 को इस जमीन को गिरवी रखकर मध्य बिहार ग्रामीण बैंक, औरंगाबाद से दो करोड़ 29 लाख 60 हजार रुपये का ऋण लिया। वर्तमान में इस जमीन पर लारा डिस्ट्रिब्यूटर्स प्राइवेट लिमिटेड का भवन बना हुआ है और इसमें एक प्रतिष्ठित मोटरसाईकिल कंपनी का शोरूम है।


पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री तेजप्रताप यादव ने वर्ष 2015 में राज्य में हुये विधानसभा चुनाव के नामांकन के दौरान दिये गये संपत्ति के ब्यौरे में औरंगाबाद स्थित इस जमीन और इसको गिरवी रखकर लिये गये ऋण की जानकारी छुपा ली। साथ ही वर्ष 2016 में बिहार सरकार को अपनी संपत्ति के बारे में दिये गये विवरण में भी उन्होंने इस जमीन का उल्लेख नहीं किया । श्री मोदी ने कहा कि बिहार सरकार के एक मंत्री द्वारा औरंगाबाद में हाइवे पर अवस्थित इतनी महत्वपूर्ण संपत्ति का उल्लेख चुनाव आयोग तथा राज्य सरकार को दिये गये अपनी संपत्ति के ब्यौरे में नहीं करना एक प्रकार की धोखाधड़ी एवं जानबूझकर बेनामी संपत्ति को छुपाने का कुत्सित प्रयास है। भाजपा नेता ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस मामले में श्री तेजप्रताप यादव को पद से तत्काल बर्खास्त करने की मांग करते हुये कहा कि श्री कुमार मंत्री के खिलाफ प्राथमिकता दर्ज कराकर आवश्यक कानूनी कार्रवाई कर अपनी न्यायप्रियता का परिचय देंगे। उल्लेखनीय है कि हाल ही में श्री मोदी ने श्री तेजप्रताप यादव के औरंगाबाद स्थित बेनामी संपत्ति मामले का खुलासा किया था। पूरे मामले में उन्होंने राजद अध्यक्ष की भूमिका पर कटाक्ष करते हुये कहा था कि घोटाले की राह पर चलकर ही श्री यादव ने अपनी जिंदगी तो बर्बाद कर ही ली और अब अपने बच्चों को भी उसी राह पर चलाकर उनका जीवन भी तबाह करने में लगे हुये हैं। उन्होंने कहा था कि राजद अध्यक्ष ने अपने बच्चों को पढ़ने-लिखने की उम्र में घोटाला करके उन्हें करोड़ो रुपये की जमीन का मालिक बना दिया।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...