जेवर दुष्कर्म: सामूहिक बलात्कार से अधिकारियों ने किया इन्कार

bulandshahr-jewar-rape-case-four-persons-detained
ग्रेटर नोएडा, 26 मई, उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में 24 मई की रात ग्रेटर नोएडा में की सामूहिक दुष्कर्म, लूट और हत्या की घटना की पुलिस ने सात टीम बनाकर जांच शुरू कर दी है और इस बीच अधिकारियों ने सामूहिक दुष्कर्म इन्कार किया है। जिला अधिकारी बी.एन. सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लव कुमार ने इस घटना में आज शाम संवाददाता सम्मेलन में मेडिकल रिपोर्ट का हवाला देते हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना से इन्कार किया। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस को इस मामले में सक्रिय तीन से चार आपराधिक गिरोह पर शक है। पुलिस आसपास के बुलंदशहर, अलीगढ़, गाजियाबाद,और हरियाणा के फरीदाबाद और पलवल के अलावा कई अन्य जिलों में जांच करके घटना की कड़ियों को जोड़ने का प्रयास कर रही है। इस मामले की जांच एसटीएफ की नोएडा इकाई को सौंपी गयी है। पुलिस इस मामले में पीड़ित पक्ष से मिली जानकारी के आधार पर हरियाणा में सक्रिय एक खास गिरोह के बारे में भी पुलिस सुराग लगाने का प्रयास कर रही है। पीड़ितों ने पुलिस को दिए बयान में जसवीर नामक व्यक्ति का भी जिक्र किया है। एसटीएफ का मानना है कि घटना का मास्टर माइंड हरियाणा का हो सकता है। इस घटना को आठ माह पहले बुलंदशहर में हुए सामूहिक दुष्कर्म कांड की तर्ज पर अंजाम दिया गया है। जेवर कांड के आरोपियों को पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस हरियाणा पुलिस के संपर्क में है। हरियाणा में सड़क पर वाहनों की जांच की जा रही है। यमुना एक्सप्रेस-वे पर बीते वर्षों में लूटपाट को घटनाओं को अंजाम देने वाले बदमाश भी पुलिस के रडार पर हैं। यमुना एक्सप्रेस-वे मथुरा और आगरा क्षेत्र में सक्रिय गिरोह लूट की कई घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस महानिरीक्षक (एसटीएफ ,मथुरा)अमिताभ यश और आगरा पुलिस नोएडा पुलिस के संपर्क में है। राजमार्ग पर लूट करने वाले बदमाशों का रिकाॅर्ड निकाला जा रहा है। साथ ही यमुना एक्सप्रेस वे पर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गयी है। जेवर कांड को लेकर राजनीति शुरू हो गयी है। पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राज्यसभा सदस्य सुरेंद्र नागर से घटना की पूरी जानकारी मांगी है। श्री यादव के निर्देश पर राज्य सभा सांसद ने जिला अस्पताल का दौरा किया और पीड़ित परिवार से मुलाकात की । श्री नागर ने कहा,“ पीड़ित परिवार का एक सदस्य पूर्व में जेवर का सपा अध्यक्ष रह चुका है। इस कारण हमें पुलिस कार्रवाई पर आशंका है। पीड़ित परिवार ने भी आशंका जताई है कि पुलिस मेडिकल रिपोर्ट बदलवा सकती है। इसी कारण सीएमएस से सही रिपोर्ट बनाने की अपील की गयी है। ” घटना के बाद आसपास के जिलाें में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। राजमार्ग पर गश्त बढ़ा दी गयी है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...