संताल परगना की खुशहाली के लिए अंतिम दम तक प्रयास करूंगा : रघुवर दास

संताल परगना के पिछड़ेपन का दर्द मेरे हृदय में शूल की तरह चूभता है।1975 में विकास के जिन उद्देश्यों को लेकर 20 सूत्री कार्यक्रम की शुरूआत हुई थी वह राजनीति की उपेक्षा के अंधेरों में कहीं भटक गया। पद का अर्थ यह नहीं कि हम स्वयं को सशक्त करें बल्कि प्रयास यह होना चाहिए कि जनता को सशक्त या एम्पावर्ड कैसे किया जाए।





will-fight-for-santhal-raghuvar-das
दुमका (अमरेन्द्र सुमन), उप राजधानी दुमका के सिदो कान्हु मुर्मू इन्डोर स्टेडियम में दिन बुधवार (24 मई 2017) को प्रमंडल स्तरीय 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति के लिये आयोजित कार्यशाला में जिला 20 सूत्री के उपाध्यक्षों, प्रखंड अध्यक्षों व सदस्यों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि संताल परगना के पिछड़ेपन का दर्द मेरे हृदय में शूल की तरह चूभता है। इसकी खुशहाली के लिए राजनीति से परे अंतिम दम तक प्रयास करूंगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 1975 में विकास के जिन उद्देश्यों को लेकर 20 सूत्री कार्यक्रम की शुरूआत हुई थी वह राजनीति की उपेक्षा के अंधेरों में कहीं भटक गया। इसे वास्तविक रूप देने की कोशिश में यह कार्यशाला आयोजित है। उन्होंने कहा कि गरीबी दूर करना एक नारा हो सकता है पर इसे महसूस करते हुए शिद्दत से प्रयास करना जरूरी है। आरोप या प्रत्यारोप से हम अपने पद की गरिमा को ही धूमिल कर बैठते है। सरकार जनता व 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति आपस में सामंजस्य बनाकर काम करें। पद का अर्थ यह नहीं कि हम स्वयं को सशक्त करें बल्कि प्रयास यह होना चाहिए कि जनता को सशक्त या एम्पावर्ड कैसे किया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि समिति की बैठक राज्य स्तर पर हर छह माह में, जिला व प्रखंड स्तर पर प्रत्येक तीन माह में बैठक होनी चाहिये। एक उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि गर्मी में प्रकृतिक आपदा से बिजली बाधित हो तो और बात है पर हमारी आधारभूत संरचना वर्ष 2018 तक ऐसी हो कि 24 ग 7 निर्वाध विद्युत मिलती रहे। विकास के प्रत्येक बुनियादी क्षेत्र में हमारे कार्य के परिणाम से राज्य में खुशहाली आयेगी। यह समिति गरीबी और बेरोजगारी के विरूद्ध एक सशक्त प्रयास है। ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुण्डा ने प्रखंडस्तर पर समिति को मजबूत बनाने व स्थानीय प्रशासन के साथ बेहतर तालमेल बनाए रखने पर जोर दिया। समाज कल्याण मंत्री डा लुईस मरांडी ने कहा कि समिति के सदस्य जिम्मेदारियों को समझें। सरकार के सहयोगी के रूप में कार्य करें। हर खेत को पानी और हर हाथ को काम मिले। श्रम नियोजन एवं कौशल विकास मंत्री राज पलिवार ने कहा कि विकास की किरण समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे तथा समिति के सदस्य सरकार की योजनओं को जमीन पर उतारने का काम करें। हर गरीब के चेहरे पर मुस्कुराहट ही हमारा लक्ष्य होना चाहिये। राज्य 20 सूत्री के उपाध्यक्ष राकेश प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति को प्रभावी बनाने के लिए हर संभव मदद व सहयोग किया है। शासन व प्रशासन के साथ बेहतर समन्वय व तालमेल की जरूरत है। क्षेत्र के पदाधिकारियों से भी करते हुए कहा कि वे बैठक के निर्णयों को अमलीजामा पहनायें। राज्य के अपर मुख्य सचिव सह विकास आयुक्त सह सचिव राज्य 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति अमित खरे ने कहा कि 1975 से चल रहे इस कार्यक्रम को जन भागीदारी से ही सफल बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि समिति को प्रभावी बनाने के लिए समय पर बैठक आवष्यक है। उन्होंने बैठक के प्रति उदासीन रवैया अपनाने वाले पदाधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई का आष्वासन दिया। उन्होंने बैठक को केवल कोरम तक सिमित न कर प्रभावी समीक्षा और व्यापक उद्देष्य तक ले जाने की बात कही। अमित खरे ने कहा कि जुलाई से राज्य के पोर्टल पर प्रखंड स्तर की सभी जानकारी प्राप्त की जा सकती है।  कार्यषाल में स्वागत संबोधन संताल परगना के आयुक्त दिनेष चन्द्र मिश्र ने एवं धन्यवाद ज्ञापन दुमका के उपायुक्त राहुल सिन्हा ने किया। कला दलांे के द्वारा जनजातीय पारम्परिक स्वागत, पुष्पगुच्छ समर्पण तथा जीवानंद यादव के मंच संचालन में आयोजित इस बैठक में संताल परगना प्रमंडल के सभी छह जिलों के उपायुक्त, जिला 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति के उपाध्यक्ष एवं सदस्य, राज्य 20 सूत्री के सदस्य, प्रखंड अध्यक्ष एवं सदस्य विभिन्न विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित थे। करोड़ों रुपये की योजनाओं का किया लोकार्पण-शिलान्यास: इससे पूर्व बिरसा मुण्डा आउटडोर स्टेडियम, दुमका में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 15 करोड़ 90 लाख की लागत वाली योजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया, जिनमें ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल की 15 योजनाएँ, एनआरईपी की 10 योजनाएँ, जिला परिषद की 9 योजनाएँ व भवन प्रमंडल की 1 योजना का शिलान्यास व उद्घाटन किया गया। जिले के रानेश्वर प्रखंड के गोविन्दपुर पंचायत की श्रावंती मुखर्जी, जरमुण्डी के पेटसार पंचायत की सुसमा देवी, गोपीकान्दर प्रखंड के टायजोर पंचायत की पे्रमलीना किस्कू, जामा के भटनियां पंचायत के दिलीप कुमार राउत व रानेश्वर के गोविन्दपुर के राकेश कुमार मिश्र को उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। प्रखण्ड शिकारीपाड़ा के कुतुबुद्दीन अंसारी व आलमउद्दीन अंसारी को कृषि विभाग की ओर से पम्पसेट प्रदान किया गया। दिव्यांग उर्फान अंसारी, मिस्टर अंसारी, रामजीवन केवट व रत्नेष कुमार झा को ट्राय साईकिल दिया गया। मालूम हो सरकार आपके द्वार अभियान 2017 के कार्यक्रम में शिरकत करने दुमका पहुँचे मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जनसहयोग से विकास को बढ़ाने की अपील की थी। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...