झाझरिया और सरदार बने खेल रत्न, 17 खिलाड़ी अर्जुन

president-ram-nath-kovind-confers-sports-awards-on-national-sports-day
नयी दिल्ली, 29 अगस्त, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रियो पैरालंपिक के स्वर्ण पदक विजेता भाला फेंक एथलीट देवेंद्र झाझरिया और पूर्व भारतीय हॉकी कप्तान सरदार सिंह को मंगलवार को खेल दिवस के दिन देश के सर्वाेच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न, 17 खिलाड़ियों को प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार और छह कोचों को द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित किया। राष्ट्रपति ने राष्ट्रपति भवन के भव्य दरबार हाॅल में आयोजित समारोह में खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार प्रदान किये। 36 वर्षीय झाझरिया इस तरह खेल रत्न बनने वाले पहले पैरा एथलीट बन गये। झाझरिया ने गत वर्ष रियो पैरालंपिक में भाला फेंक एफ-46 स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। पूर्व हॉकी कप्तान और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मिडफील्डरों में शुमार सरदार के सिर भी खेल रत्न सज गया। समारोह में राष्ट्रपति ने छह कोचों को द्रोणाचार्य पुरस्कार, 17 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार और तीन खिलाड़ियों को आजीवन ध्यानचंद पुरस्कारों से सम्मानित किया। इसके अलावा तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहस पुरस्कार भी प्रदान किये गये। खेल रत्न में साढ़े सात लाख की पुरस्कार राशि दी गयी जबकि अर्जुन, द्रोणाचार्य और ध्यानचंद में पांच-पांच लाख रूपये की पुरस्कार राशि दी गयी।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...