विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 17 अप्रैल

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना तहत जगन्नाथपुरी, कमाख्या और वैष्णोदेवी तीर्थ दर्शन हेतु रवाना होंगे  

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत जिले के तीर्थ यात्री जगन्नाथपुरी के लिए 27 अपै्रल और 29 मई को, कमाख्या (गुवाहाटी असम) के लिए 20 मई को तथा वैष्णोदेवी के लिए 24 जून को तीर्थ यात्री रवाना होंगे।जगन्नाथपुरी के लिए 27 अपै्रल को स्पेशल टेªन से जिले के 170 तीर्थ यात्री रवाना होंगे और दो मई को वापिस आएंगे। इसी प्रकार 29 मई को 250 तीर्थ यात्री जगन्नाथपुरी केे लिए रवाना होंगे और तीन जून को वापिस आएंगे।कमाख्या (गुवाहाटी असम) के लिए 20 मई को स्पेशल टेªन से जिले के 155 तीर्थ यात्री रवाना होंगे जो 25 मई को वापिस आएंगे। वैष्णोदेवी के लिए 24 जून को जिले के 189 तीर्थ यात्री स्पेशल टेªन से रवाना होगे और 29 जून को वापिस आएंगे। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत पूर्व उल्लेखित स्थलों के दर्शन हेतु जाने के इच्छुक श्रद्वालुगण अपने आवेदन नजदीक के तहसील कार्यालय में जमा कर सकते हैै। लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर तीर्थ यात्रियों का चयन कम्प्यूटर रेण्डमाइजेशन प्रणाली से किया जाएगा। 27 अपै्रल को जगन्नाथपुरी को जाने वाली यात्रा के लिए आवेदन 17 अपै्रल नियत की गई थी। 20 मई को कमाख्या देवी के दर्शन हेतु आवेदन पत्र आठ मई तक इसी प्रकार 28 मई को जगन्नाथपुरी के लिए आवेदन 16 मई तक तथा 24 जून को वैष्णोेदेवी तीर्थ यात्रा में शामिल होने के लिए आवेदकगण नौ जून तक आवेदन जमा कर सकते है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के अंतर्गत किसी भी एक यात्रा का लाभ उठा चुके वे तीर्थ यात्री पुनः आवेदन प्रस्तुत ना करें।



