रुपये में एक महीने की सबसे बड़ी तेजी

rupees-strong-since-one-month
मुंबई 11 मई, बैंकों की डॉलर बिकवाली तथा विदेशी निवेशकों के पूँजी बाजार में पैसा लगाने से आज अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया गत दिवस की तुलना में 24 पैसे चढ़कर 64.38 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। भारतीय मुद्रा में यह 13 अप्रैल के बाद की सबसे बड़ी तेजी है। गत दिवस यह 31 पैसे लुढ़ककर 64.62 रुपये प्रति डॉलर पर रही थी। शेयर बाजार की आरंभिक तेजी से बल पाकर रुपया 13 पैसे की तेजी में 64.49 रुपये प्रति डॉलर पर खुला। हालाँकि, दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की मजबूती के दबाव में यह 64.57 रुपये प्रति डॉलर के दिवस के निचले स्तर तक फिसल गया, लेकिन विदेशी निवेशकों के पूँजी बाजार में लिवाल रहने से इसका ग्राफ एक बार फिर ऊपर की ओर बढ़ा। कारोबार की समाप्ति से पहले 64.33 रुपये प्रति डॉलर के दिवस के उच्चतम स्तर से होता हुआ रुपया गत दिवस के मुकाबले 24 पैसे चढ़कर 64.38 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने आज भारतीय पूँजी बाजार में 22.96 करोड़ डॉलर यानी 1,481.13 करोड़ रुपये लगाये। कारोबारियों ने बताया कि एफपीआई के निवेश तथा बैंकों की डॉलर बिकवाली से रुपये को बल मिला है। हालाँकि, दुनिया की छह अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर की तेजी से रुपये की बढ़त कुछ कम रही।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...