मधुबनी : नैन्सी हत्याकांड में राघवेंद्र व पंकज को दोबारा रिमांड पर लेगी पुलिस

nancy-murder-case
मधुबनी (किशोर कुमार) नैंसी हत्याकांड के कथित मास्टरमांइड राघवेंद्र झा व पंकज झा को दोबारा रिमांड पर लिया जा सकता है. इससे पूर्व तीन दिनों के रिमांड पर लेकर एसआइटी द्वारा राघवेंद्र व पंकज से की गयी पूछताछ के बाद हत्याकांड से जुड़े साक्ष्यों व पहलुओं की जांच की गयी. इस दौरान कई ऐसी बातें सामने आयी हैं कि फिर से इन दोनों से पूछताछ की जाने की जरूरत पड़ गयी है. एसआइटी जल्द ही इन दोनों को कोर्ट से रिमांड पर लेगी और दूसरे चरण की पूछताछ शुरू की जायेगी. पुलिस का दावा है कि जांच में कई ऐसी बातें सामने आयी हैं, जिससे इस कांड के जल्द ही परदाफाश होने के आसार हैं. सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने अपनी जांच के दायरे को बढ़ाया है़ कई करीबी लोगों से भी नये सिरे से पूछताछ की गयी है. साथ ही, बीते दिनों करीबी लोगों के मोबाइल से मिले मैसेज व लोकेशन के आधार पर जांच का दायरा बढ़ाया गया है. इसमें पुलिस को नैंसी हत्याकांड से जुड़े कई अहम बातें सामने आयी हैं, जिसको लेकर राघवेंद्र व पंकज से पूछताछ की जायेगी


एसपी दीपक बरनवाल ने बताया है कि एसआइटी की टीम के द्वारा दोनों को रिमांड पर लिये जाने की तैयारी की जा रही है. पुलिस सूत्रों का कहना है कि जिस दिन (25 मई) नैंसी गायब हुई थी और करीबी लोग शादी के रस्म को लेकर निर्मली गये थे. उस दिन कुछ लोगों के मोबाइल का लोकेशन अंधरामठ मिल रहा है, जबकि संबंधित लोगों ने पूछताछ के दौरान बार-बार अपने आप को उस समय निर्मली में होने की बात पुलिस को बताया जा रही है. इसके अलावा भी कई ऐसी बातें हैं, जो मोबाइल की जांच व पूछताछ में करीबी द्वारा दिये गये बयान से मेल नहीं खा रहे. बयान संदेहास्पद हैं. जिस कारण पुलिस का शक लगातार बढ़ता जा रहा है. मालूम हो कि एसआइटी ने इससे पूर्व तीन दिन के रिमांड पर राघवेंद्र व पंकज को लेकर पूछताछ की थी. रिमांड की अवधि समाप्त होने पर बीते सोमवार को कोर्ट में पेश कर वहां से जेल भेज दिया गया था. इधर, नैंसी के परिजन ने एक बार फिर अपनी पुरानी बातों को दुहराते हुए कहा है कि पुलिस असली हत्यारे तक नहीं पहुंच पा रही है. वे लोग अब इस मामले में कुछ भी बताते हैं तो पुलिस उसका अर्थ परिवार के कथित तौर पर हत्या में शामिल होने के नजरिये से ही लगाती है. यहीं कारण है कि पुलिस ने केवल परिजन तक ही अपनी जांच के दायरे को समेट कर रख दिया है. पुलिस को अपनी जांच का दायरा परिवार के अलावा बाहरी लोगों पर भी बढ़ाना चाहिए. वहीँ एसआइटी ने दावा किया कि जल्द होगा कांड का खुलासा क्यूंकि मोबाइल के मैसेजऔर लोकेशन व बयान में मेल नहीं हो रहा.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...