विकास विरोधी शक्तियां झारखंड में कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने में लगी : रघुवर

ragubar-das-blame-to-disturb-jharkhand-development
रांची 31 मई, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज कहा कि कुछ विकास विरोधी शक्तियां राज्य में कानून-व्यवस्था को भंग करने के प्रयास में लगी हुई हैं और बच्चा चोरी की अफवाह आदि घटनाओं के पीछे राज्य विरोधी शक्तियां ही काम कर रहीं हैं।  श्री दास ने आज यहां झारखंड मंत्रालय में गृह, कारा एवं आपदा प्रबंधन विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा, “हमारे निर्दोष नागरिक मारे जा रहे हैं और इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। ऐसे तत्वों पर कड़ी कार्रवाई करें। कितना भी बड़ा चेहरा हो, कार्रवाई करने से नहीं हिचकें।” उन्होंने कहा कि उनकी सरकार राज्य में अमन-शांति कायम रखने के लिए हर संभव काम करेगी। अमन-शांति भंग होने की स्थिति में गरीब व्यक्ति सबसे ज्यादा प्रभावित होता है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की तर्ज पर राज्य औद्योगिक सुरक्षा बल का गठन किया गया है। इसमें राज्य के ज्यादा से ज्यादा युवक-युवतियों को भर्ती किया जायेगा। इससे राज्य के औद्योगिक इकाईयों को न केवल सुरक्षा मिलेगी बल्कि बेरोजगार युवक-युवतियों को भी रोजगार मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि स्मार्ट थानों में स्मार्ट पुलिस भी रहे, इसे सुनिश्चित करें। लोगों से बात करने, ऑनलाइन एफ0आइ0आर0 आदि के तौर तरीकों का प्रशिक्षण दिलाया जाये। अनुकंपा के मामलों का निपटारा जल्द करने का भी निदेश मुख्यमंत्री ने दिया। 


श्री दास ने कहा कि किसी भी तरह की आपराधिक वारदात की सूचना मिलने पर निश्चित अवधि में पुलिस वाहन घटनास्थल पर पहुंचे। साथ ही इसके लिए जिम्मेदारी भी तय की जानी चाहिए। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को राज्य में हो रहे ऑर्गेनाइज क्राइम पर नियंत्रण के लिए चार्जशीट दायर करने के काम में तेजी लाने का निर्देश दिया। बैठक में अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि राज्य में 2500 सहायक पुलिस की बहाली की प्रक्रिया अगस्त तक पूरी कर ली जायेगी। इस वर्ष रांची में सी0सी0टी0वी0 लगा दिये जायेंगे। इसी तरह जमशेदपुर और देवघर में भी सी0सी0टी0वी0 सर्विलांस के लिए डी0पी0आर0 तैयार किया जा रहा है। डायल 100 सेवा से जुलाई तक सभी जिलों को जोड़ दिया जायेगा। इसके साथ ही हाइवे पेट्रोलिंग एवं जिला कंट्रोल वाहन को इससे जोड़ा जायेगा। साथ ही राज्य में आपदा प्रबंधन के लिए स्टेट डिजास्टर रिलिफ फोर्स के गठन के लिए प्रक्रिया चल रही है। बैठक में मुख्य सचिव राजबाला वर्मा, गृह विभाग के प्रधान सचिव एस0के0जी0 रहाटे, पुलिस महानिदेशक डी0के0 पांडेय, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुमार समेत राज्य के आला पुलिस अधिकारी उपस्थित थे। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...