चंद पूंजीपतियों को मजबूत कर रहे हैं मोदी : कांग्रेस

modi-is-strengthening-just-a-few-big-corporates-congress
नयी दिल्ली 30 नवंबर, कांग्रेस ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के किसी भी पूंजीपति का ऋण माफ नहीं करने के दावे को खारिज करते हुए आज कहा कि माेदी सरकार अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने में ‘मसरुफ’ है और ‘मजबूत’ और ‘मजबूर’ का अंतर भी भूल गयी है। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने यहां पार्टी मुख्यालय में एक विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि देश का किसान, युवा और मध्यम वर्ग ‘मजबूर’ है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चंद मित्र ‘मजबूत’ है। उन्होेंने किसी भी पूंजीपति का ऋण माफ नहीं करने के श्री जेटली के दावे को ‘झूठा’ करार दिया और कहा कि ऋण माफी से संबंधित तमाम कागजात सार्वजनिक हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री ने कल एक लेख में दावा किया था कि सरकार ने किसी भी बड़े पूंजीपति का ऋण माफ नहीं किया है।  श्री सिंघवी ने आरोप लगाया कि श्री जेटली देश से ‘झूठ’ बोल रहे हैं। मोदी सरकार लगातार कुछ पूंजीपतियों के समूह का ऋण माफ कर रही है जबकि बैंकों की गैर निष्पादित परिसंपत्तियां उच्चतम स्तर पर पहुंच गयी है। उन्होंने कहा कि बैँकों की 8.35 लाख करोड़ रुपए की लेनदारी 50 बड़े कार्पोरेट घरानों पर हैं जिनमे से तीन गुजरात के हैं। इनमें से एक ने पिछले माह अपना एक कारोबार समेटने की घोषणा कर दी। इस कार्पोरेट पर 45 हजार करोड़ रुपए का ऋण है।  कांग्रेस नेता ने कहा कि इसी कंपनी के साथ 30 हजार करोड़ रुपए का राफेल सौदा किया जा रहा है। उन्होेंने दावा किया कि भाजपा सरकार ने पिछले तीन साल के दौरान एक लाख 88 हजार 287 करोड़ रुपए के ऋण माफ किए हैं। इसके बावजूद श्री जेटली 125 करोड़ लोगों को ‘बेवकूफ’ बना रहे हैं। श्री सिंघवी ने कहा कि मोदी सरकार ने उत्तरप्रदेश और महाराष्ट्र में कुछ किसानों को ऋण माफी के तौर पर मात्र ‘एक पैसा’ माफ करने का प्रमाणपत्र जारी किया है जबकि कुछ पूंजीपतियों के 1.88 लाख करोड़ रुपए माफ किए हैं।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...