विनिर्माण में ठहराव, आईआईपी 1.2 प्रतिशत बढ़ा

pause-in-manufacturing-iip-up-1-2-percent
नयी दिल्ली 12 सितंबर,  विनिर्माण उत्पादन में लगभग ठहराव के कारण इस साल जुलाई में देश के औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में 1.2 प्रतिशत की मामूली वृद्धि दर्ज की गयी, इससे पहले जून में विनिर्माण उत्पादन घटने से आईआईपी में 0.17 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी थी जबकि पिछले साल जुलाई में आईआईपी वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत रही थी। चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीने में अप्रैल से जुलाई के दौरान औद्योगिक उत्पादन की समेकित वृद्धि दर 1.7 प्रतिशत रही है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 6.5 प्रतिशत रही थी। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा आज यहाँ जारी आँकड़ों के अनुसार, आईआईपी में 77.63 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखने वाले विनिर्माण क्षेत्र का उत्पादन जुलाई में महज 0.1 प्रतिशत बढ़ा। पिछले साल जुलाई में इसकी वृद्धि दर 5.3 प्रतिशत रही थी। इस दौरान बिजली का उत्पादन सूचकांक 6.5 प्रतिशत और खनन का 4.8 प्रतिशत बढ़ा। पिछले साल जुलाई में ये क्रमश: 2.1 प्रतिशत और 0.9 प्रतिशत बढ़े थे। चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीने में विनिर्माण का उत्पादन सूचकांक 1.3 प्रतिशत, बिजली का 5.6 प्रतिशत और 2.1 प्रतिशत बढ़ा है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में विनिर्माण 6.3 प्रतिशत, बिजली 7.9 प्रतिशत और खनन 5.8 प्रतिशत बढ़ा था।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...