मुक्त बंधुआ मजदूरों के पुनर्वास के लिए प्रस्ताव की गयी जारी


child-labour-workshop
पटना 9 जुलाई 2017, एक्शनएड एसोसिएशन एवं सहयोगी जनसंगठन असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन तथा राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण साझा अभियान के संयुक्त तत्वाधान में बंधुआ व बाल मजदूर के पुनर्वास विषय पर राज्य स्तरीय परामर्श सभा का आयोजन ए.एन. सिन्हा सामाजिक अध्ययन संसथान के सभागार में आयोजित की गयी . इस कार्यक्रम में राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश से मुक्त हुए लगभग 1300 से ज्यादा बंधुआ व् बाल मजदूरों के पुनर्वास की स्थिति एवं विषय पर विस्तारपूर्वक नीतिगत स्तर पर चर्चा की गयी, साथ हीं संस्था एवं संगठनों के द्वारा बिहार सरकार के श्रम संसाधन विभाग के समक्ष एक प्रस्ताव सर्वसमति से पारित की गयी . इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बिहार सरकार के पूर्व श्रम संसाधन मंत्री श्री दुलाल चंद गोस्वामी ने कहा की बिहार में बंधुआ प्रथा के उन्मूलन एवं मुक्त बंधुआ मजदूरों के पुनर्वास विषय पर वर्तमान सरकार काफी संवेदनशीलता से कार्य करने के लिए ठोस कदम उठायेगी. ज्ञात हो की सभी मुक्त बंधुआ मजदूरों को मात्र मुआवजा के तौर पर सरकार के ओर से बीस हज़ार राशी ही दी गयी है. उक्त बातों को इस कार्यक्रम को संचालित करते हुए एक्शनएड एसोसिएशन के पंकज श्वेताभ ने कहा कि बंधुआ मजदूर उन्मूलन व पुनर्वास अधिनियम, 1976 के मुताविक सभी मुक्त बंधुआ मजदूरों को पुनर्वासित करने के लिए वासभूमि, इंदिरा आवास, रोजगार के संसाधन व वितीय सहायता, सामाजिक सुरक्षा योजना, खाद्य सुरक्षा योजना अदि प्रमुक्ता से प्रथ्मिकिता देते हुए सुनिश्चित करना अनिवार्य है . इस कार्यक्रम में उपस्थित बिहार अनुन्सुचित जाति आयोग के पूर्व चेयरमैन श्री विद्यानंद विकल ने कहा की बंधुआ प्रथा स्थित पूर्व से काफी कम हुयी है और वर्तमान सरकार वंचित समुदायों की स्थित को बेहतर बनाने के लिए प्रतिवध है. 


इस कार्यक्रम में सक्रिय रूप से भाग लेने में बिहार राज्य के विभिन्न संस्थाओं एवम जनसंगठन के प्रतिनिधिनों ने भाग लिया जिसमें प्रमुख रूप से यूनिसेफ के सैयद मंसूर, प्रक्सिस के अनिंदो बनर्जी, सेव द चिल्ड्रेन के पियूष, भोजन अधिकार अभियान के रुपेश, चेंज अलायन्स से आरती वर्मा, दलित अधिकार मंच से कपिलेश्वर राम, असंगठित क्षेत्र कामगार संगठन के विजयकांत, सुनील बासु, अभिषेक कुमार और अजय कुमार, बिहार चाइल्ड राइट्स फोरम के लालमोहन एवं एक्शनएड पटना के क्षेत्रीय प्रबन्धक सौरभ कुमार, सरद कुमारी, एकराम, सयदा बरी अदि उपस्थित थे. इस कार्यक्रम में एक्शनएड राजस्थान के नरेन्द्र शर्मा एवं राजस्थान बल अधिकार संरक्षण साझा अभियान के विजय गोयल शामिल थे जिन्होंने जयपुर में कार्यरत बिहार के मजदूरों को जयपुर के विभिन्न उधोगो से मुक्त करने में अहम् भूमिका निभाई. इस कार्यक्रम में मुक्त बंधुआ एवं बाल मजदूरों के अविभावक जो प्रमुख रूप से बिहार के गया, समस्तीपुर, वैशाली एवं मुजफ्फरपुर से आये थे ने अपनी हालत को वयान किया. 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...