बिहार : पटना वि॰वि॰ गेट पर ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने दिया धरना,

छात्रों की मांगे जायज कुलपति पूरा करने के लिए करें ठोस पहल-प्रो॰ चैधरी, कुलपति के निर्देश पर डी॰एस॰डब्ल्यू॰ ने की बातचीत, डेढ़ घंटे की बातचीत में डी॰एस॰डब्ल्यू॰ ने कई मांगों पर जतायी सहमति, सोमवार को कुलपति से वार्ता करने का दिलाया भरोसा।



aisf-protest-at-patna-university
पटना. 27 मई। पटना वि॰वि॰ गेट पर आज आॅल इण्डिया स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ;।प्ैथ्द्ध के बैनर तले छात्रों ने धरना दिया। सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक छात्रों ने धरना दिया। पटना वि॰वि॰ केन्द्रीय पुस्तकालय यथाशीघ्र खोलने व 24 घंटे करने, पटना आर्ट काॅलेज प्राचार्य की बर्खास्तगी एवं स्थायी प्राचार्य की बहाली। आॅन लाइन आवेदन के नाम पर शुल्क वृद्धि पर रोक, निःशुल्क आॅन लाइन आवेदन जमा करने की व्यवस्था, पटना काॅलेज में मिन्टो हाॅस्टल परिसर में स्थित दिव्यांग छात्रावास में मूलभूत सुविधाओं की बहाली, पटना वीमेंस काॅलेज की छात्राओं का लंबित परीक्षाफल जारी करने आदि सवालों को लेकर धरना दिया गया। धरना को संबोधित करते हुए पटना काॅलेज के पूर्व प्राचार्य प्रो॰ नवल किशोर चैधरी ने कहा कि छात्रों की मांगे जायज है। पिछले कई महीनों से काॅलेज नहीं जाने वाले आट काॅलेज के प्रभारी प्राचार्य चंद्र भूषण श्रीवास्तव की जगह किसी नये व्यक्ति को विश्वविद्याल प्राचार्य बनाये तथा स्थायी प्राचार्य की बहाली करे। उन्होंने कहा कि पब्लिक फेडेड यूनिवर्सिटी में आॅन लाइन आवेदन के नाम पर इतनी मोटी रकम वसूल करना जायज नहीं है ऐसी स्थिति मंे यदि ए॰आई॰एस॰एफ॰ के हर काॅलेज में निःशुल्क आॅन लाइन आवेदन की मांग करते हैं तो इसमें गलत क्या है?

लगभग दो बजे कुलपति के निर्देश पर पटना वि॰वि॰ डी॰एस॰डब्ल्यू॰ एन॰के॰ झा ने छात्रों के प्रतिनिधिमंडल को वार्ता के लिए आमंत्रित किया। पूर्व सूचना के बावजूद कुलपति द्वारा वार्ता के लिए समय नहीं दिये जाने तथा एक अन्य छात्र संगठन से वार्ता किये जाने की जानकारी पाकर ए॰आई॰एस॰एफ॰ के छात्र आक्रोशित थे। डी॰एस॰डब्ल्यू॰ ने कुलपति से सोमवार को वार्ता कराने का भरोसा दिलाया। बाद में यह जानकारी पाने के बाद कि कुलपति कार्यालय में अन्य छात्र संगठन मात्र अभिनंदन के लिए गये थे वार्ता को राजी हुए। वार्ता में डी॰एस॰डब्ल्यू॰ से छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मिला। प्रतिनिधिमंडल मंे शामिल ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव सुशील कुमार, राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराजा, पी॰यू॰ अध्यक्ष राकेश प्रसाद, पी॰यू॰ सचिव संदीप कुमार, राज्य पार्षद विद्यानंद पासवान एवं विपिन कुमार ने कहा कि लगभग दो वर्षों से पीयू सेन्ट्रल लाइब्रेरी मरम्मति केे नाम पर बन्द है। लाइब्रेरी को यथाशीघ्र 24 घंटे खोला जाए। महिला विरोधी एवं जाति सूचक टिप्पणी करनेवाले 13 महीने से काॅलेज से गायब आर्ट काॅलेज के प्रभारी प्राचार्य को समझौते अनुसार बर्खास्त करने एवं स्थायी प्राचार्य की बहाली, पटना काॅलेज मिण्टो छात्रावास स्थित दिव्यांग छात्रावास में मूलभूत सुविधाओं की बहाली व बी॰एन॰ काॅलेज स्थित दिव्यांग छात्रावास को खोलने, पटना वीमेंस काॅलेज की छात्राओं का लंबित परीक्षफल जारी करने, पटना लाॅ काॅलेज मंे नए सत्र में आवेदन शुरू कराने, सैदपुर, मिण्टो, जैक्शन सहित सभी छात्रावासों की जर्जर स्थिति दुरूस्त कर उन्हें आवंटित करने, रेगुलेशन के अभाव में कई छात्रों के जे॰आर॰एफ॰ लेप्स करने सहित 12 सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा।

लगभग डेढ़ घंटे एक-एक बिन्दु पर बातचीत करने के क्रम में 15 अक्टूबर के बाद छात्रसंघ चुनाव कराना दिव्यांग छात्रावास में मूलभूत सुविधाओं पर खुद पहलकदमी करने सहित छात्रों की भावनाओं से कुलपति को अवगत कराने एवं सोमवार को वार्ता का भरोसा दिलाया। धरना के मौके पर ए॰आई॰वाई॰एफ॰ के राज्य अध्यक्ष निखिल कुमार झा, ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सह सचिव अकाश गौरव, जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र प्रणय, राज्य पार्षद सुभाष पासवान, विकास कुमार गुप्ता, विकास सिंह, चंदन गिरि, विक्की कुमार, अदनान इमरान, सत्येन्द्र कुमार, अरुण विद्यार्थी, परमानन्द सहित दर्जनों लोगों ने संबोधित किया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...