गुजरात में ‘आजादी कूच’ में भाग लेने वालों की गिरफ्तारी निंदनीय: कुणाल

  • बिहार से आइसा-इनौस और इंसाफ मंच के साथी ले रहे हैं भाग.


cpi ml kunal
पटना 12 जुलाई, ऊना कांड (गुजरात) के 1 साल पूरे होने के मौके पर गुजरात में आयोजित ‘आजादी कूच’ के कार्यक्रम को बाधित करने और यात्रा में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की माले राज्य सचिव कुणाल ने कड़ी निंदा की है. इसमें बिहार से आइसा-इनौस और इंसाफ मंच के साथी भाग ले रहे हैं. आज से एक साल पहले ऊना (गुजरात) में गौरक्षकों द्वारा दलितों पर ढाये गये बर्बर जुल्म के खिलाफ उठ खड़े हुए ऐतिहासिक दलित जागरण के एक साल पूरा होने पर गुजरात में ‘आजादी कूच’ का कार्यक्रम आयोजित किया गया है. जिसे गुजरात के जाने माने दलित नेता जिगनेश मेवाणी संयोजित कर रहे हैं. यह कार्यक्रम आज 12 जुलाई से उत्तर गुजरात के मेहसाना जिले के सोमनाथ चैक से शुरू हुई. लेकिन गुजरात की भाजपा सरकार के इशारे पर प्रशासन ने यात्रा की अनुमति नहीं दी, प्रशासन से अनुमति न मिलने के बावजूद यात्रा आरंभ हुई. जिसे प्रशासन ने आगे बढ़ने से रोक दिया और यात्रा में शामिल लोगों केा गिरफ्तार कर लिया है. माले राज्य सचिव ने यह भी कहा कि यह पूरी तरह से लोकतांत्रिक आवाज को दबाने की कोशिश है. भाजपा व संघ परिवार द्वारा यह देश में अघोषित आपाताकाल की स्थिति है. जो देश की आम जनता पर थोप दिया गया है.

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...