आधार पंजीयन कार्य में रूचि ना लेने वालो को शोकाॅज नोटिस के निर्देश  

कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने आज टीएल बैठक में लंबित आवेदनों की समीक्षा की। शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों का आधार पंजीयन कार्य में रूचि नही लेने वालो को शोकाॅज नोटिस देने के निर्देश एकीकृत बाल विकास सेवाओं के जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिए। कलेक्टर श्री सुचारी ने मुख्यमंत्र हेल्प लाइन के लंबित आवेदनों की समीक्षा के दौरान कहा कि सौ दिन से अधिक के एक भी आवेदन लंबित ना रहे। इन ही आवेदनों में से समाधान आॅन लाइन में शामिल किए जाते है। कलेक्टर श्री सुचारी ने जिले में जारी ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के क्रियान्वयन की जिन अधिकारियों को जबावदेंही सौंपी गई है। उनसे कहा कि वे अभियान का क्रियान्वयन गंभीर होकर करें। प्रत्येक पंचायत में तीन दिन ग्राम संसद का आयोजन किया जाएगा जिसमें प्रथम दिन ग्रामीणों से चर्चा कर स्थानीय मांगो, अद्योसंरचनाओं के प्रस्ताव तैयार किए जाएंगे। दूसरे दिन महिला संसद का आयोजन किया जाएगा जिसमें में महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण के साथ-साथ कुपोषित बच्चों को विशेष आहार देने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएंगे। तीसरे चरण में ग्राम संसद के अंतर्गत कृषि, पशु, उद्यानिकी इत्यादि पर आधारित कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा जिसका मुख्य उद्वेश्य किसानों की आमदनी को दुगना करना है। स्वरोजगार मूलक योजनाओं को क्रियान्वयन कराने वाले विभागों के अधिकारियों से कलेक्टर श्री सुचारी ने कहा कि वे वित्तीय वर्ष के लक्ष्य प्राप्ति हेतु अभी से प्रयास करें। उन्होंने गतवर्ष के लंबित आवेदनो को इस वर्ष वित्त पोषण कराने की बात कही। कलेक्टर श्री सुचारी ने कहा कि दिव्यांगों के लिए हितग्राहीमूलक योजनाओं में शासन की मंशा के अनुरूप आरक्षण का प्रावधान किया गया है अतः प्रावधानो के तहत ही स्वरोजगार योजनाओं के तहत दिव्यांगों को वित्त पोषण कराने की कार्यवाही की जाए।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना
ऊर्जा विभाग के द्वारा क्रियान्वित प्रदेश के किसानों के लिए संचालित मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना की विस्तृत जानकारी  बैठक में दी गई। योजना के संबंध में बताया गया कि राज्य सरकार द्वारा अधिकतम 90 प्रतिशत तक अनुदान मुहैया कराया जा रहा है। योजना के अंतर्गत ऐसे कृषक आवेदकगणों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां विद्युत अद्योसंरचना नही है, जहां कृषि पंपों हेतु स्थायी कनेक्शन नही है एवं विद्युत कंपनी की वाणिज्यिक हानि अधिक एवं ट्रांसफार्मर हटा लिए गए है के साथ-साथ जहां खेत की दूरी बिजली की लाइन से तीन सौ मीटर से अधिक या नदी, बांध के समीप ऐसे स्थान जहां पानी की पर्याप्त उपलब्धता हो, एवं फसलों के चयन के कारण जहां वाटर पंपिग की आवश्यकता ज्यादा रहती हो इत्यादि शामिल हैै। योजना का लाभ लेने के लिए आवेदकगण आॅन लाइन अथवा हस्तलिखित आवेदन जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी के कार्यालय में 15 मई तक जमा कर सकते है। ततसंबंध में अन्य विस्तृत जानकारी के लिए विभाग की बेवसाइट पर प्राप्त की जा सकती है। बैठक में श्रम, कृषि, खनिज, आधार कार्ड, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, स्वास्थ्य विभाग, ऊर्जा विभाग के लंबित आवेदनों पर गहन समीक्षा की गई। इसके अलावा बैठक में जाति प्रमाण पत्र, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की अद्यतन प्रगति की भी समीक्षा की गई। वही वरिष्ठ कार्यालयों के साथ-साथ मानव अधिकार आयोग, पीजी सेल, समाधान आॅन लाइन और जन शिकायत निवारण के प्राप्त आवेदनों और पेपर कंटिग पर अब तक संबंधित विभागों के अधिकारियों द्वारा की गई कार्यवाहियों की बिन्दुवार जानकारियां प्रस्तुत की गई। कलेक्टेªट के सभाकक्ष में हुई इस बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा, एसडीएम श्री आरपी अहिरवार, डिप्टी कलेक्टर द्वय श्री चंद्रप्रताप गोहल, श्री एके मांझी के अलावा समस्त विभागों के जिलाधिकारी मौजूद थे।



सामान्य सभा की बैठक 25 को

जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी की अध्यक्षता में जिपं की सामान्य सभा की बैठक 25 अपै्रल को आयोजित की गई है। उक्त बैठक बासौदा जनपद पंचायत के सभागार कक्ष में दोपहर 12 बजे से प्रारंभ होगी। 

मतदाता जागरूकता वाहन का रूटचार्ट

मतदाता को जागरूक करने के लिए जिले की पांचो विधानसभाओं में आयोग द्वारा जारी कार्यक्रम अनुसार गतिविधियों क्रियान्वित है। मतदाता सूची में नाम जुड़वाने, रंगीन फोटो लगवाने एवं युवावर्ग में जागरूकता के उद्वेश्य से प्रचार रथ 19 से 21 अपै्रल तक भ्रमण करेगा। इसके लिए निर्धारित रूटचार्ट एवं कार्यक्रम की जानकारी देेते हुए उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चंद्रप्रताप गोहल ने बताया कि 19 अपै्रल बुधवार को मतदाता जागरूकता वाहन नटेरन, नयागोला, कुरवाई हाट, पठारी, बासौदा, त्योंदा, ग्यारसपुर, अटारीखेजडा, गुलाबगंज पहुंचेगा। 20 अपै्रल गुरूवार को जिला मुख्यालय के समस्त काॅलेजों के अलावा सांयकाल माधवगंज चैराहा, नीमताल, तिलक चैक, भगत सिंह काॅलोनी, मुखर्जी नगर, पीतलमील चैराहा, बंटीनगर, रामलीला और श्रीरामनगर चैराह पहुंचेगा। शुक्रवार 21 अपै्रल को ढोलखेडी चैराहा, करारिया चैराहा, पीपलखेडा चैराहा, शमशाबाद, महानीम चैराहा, सिरोंज हाट, लटेरी मेहलुआ चैराहा हाटा पहुंचेगा।

