नागालैंड में राजनीतिक संकट गहराया

nagaland-political-crisis
नयी दिल्ली,14 जुलाई, नागालैंड में राजनीतिक संकट गहरा गया है और मुख्यमंत्री एस लाईजेत्सु तथा राज्यपाल पी आचार्य के बीच टकराव की स्थिति बन गई है। पिछले तीन दिनाें में यह दूसरी बार है जब राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को संवैधानिक मानकों का पालन करते हुए सदन में अपना बहुमत साबित करने को कहा है। सूत्रों के अनुसार कल शाम राज्यपाल ने एक बयान में कहा “ प्रथम द्वष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे मुख्यमंत्री ने सदन में सदस्यों का समर्थन खो दिया है।” इसमें कहा गया है कि इसे देखते हुए शनिवार 15 जुलाई को विधानसभा का आपातकालीन सत्र बुलाकर उन्हें अपना बहुमत साबित करना चाहिए। यह बयान इस नजरिए से भी काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि मुख्यमंत्री ने 11 जुलाई को राज्यपाल के बहुमत साबित करने संबंधी निर्देश को यह कहकर खारिज कर दिया था कि अंगामी प्रथम विधानसभा सीट पर 29 जुलाई को उपचुनाव होगा। राज्यपाल ने 11 जुलाई को मुख्यमंत्री को निर्देश दिया था कि वह 15 जुलाई को सदन में अपना बहुमत साबित करें। राज्यपाल ने इस पूरे घटनाक्रम से पहले ही नयी दिल्ली को अवगत करा दिया था कि मुख्यमंत्री की ओर से बहुमत साबित करने की मांग को खारिज किए जाने को न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता है। इस बात के भी संकेत है कि या तो मुख्यमंत्री राज्य विधान सभा के सत्र को बुलाने की सिफारिश कर सकते हैं या फिर उन्हें हटना पड़ सकता है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...