राेहिंग्या देश में शरणार्थी नहीं बल्कि अवैध प्रवासी हैं: राजनाथ

rohingyas-are-illegal-immigrants-no-violation-of-int-l-law-in-deporting-them-rajnath
नयी दिल्ली 21 सितंबर, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि भारत में म्यांमार से आए रोहिंग्या शरणार्थी नहीं है बल्कि अवैध रुप देश में रह रहे हैं। श्री सिंह ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में कहा कि रोहिंग्या भारत में अवैध रूप से रह रहे हैं और उन्होंने शरण के लिए अावेदन नहीं किया है। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि जबकि म्यांमार उन्हें वापस लेने का तैयार हैं और भारत में कुछ लोग उन्हें वापस भेजने का विरोध कर रहे हैं। उन्होेंने कहा, “म्यांमार से भारत में घुस आए रोहिंग्या लोग शरणार्थी नहीं है, इस सच्चाई को समझना चाहिए।” वापस नहीं भेजने का नियम उन लोगों पर लागू होता है जिन्होंने भारत में शरण ली हो। किसी भी रोहिंग्या ने अभी तक भारत में शरण के लिए आवेदन नहीं किया है। केंद्रीय मंत्री कहा कि मानवाधिकार का हवाला देकर अवैध प्रवासियों को शरणार्थी बताने की गलती नहीं करनी चाहिए। उन्हाेंने कहा कि रोहिंग्या को वापस भेजकर भारत किसी अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन नहीं कर रहा है। भारत ने संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी समझौता 1951 पर हस्ताक्षर नहीं किये हैं। इससे पहले केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय मेें कहा था कि देश में अवैध रुप से रह रहे रोहिंग्या लोगों के अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट तथा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से संबंध हैं आैर इनसे राष्ट्र की सुरक्षा को खतरा है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...