मधुबनी : निर्दोष पत्रकार के साथ बार बार फंसाया जाता है

journalist-targeted-madhubani
अंधराठाढ़ी/मधुबनी (मोo आलम अंसारी) अंधराठाढ़ी के पत्रकार रमेश कुमार कर्ण को राजनीतिक शाजिश के तहत मुकदमा में फसाने का प्रेस क्लव ने बिरोध जताया है। मालूम हो कि विगत 15 सितम्बर 17को  इस्लाहुल मुस्लेमीन मदरसा सर्रा में बिहार स्टेट मदरसा बोर्ड के आदेश पर जिला शिक्षा पदाधिकारी ने चार सदस्यी टीम गठित किया था । जाच टीम को यह जाँच करना था की मो हबीबुर रहमान अध्यक्ष और मो मुस्लिम द्वारा नव गठित मदरसा प्रबंध समिति को ग्रामीण आम जनता को समर्थन प्राप्त है या नही । जाचं टीम पहुंचते ही मदरसा के प्रधान मौलवी गुट और नवगठित प्रबंध समिति के गुट आपस में भीड़ गये। दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुयी। एक पक्ष के मो हारून ने दर्ज कराए प्राथमिकी में निर्दोष पत्रकार को प्राथमिक अभियुक्त बना दिया। जवकि मदरसा जाँच के दिन पत्रकार घटना स्थल पर पहुचे भी नही थे। पत्रकार रमेश कर्ण के मुताविक घटना के दिन वे अंधरा ठाढ़ी में था। प्रबंध कमिटी में एक ही समुदय के लोग रहते है। इसमे कोई हिन्दू समुदय के लोग एक भी नही थे। मदरसा के प्रधान मौलवी राजनीतिक रंग देना चाहते है। जवकि खुद विवाद कराकर जाँच को प्रभावित किया है । जो सर्व विदित है। विरोध में पत्रकार रतन रवि शुदेश शाडिल्या मो आलम विन्देश्वर चौधरी मो अली हुसेन आदि ने जिला पुलिस पदाधिकारी को अपने अस्तर से जाँच क्र निर्दोष पत्रकार और उनके बड़े भाई को दोष मुक्त करने की मांग किया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...