गर्दनीबाग के गरीबों को बेघर करना कहां का न्याय: माले

  • बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए माले नेता मुर्तजा अली सहित सैकड़ो गरीब परिवारों को बेघर कर रही सरकार

गर्दनीबाग के गरीबों को बेघर करना कहां का न्याय: माले
पटना 7 जुलाई, भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने पटना के गर्दनीबाग इलाके में बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए प्रशासन द्वारा माले के लोकप्रिय नेता मुर्तजा अली सहित सैकड़ो गरीब परिवारों को बेघर करने की कोशिशों की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने कहा कि जब हाइकोर्ट ने बिना वैकल्पिक व्यवस्था के गरीबों की झोपड़ियां उजाड़ने पर रोक लगा रखी है, तब तथाकथित सामाजिक न्याय का दंभ भरने वाली सरकार किस आधार पर उनके घरों में ताले लगवा रही है? उन्होंने कहा कि गर्दनीबाग इलाके में एक से 40 नंबर रोड के बीच भवन निर्माण की 182 एकड़ जमीन में कम से कम 20 एकड़ जमीन पर गरीबों को स्थायी तौर पर बसाने अथवा आरक्षित करने, बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए गरीबों केे उजाड़े जाने पर रोक लगाने, बन्द राशन-किरासन की आपूर्ति चालू कराने व जिला प्रशासन द्वारा गरीबो के नष्ट की गयी झोपड़ियों का मुआवजा देने सहित अन्य मांगों पर हाल ही में मुर्तजा अली सहित कई लोगों ने दो दिवसीय अनशन किया था. प्रशासन ने उनकी मांगों पर सकारात्मक पहलकदमी का आश्वासन दिया था, लेकिन आज वह ठीक अपने आश्वासन से पलट गयी है और गरीबों के घरों को उजाड़ रही है. इस मामले में उन्होंने नीतीश कुमार से अविलंब हस्तक्षेप की मांग की है और कहा कि सरकार वादाखिलाफी न करे और गरीबों के रहने का स्थायी बंदोवस्त करे.

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...