सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 15 जून

विधायक श्री राय ने किया दस्तक अभियान का शुभारंभ
  • एएनएम,आषा को विधायक के हाथांे सौंपी गई दस्तक कीट

sehore-news
सीहोर 15 जून, विधायक श्री सुदेष राय द्वारा आज 15 जून से 15 जुलाई,2017 तक संचालित दस्तक अभियान का शुभारंभ किया गया। सीहोर शहरी क्षेत्र की समस्त एएनएम को दस्तक कीट का वितरण विधायक श्री राय के हाथों किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.आर.के.गुप्ता, जिला टीकाकरण अधिकारी डॅा. एम.चंदेल,प्रभारी सिविल सर्जन   डाॅ.एस.एस.तोमर, आरएमओ डाॅ.सुधीर श्रीवास्तव, षहरी टीकाकरण अधिकारी डाॅ. नीरा श्रीवास्तव, डीपीएम श्री धीरेन्द्र आर्य, जिला मीडिया समन्वयक श्री शैलेष कुमार, जिला अस्पताल प्रबंधक श्रीमती संजुलता भार्गव, एलएचव्ही श्रीमती सुषीला सोनी, अर्बन लिपिक श्री हरिओम मेवाड़ा सहित सीहोर शहरी क्षेत्र की समस्त एएनएम,आषा कार्यकर्ता एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। दस्तक अभियान का शुभारंभ करते हुए विधायक श्री सुदेष राय ने कहा स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए बच्चों की सेहत सुधारने का एक बेहतर अवसर है। उन्होंने कहा कि मेहनत, लगन और ईमानदारी से अपने कार्यो को किया जाएगा तो स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक बेहतर बनाया जा सकता है। श्री राय ने सभी कर्मचारियों से कहा कि दस्तक अभियान मुख्यमंत्रीजी की सोच को बच्चों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए महत्वपूर्ण अभियान है, आषा है सभी कर्मचारी दस्तक अभियान में लक्ष्य अनुसार उपलब्धि प्राप्त कर जिले को प्रदेष में महत्वपूर्ण स्थान दिलाएंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.आर.के.गुप्ता ने बताया कि 15 जून से निरंतर एक माह तक संचालित होने वाले दस्तक अभियान में आषा,एएनएम घर-घर दस्तक देकर 05 साल तक के बच्चों की पहचान कर निर्धारित प्रपत्र में जानकारी भरकर दस्त प्रबंधन के लिए ओ.आर.एस.के पैकेट भी घर-घर वितरित करेगी। साथ ही कलेक्टर के निर्देषानुसार 05 वर्ष तक बच्चों में बाल्यकालीन निमोनियां की त्वरित पहचान कर प्रबंधन एवं रेफरल की व्यवस्था की जाएगी। इस संबंध में सभी जरूरी दिषा निर्देष समस्त बीएमओ को जारी कर दिए गए है। 05 साल से कम उम्र के बच्चों में बाल्यकालीन दस्त रोग के नियंत्रण हेतु ओआरएस के उपयोग संबंधी सामुदायिक जागरूकता में बढ़ावा एवं प्रत्येक घर में गृहभंेट के दौरान ओआरएस पहंुचाना पहली प्राथमिकता होगी। सीएमएचओ ने बताया कि एसएनसीयू एवं एनआरसी से छुट्टी प्राप्त बच्चों में बीमारी की स्क्रीनिंग एवं फाॅलोअप को दस्तक अभियान के दौरान प्रोत्साहन दिया जाएगा। नमक में आयोाडीन पर्याप्तता की जांच एवं आयोडीन की अल्पता से बच्चोें में होने वाले विकारों के संबंध में सामुदायिक जागरूकता के संबंध में अभियान संचालित किया जाएगा। दस्तक अभियान में स्तनपान को भी प्रमुखता से जोड़ा गया है जिसके अंतर्गत आषा एवं एएनएम घर-घर जाकर षिषु एवं बाल आहार पूर्ति संबंधी समझाईष समुदाय को देगी एवं स्तनपान संबंधी भ्रांतियों में कमी हेतु सामुदाय में जागरूकता लाने के लिए उचित सलाह एवं समझाईष देगी। जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ.एम.चंदेल ने बताया कि जिले के 1138 ग्रामों में दस्तक अभियान का संचालन किया जाएगा। करीब 215 उप स्वास्थ्य केन्द्रांे एवं शहरी वार्डों में भी अभियान का सघन संचालन किया जाएगा। जिले में अभियान की सफलता के लिए कलेक्टर के निर्देष पर कुल 286 दलों का गठन किया गया है। जिसमें आष्टा में 59 दल, बुदनी 51, नसरूल्लागंज में 47, ष्यामपुर 39, सीहोर शहरी क्षेत्र 14 तथा आष्टा शहरी क्षेत्र के लिए 11 दलों का प्रमुखता से गठन कर उन्हें अभियान के सफलता की व्यापक जवाबदारी एवं जिम्मेदारी सौंपी गई है। अभियान की सघन माॅनिटरिंग के लिए ब्लाॅक एवं जिला स्तर से जिम्मेदार अधिकारियों की ड्यूटी भी लगाई गई है। प्रतिदिन की लक्ष्य एवं उपलब्धि से राज्य कार्यालय को आॅन लाईन रिपोर्ट के माध्यम से अवगत कराया जाएगां वहीं सघन माॅनीटरिंग के लिए राज्य ंस्तर से भी स्वास्थ्य विभाग,राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिषन के आला अधिकारी एवं गैर शासकीय संगठनों के प्रतिनिधि जिले में ग्राम स्तर पर भ्रमण कर अभियान की जमीनी हकीकत से राज्य एवं जिला स्तर पर अधिकारियों को प्रतिदिन अवगत कराया जाएगा। 

दस्तक अभियान पर निकली जनजागरूकता रैली
  • बच्चों में दिखाई देने वाली जन्मजात विकृतियों की पहचान की जाएगी

सीहोर, 15 जून, जिला चिकित्सालय स्थित ट्रामा सेंटर से 15 जून से 15 जुलाई तक संचालित होने वाले बदस्तक अभियान के अवसर पर आज जनजागरूकता रैली का आयोजन किया गया। रैली प्रमुख मार्गों से रवाना होकर पुन ट्रामा सेंटर पहंुची। रैली को जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ.एम.चंदेंल ने संबोधित करते हुए कहा कि दस्तक अभियान बाल सुरक्षा से संबंधित एक महत्वपूर्ण अभियान है। एक माह तक संचालित अभियान में निमोनिया, दस्त रोग, कुपोषण से संबंधित बच्चों को चिन्हांकन कर उपचार किया जाएगा।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.आर.के.गुप्ता ने बताया कि 15 जून से निरंतर एक माह तक संचालित होने वाले दस्तक अभियान में आषा,एएनएम घर-घर दस्तक देकर 05 साल तक के बच्चों की पहचान कर निर्धारित प्रपत्र में जानकारी भरकर दस्त प्रबंधन के लिए ओ.आर.एस.के पैकेट भी घर-घर वितरित करेगी। रैली के शुभारंभ अवसर पर स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थिात थे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...