जनादेश अपमान यात्रा के स्थान पर प्रायश्चित यात्रा करें तेजस्वी : जदयू

take-prayaschit-yatra-tejaswi-jdu
पटना, 5 अगस्त, बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल (जदयू) के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने आज कहा कि बेहिसाब बेनामी संपत्ति मामले में कानूनी जांच और आरोपों से घिरे राष्ट्रीय जनता दल(राजद) नेता तेजस्वी यादव को जनादेश का अपमान यात्रा के स्थान पर पूरे बिहार की 'प्रायश्चित यात्रा' करनी चाहिए। श्री प्रसाद ने यहां कहा कि जनादेश के अपमान के असली दोषी श्री यादव खुद और उनके परिजन हैं। जनसेवा और सत्कार्यों के वायदे करके जनता से वोट लेने वाले श्री यादव और उनके परिजनों ने न राजनीतिक शुचिता, न कानून का ख्याल रखा और न ही जन भावनाओं के अनुकूल काम किया। उन्होंने कहा कि इसके कारण श्री यादव को प्रायश्चित यात्रा करनी चाहिए। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि सब को पता है कि नीतीश राज में भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति काम करती है। उन्होंने कहा कि अपने व्यवहार से श्री यादव और उनके परिजनों ने ही बिहार की महागठबंधन सरकार के नहीं चलने देने की परिस्थिति बनाई। इसलिए उस सरकार के खत्म होने के दोषी श्री यादव और उनके परिजन ही हैं। श्री प्रसाद ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ऐतिहासिक चम्पारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष में बापू की पवित्र स्मृतियों से छेड़छाड़ करने की बजाये श्री तेजस्वी यादव को गांधी जी के विचारों को ग्रहण करना चाहिए और खुद के तथा अपने परिजनों के किए के लिए बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि उनपर और उनके परिजनों पर भ्रष्टाचार करके बेहिसाब बेनामी संपत्ति अर्जित करने जैसे गंभीर आरोप लगे हैं। उन्होंने कहा कि जांच की कानूनी प्रक्रिया चल रही है। देश के संविधान और कानून का सम्मान करते हुए सभी आरोपियों को सरकारी एजेंसियों की जांच प्रक्रिया में सहयोग करना चाहिए। आरोपों से घिरे रहकर सत्ता में बने रहने की ख्वाहिश, कानून, शुचिता और जन भावनाओं के भी विरुद्ध है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...