दार्जिलिंग में हिंसा भड़की, पुलिस चौकी में लगाई गई आग

violence-in-darjeeling-mob-burnt-police-pos
दार्जिलिंग, 08 जुलाई, गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट (जीएनएलएफ) के कार्यकर्ता ताहसी भूटिया की कथित रूप से सुरक्षा बलों की गोलीबारी में मौत की घटना के बाद दार्जिलिंग हिल्स में आज हिंसा भड़क उठी और गोरखालैंड आंदोलनकारियों ने सोनादा में यातायात पुलिस चौकी में आग लगा दी जिससे एक सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गया, आंदोलनकारियों ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के एक कार्यालय में भी तोड़फोड़ की। पुलिस ने नारी मोर्चा की कार्यकर्ताओं समेत हिंसा पर उतारू भीड़ को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और रबर की गोलियां दागी। मौजूदा हालात को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा इंतजाम पुख्ता कर दिए हैं। दूसरी तरफ पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर दार्जिलिंग हिल्स के विभिन्न राजनीतिक दलों के संयुक्त संघ गोरखालैंड आंदोलन समन्वय समिति (जीएमसीसी) के आह्वान पर अनिश्चिकालीन बंद आज 27वें दिन में प्रवेश कर गया। जीएनएलएफ नेता नीरज जिम्बा ने आरोप लगाया कि तुसी की मौत कथित रूप से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) की गोलीबारी मेें कल रात करीब 11 बजे उस समय हुई, जब वह दवाएं लेने जा रहा था। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने उस समय गोलियां चलाई, जब कुछ बदमाश एक कार में तोड़फोड़ कर रहे थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...