प्रधानमंत्री हिमालय और मुख्यमंत्री स्वच्छता के मसीहा: उमा भारती

uma-compare-pm-to-himalaya
इलाहाबाद,12 अगस्त, केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा पुनरोद्धार मंत्री उमा भारती ने प्रधानमंत्री को कैलाश पर्वत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को स्वच्छता का मसीहा बताया। केंद्रीय जल संसाधन मंत्री ने कहा कि दनिया में सबसे प्रदूषित 10 नदियों में गंगा एक है। स्वच्छ गंगा परियोजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम मिशन है। श्री मोदी अपने किसी भी काम करने के लिए कैलाश पर्वत की तरह अडिग रहते हैं और श्री योगी उस धारा को आगे बढाने में सहायक। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 15 अगस्त 2014 को स्वच्छता को बड़ा स्थान देते हए इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाया। उन्होंने कहा कि श्री मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को आगे बढाने में योगी आदित्य नाथ का दृढ संकल्प अपना रंग दिखा रहा है। उन्होंने कहा कि अक्टूबर 2018 तक पूरे राज्य को खुले में शौच से मुक्त किया जायेगा। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश आगे बढ रहा है। गंगा की स्वच्छता का परिणाम यह होना चाहिए कि जहां गोल्ड फिश, डोल्फिन हिल्सा आदि मछलियों ने अपने स्थान छोड दिये वे पुन: वहां वापस आ जायें। 


सुश्री भारती ने कहा कि पिछली सरकारों ने स्वच्छ गंगा अभियान के नाम पर कोई काम नहीं किया केवल धन की बर्बादी की है। उनकी कार्यकाल में कोई काम प्रगति पर नहीं था लेकिन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनने के बाद सभी तरफ विकास के मार्ग प्रशस्त हैं। उन्होंने कहा कि खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) के लिए 1750 करोड रूपया रखा गया था जिसमें से 578 करोड रूपया इस कार्य में लगाया गया है शेष रकम से गंगा के किनारे घाटों ओर उसके आसपास के सुन्दरीकरण पर खर्च किया जायेगा। चार हजार गांवों को सुन्दर बनाने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि गंगा का जल कभी खराब नहीं होता। इसमें कौन-कौन सी चीजें हैं जिसकी वजह से इसका पानी कभी खराब नहीं होता जल्दी ही इसकी घोषणा की जायेगी। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...