वैश्विक आतंकवादी घोषित किया जाना मूर्खतापूर्ण : सलाहुद्दीन

foolish-to-announce-international-terror-salauddin
मुजफ्फराबाद, 01 जुलाई, आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के सरगना सैय्यद सलाहुद्दीन ने अमेरिका की ओर से उसे वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने की परवाह न करते हुए आज कहा कि वह जम्मू-कश्मीर में अपना सशस्त्र संघर्ष जारी रखेगा। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी बयान में कहा गया था कि गत वर्ष कश्मीर में हुए आतंकवादी हमलों के पीछे सलाहुद्दीन का हाथ था और वह कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आतंकवादियों को प्रशिक्षण देता था। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के अनुसार सितम्बर 2016 में सलाहुद्दीन ने धमकी देकर कहा था कि वह अधिक से अधिक कश्मीरी आत्मघाती हमलावरों को प्रशिक्षण देकर घाटी को भारतीय सेना की कब्रगाह के रूप में तब्दील कर देगा। गौरतलब है कि सलाहुद्दीन के संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन ने जम्मू-कश्मीर में हुए कयी आतंकवादी हमलों की जिम्मेदारी ली थी जिनमें अप्रैल 2014 के धमाके शामिल हैं, जिसमें 17 लोग घायल हुए थे। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार इन्हीं सभी वारदातों को आतंकवाद की श्रेणी में रखते हुए उसे अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किया गया है। अमेरिका की इस घोषणा के बाद किसी भी अमेरिकी नागरिक के सलाहुद्दीन के साथ किसी तरह के लेन-देन पर पाबंदी होगी आैर अमेरिकी न्यायिक क्षेत्र के तहत आने वाली सलाहुद्दीन की सारी संपत्ति जब्त हो जाएगी। सलाहुद्दीन ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन की ओर से लिए गए इस निर्णय को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए उपहार बताते हुए मूर्खतापूर्ण फैसला करार दिया है। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद में एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए सलाहुद्दीन ने कहा कि किसी एक घटना के आधार पर यह नहीं कहा जा सकता कि वह आतंकवादी हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...