पत्रकार गौरी की हत्या पर देशभर में विरोध प्रदर्शन

protests-across-the-country-on-the-assassination-of-journalist-gauri-lankesh
नयी दिल्ली 06 सितम्बर, देश भर के विभिन्न पत्रकार संगठनों और सामाजिक संगठनों ,राजनीतिक दलों के नेताओं , जाने माने बुद्धिजीवियों और लेखकों ने पत्रकार गौरी लंकेश की निर्मम हत्या की एक स्वर में कड़ी निन्दा की है और दोषियों को तत्काल गिरफ्तार कर उन्हें सख्त सजा देने की मांग की है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा उपाध्यक्ष राहुल गांधी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता अतुल कुमार अंजान और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने गौरी की हत्या को अभिव्यक्ति की आजादी के लिए खतरनाक बताते हुए इस घटना के लिए साम्प्रदायिक ताकतों को जिम्मेदार बताया है। भारतीय जनता पार्टी ने भी घटना की कड़ी निन्दा की है और कहा है कि दोषियों का पता लगाकर उन्हें सख्त सजा दी जानी चाहिए। इनके अलावा विभिन्न महिला एवं सामाजिक संगठनों और प्रेस क्लबों ने बयान जारी कर और धरना प्रदर्शन कर इस घटना की भर्त्सना की है। राजधानी के अलावा बेंगलुरु, लखनऊ, चंडीगढ़, मुम्बई, भोपाल, जयपुर आदि शहरों में पत्रकारों ने विरोध सभाएं आयोजित कीं और गौरी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की तथा निन्दा प्रस्ताव पारित किए। दिल्ली में प्रेस क्लब आफ इंडिया, दिल्ली पत्रकार संघ (डीयूजे), प्रेस एसोसिएशन, इंडियन महिला प्रेस कोर और आल इंडिया न्यूजपेपर्स एडिटर्स कांफ्रेंस, जनवादी लेखक संघ, प्रगतिशील लेखक संघ, अखिल भारतीय जनवादी महिला संघ और सामाजिक संगठन अनहद के अलावा सुप्रसिद्ध इतिहासकार रोमिला थापर, जाने माने लेखक अशोक वाजपेयी, अंग्रेजी लेखिका शशि देशपांडे, नयनतारा सहगल, केकी दारूवाला, अम्बेडकर विश्वविद्यालय के कुलपति श्याम वी मेनन, साहित्य अकादमी के पूर्व सचिव के सच्चिदानन्दन, मशहूर वकील इंदिरा जयसिंह, योजना आयोग की पूर्व सदस्य सईदा हमीद, मशहूर पत्रकार एवं ईपीडब्ल्यू पत्रिका के पूर्व संपादक प्रंजय गुहा ठाकुरता , साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता मंगलेश डबराल, वरिष्ठ पत्रकार मानिनी चटर्जी और सीमा मुस्तफा ने भी इस घटना की कड़ी निन्दा की है। प्रेस क्लब में सुबह 11 बजे एक सभा आयोजित की गयी और उसके बाद दोपहर तीन बजे एक दूसरी सभा आयोजित की गयी, जिसमें बुजुर्ग पत्रकार एच के दुआ, मृणाल पांडे, टीवी पत्रकार बरखा दत्त, रवीश कुमार, सिद्धार्थ वरदराजन, इंडियन वूमन्स प्रेस कोर की अध्यक्ष शोभना जैन, प्रेस एसोसिएशन के अध्यक्ष जयशंकर गुप्त तथा प्रेस क्लब आॅफ इंडिया के महासचिव विनय कुमार सहित कई जाने माने पत्रकार मौजूद थे और उन्होंने एक स्वर में गौरी की हत्या की निंदा की और प्रस्ताव पारित किया। इस मौके पर बड़ी संख्या टीवी और प्रिंट मीडिया के पत्रकार मौजूद थे। राजधानी में इंडिया गेट पर भी इस घटना के विरोध में कैंडल मार्च निकाला गया, जिसमें नागरिक समाज के लोगों ने भाग लिया। सोशल मीडिया पर भी लोगों ने गौरी की हत्या पर गहरा दुख व्यक्त किया है और साम्प्रदायिक ताकतों की कड़ी आलोचना की है। कल शाम से ही ट्वीटर और फेसबुक पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं व्यक्त कर रहे हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...