पासवान ने लालू की रैली को ‘फ्लाप शो’ करार दिया

lalu-rlly-flop-show-paswan
हाजीपुर 28 अगस्त, लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) अध्यक्ष और केन्द्रीय उपभोक्ता मामले,खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने राष्ट्रीय जनता दल(राजद) की ‘भाजपा भगाओ देश बचाओ’ रैली को पूरी तरह फ्लाॅप बताया और कहा कि यह रैली राजद के परिवारवाद और भ्रष्टाचार की काली कमाई को बचाने के लिये आयोजित की गयी थी । श्री पासवान ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि राजद ने इस रैली के आयोजन में पूर्व से अर्जित अवैध सम्पत्ति का करोड़ों रूपया खर्च किया है, इसकी उच्च स्तरीय जांच करायी जानी चाहिए। काले धन को सफेद करने के लिये यह रैली आयोजित की गयी थी । उन्होंने कहा कि इस रैली में शामिल होने वाले विपक्षी दलों के नेताओं का चरित्र भी भ्रष्टाचार के रंग से दागदार हो गया है। उन्होंने रैली की फर्जी तस्वीर सोशल साइट्स पर डालने को लेकर तंज कसते हुए कहा कि रैली की कथित सफलता का अंदाजा इसी बात से हो जाता है कि राजद को भीड़ दिखाने के लिए फर्जी फोटो तक का सहारा लेना पड़ा। लोजपा सुप्रीमों ने लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका (लालू) राजनीतिक जीवन समाप्त होने के कगार पर है और इसके लिये वह स्वयं ही जिम्मेवार हैं। उन्होंने रैली के आयोजन समय पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि यह अजीब है कि एक तरफ बिहार के करीब 20 जिलों के डेढ़ करोड़ से अधिक की आबादी बाढ़ग्रस्त इलाकों में अपने परिवार के साथ जीवन और मौत से जूझ रही हैं, वहीं दूसरी तरफ बाढ़ पीड़ितों की सहायता करने की बजाय लालूजी और उनके परिवार के लोग अपनी राजनीति साख बचाने के लिये नाच-गाने के साथ खुशी मनाते हुए रैली आयोजित करने में लगे रहे ।


बाद में वैशाली जिले के हरिहरपुर के कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रांगण में आयोजित ‘संकल्प से सिद्धि’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री पासवान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त करने के साथ ही देश के किसानों को नये भारत का सपना दिखाया है। उन्होंने बिहार, बंगाल, ओड़िशा आदि प्रदेशों के किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लिये पहली बार नीतिगत कार्य शुरू करने, राष्ट्रीय स्तर पर इसके लिये विभिन्न योजनाओं को लागू करने की सराहना की। उन्होंने फसल बीमा योजना के निहित कमियों को खत्म करते हुए देश में एक नयी फसल योजना शुरू करने को कृषि क्षेत्र में बड़ा फैसला बताया और कहा कि इससे किसानों के स्थिति में व्यापक सुधार देखने को मिलेगा। वहीं, केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के शिक्षा प्रसार निदेशक डा0 कृष्ण मुरारी सिंह ने कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि वैशाली जिले के किसानों ने अपनी मेहनत से प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में अपना नाम किया है । उन्होंने कहा कि वैशाली के फूलगोभी के बीजों की मांग पूरे देश में है । कार्यक्रम को कई कृषि वैज्ञानिकों ने भी संबोधित किया । इस मौके पर पार्टी विधायक राजकुमार साह, जिलाध्यक्ष टुनटुन सिंह समेत अन्य नेता मौजूद थे । 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...