मधुबनी : अंधरा बाजार हटिया के दिन सडक पर बेतरतीव मंडी लगाने से 100 मीटर की सफर करने में घंटो लग जाता है

road-block-andhrathadi-madhubani
अंधराठाढ़ी/मधुबनी (मोo आलम अंसारी) अंधराठाढी। प्रखंड का प्रमुख बाजार होने के कारण अंधराठाढी बाजार मे जाम की समस्या ने लोगो को भारी परेशानी में डाल दिया है। यहॉ अब ये समस्या विकराल रूप ले चुका है। बाजार मे अतिक्रमण की बजह से सडक पर जगह ही नही बची है। अतिक्रमण इस तरह हो चुका है की फुटपाथ पर चलना भी लोहे के चने चवाने जैसा हो गया है। अतिक्रमित सडक और यत्र तत्र सजी फुटकर दुकाने अंधराठाढी बाजार की पहचान बनकर रह गयी है। 

क्या है कारण- अबैध कब्जा और अतिक्रमण के कारण अंधरा बाजार का मुख्य सडक पगडंडी बन के रह जाता है। बाजार आते ही जाम देखकर लोगो की बचौनी बढ जाती है। लोगो की परेशानी और बढ जाती है जब हर ओर से गाडियो का जमावडा लग जाता है। लोगो का दम घुटने लगता है और लम्बी दूरी तक गाडियो से सडक जाम हो जाता है। मालुम हो की यह बाजार अंधराठाढी प्रखंड का मुख्य बाजार है। यहॉ आसपास के गॉवो से हजारो लोग रोज ही खरीददारी करने आते है। साथ ही साथ यहॉ स्टेट बैंक पंजाब नेशनल बैंक और ग्रामीण बैंक जैसे तीन तीन राष्टीय बैंक भी अवस्थित है। इस कारण भी अहले सुबह से देर रात तक लोगो का आना जाना लगा रहता है। अंधराठाढी बाजार के स्व0 रामफल चौधरी चौक पर बेतरतीव खडी आटो से रोज जाम लगता है।  सप्ताह में दो दिन सोमवार और शुक्रवार को अंधराठाढी में हाट लगता है। हटिया के दिन सडक पर बेतरतीव मंडी लगाने से 100 मीटर की सफर करने में घंटो लग जाता है। सडक के दोनो किनारे  सडक अतिक्रमण कर दूकान सजी रहती है। रोगी बाहन,अग्नीशामक आदि जरूरी बाहनो को आने जाने में घंटो मशक्कत करना पडता है। स्व0 रामफल चौधरी स्मृति द्वार से लेकर रेफरल अस्पताल तक टेम्पू का अघोषित अडडा बना हुआ है। जिससे हमेशा जाम का आलम बना रहता है। जाम के कारण अस्पताल आने वाले रोगियो को भी काफी परेशानी का सामना करना पडता है। 

क्या कहते है लोग- बाजार के पूर्व मुखिया कमरूज्जमा.ललित पंडित.मोo अजीम .दीलीफ गुप्ता.आदि ने बताया की यहॉ हमेसा ही जाम लगा रहता है। प्रशासन को तत्काल ही दिन में बडी गाडियो के बाजार मे प्रवेश पर रोक लगाकर और अतिक्रमणकारियो पर नकेल कस यहॉ के लोगो को जाम की समस्या से निजात दिलाना चाहिये।
क्या कहते है अधिकारी- गौरतलव हो कि माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार सडक को अतिक्रमण मुक्त रखना अंचल अधिकारी और थानाध्यक्ष का दायित्व है। मगर प्रशासन की लापरवाही ने मामले को और विेेकराल बना दिया है। अंचलाधिकारी रविन्द्र कुमार मिश्र कहते है बाजार को अतिक्रमणमुक्त करने का प्लान तैयार है और जल्द ही लोगो को इससे छुटकारा मिल जायेगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...