डेरा मामला: पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ छावनी में तबदील

dera-case-punjab-haryana-and-chandigarh-converted
चंडीगढ़, 23 अगस्त, हरियाणा सरकार ने आज कहा कि सिरसा स्थित डेरा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की साध्वी यौन शोषण मामले में 25 अगस्त को पंचकूला की केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) अदालत में पेशी और फैसला आने पर अगर स्थिति बिगड़ती है तो इसे सम्भालने के लिये सेना की मदद लेने के साथ कर्फ्यू भी लगाया जा सकता है। हरियाणा के गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राम निवास ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य को अर्द्ध सैनिक बलों की आठ और कम्पनियां मिली हैं। इससे पहले केंद्र से 35 कम्पनियां मिली थीं जिन्हें तैनात किया जा चुका है। इसके अलावा 2500 पुलिस कर्मियों का एक अतिरिक्त बल प्रदेश के विभिन्न भागों में तैनाती लगाया गया है। भीड़ का प्रबंधन करने के लिए लगभग 2000 होम गार्ड को भी डयूटी पर लगाया गया है। उन्होंने बताया कि स्थिति अगर बिगड़ती है तो इसे सम्भालने के लिये सेना भी बुलाई जा सकती है तथा समय और परिस्थितियों के मुताबिक कर्फ्यू भी लगाया जा सकता है। श्री रामनिवास के अनुसार सरकार ने स्थिति पर नज़र रखने तथा आवश्यक फैसला लेने के लिये दस वरिष्ठ भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) अधिकारियों की एक टीम तैयार की है जिसे महत्वपूर्ण और संवेदनशील स्थानों पर तैनात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि विभिन्न पुलिस नाकों पर जांच के दौरान कुछ वाहनों से आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है। ऐसे वाहनों को जब्त कर लिया गया है तथा इनके चालकों से पूछताछ की जा रही है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...