मप्र में 'आरती घोटाले' से हिंदू समाज शर्मसार : कांग्रेस

Hindu-society-ashamed-of-aarti-scam
भोपाल 30 अक्टूबर, मध्य प्रदेश में नर्मदा नदी को अविरल और प्रदूषण मुक्त करने के लिए निकाली गई नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा के दौरान हुई आरती में घोटाले का खुलासा होने के बाद कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर तीखा प्रहार किया है। विपक्षी पार्टी का कहना है कि 'हिंदू, राष्ट्रवाद और भगवान राम की बात करने वाली भाजपा ने 'आरती घोटाला' कर हिंदू समाज को शर्मसार किया है।' नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा, "मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में निकाली गई नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा में 'आरती घोटाला' तो घोटाला नंबर एक है, अभी और घोटाले सामने आना बाकी हैं। पूरी नर्मदा यात्रा के नाम पर किए गए घोटालों की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच हो, क्योंकि अब इस देश में एक यही संस्था है, जहां से न्याय की उम्मीद है।" सिंह ने आगे कहा कि भाजपा सिर्फ वोटों और नोटों के लिए हिंदी, हिंदू और राष्ट्रवाद की बात करती है। उन्होंने कहा, "अयोध्या में राम मंदिर बनाने के नाम पर भाजपा ने पूरे देश में रामशिलाएं और धनराशि एकत्र किया, मगर उसका आज तक हिसाब नहीं दिया। इसके बाद रामपथ बनाने की जोरशोर से घोषणा की, जिसका आज तक कहीं पता नहीं है। सिंहस्थ कुंभ में अरबों रुपये का घोटाला किया गया। अब आरती घोटाला कर भाजपा ने बताया दिया है कि उसका हिंदू धर्म और संस्कृति से प्रेम 'नकली' है। असल मकसद इससे वोट और नोट कमाना है।" नेता प्रतिपक्ष ने सवाल किया कि घरों या मंदिरों में जो आरती पांच-दस रुपये में होती है, मुख्यमंत्री ने ऐसी कौन सी आरती की, जिस पर एक बार में 59 हजार रुपये खर्च आया? प्रधानमंत्री ने भी गंगा की इतनी महंगी आरती नहीं की होगी। वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा, "शिवराज राज में व्यापम घोटाले के बाद आरती घोटाला सामने आया है। एक वक्त की आरती पर 59 हजार रुपये खर्च होना नर्मदा यात्रा के नाम पर हुए घोटालों की पोल खोलता है।"

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...