ग्राम संसद की कार्यवाही में शामिल हुए कलेक्टर

vidisha news
ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के तहत आयोजित होने वाली ग्राम संसद की कार्यवाही में आज कलेक्टर श्री अनिल सुचारी स्वंय शामिल हुए। नटेरन विकासखण्ड की ग्राम पंचायत जोहद और सोमवारा में ग्रामीणजनो से संवाद स्थापित कर ग्राम सभा में लिए गए निर्णयों की जानकारियां उनके द्वारा प्राप्त की गई। ग्राम पंचायत जोहद में आगामी दो वर्षो के लिए बनाई गई कार्ययोजना के तहत प्रस्तावित कार्यो की सूची का वाचन कराया गया। यहां कलेक्टर श्री सुचारी ने कहा ग्रामीणजन आपसी चर्चा कर ग्राम के विकास के लिए आवश्यक अद्योसंरचनाओं के साथ-साथ स्वरोजगारमूलक एवं हितग्राहीमूलक योजनाओं से गांव के सुपात्रों को लाभांवित कराना है। उन्होंने मनरेगा के तहत लिए जाने वाले कार्यो के संबंध मंें पूछताछ की। श्री सुचारी ने कहा कि जलाभिषेक अभियान के तहत गांव में जल संचय की बडी संरचनाओं का निर्माण कराया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत अब पात्रता पर्ची उन्ही कार्डधारियों के जारी की जाएगी जिनके द्वारा आधार नम्बर लिंक कराए गए है। उन्होंने पात्रताधारियों से कहा कि वे आधार नम्बर अनिवार्यतः लिंक कराए। ऐसे हितग्राही जिनके पास आधार कार्ड नही है उनके लिए तहसील मुख्यालयों पर निःशुल्क आधार कार्ड बनाने की कार्यवाही क्रियान्वित है। यहां कलेक्टर द्वारा सीमांकन पेंशन, मुख्यमंत्री घोषणा एवं बीमा पालिसी के अलावा स्वच्छ भारत अभियान के तहत कराए जाने वाले कार्यो की जानकारियां प्राप्त की गई।  ग्राम सोमवारा में अभियान के क्रियान्वयन हेतु नियुक्त नोड्ल अधिकारी श्री फूल सिंह मीना के द्वारा अभियान के क्रियान्वयन बिन्दुओं के संबंध में अनभिज्ञता जाहिर करने पर श्री मीना को शोकाॅज नोटिस देने के निर्देश कलेक्टर ने एसडीएम को दिए। ग्राम के सरपंच श्री लक्ष्मीकांत मरखेडकर ने बताया कि चम्पाखेडा गांव में एक भी हेण्डपंप क्रियाशील नही है इस कारण से गांव वालों को नदी का पानी पीना पड़ रहा है। कलेक्टर श्री सुचारी ने मौके पर लोेक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री से मोबाइल से सम्पर्क कर हेण्ड पंप दुरूस्त कराने और पेयजल आपूर्ति के सतत प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। यहां प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए प्राप्त आवेदनों का वाचन कराया गया। ग्राम के श्री विक्रम ंिसह ने स्वंय बीपीएल सूची से अपना नाम हटवाया। कैंसर रोग से पीड़ित श्री कल्याण सिंह के इलाज हेतु राज्य बीमारी सहायता के तहत प्रकरण तैयार कराया गया। कलेक्टर श्री सुचारी ने ग्राम संसद आयोजन के उद्वेश्य एवं ग्रामोदय से भारत उदय अभियान की निहित बिन्दुओं पर गहन प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि गांव में जो भी समस्या है उसे ग्राम सभा में जरूर रखें। जिन हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ लेना है वे अपने आवेदन अनिवार्यतः दें। यहां भी स्वच्छ भारत अभियान के तहत बनाए जाने वाले शौचालयों, पात्रता पर्ची, पेंशन, सीमांकन के संबंध में भी जानकारी दी गई। कलेक्टर श्री सुचारी ने बताया कि अविवादित बंटवारे के अधिकार एवं ग्राम पंचायतों को सौंपे गए है। ग्राम संसद की कार्यवाही के दौरान एसडीएम श्री मकसूद अहमद, जनपद सीईओ श्री एसएन पानसे, जोनल अधिकारी के अलावा विभिन्न विभागों के खण्ड स्तरीय अधिकारीगण एवं ग्रामीणजन मौजूद थे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...