बिहार : गौशाले में जन्म लेने वाले बालक के आगमन 25 दिसम्बर को पलके बिछाकर कर रहे हैं इंतजार

waiting-for-christ
पटना. दुनियाभर के लोग क्रिसमस त्योहार मनाने के मूड में आ गये है.यह त्योहार केवल मजहबी न रहा यह तो यूनिर्वसल बन गया है.सभी लोग अपने स्तर से मनाते हैं.सांता क्लॉज बनकर गिफ्ट देते है. हां बालक बनकर येसु मसीह आने वाले है.ईसाई लोग राजाओं का राजा घोषित कर चुके हैं.अब उनका आने का इंतजार कर रहे हैं.  3 दिसम्बर को आगमन का प्रथम रविवार रहा. 10 दिसम्बर को आगमन का द्वितीय रविवार है. 17 को तृतीय और 24 चतुर्थ रविवार है. 25  दिसम्बर को क्रिसमस है.  संसार के मुक्तिदाता 25 दिसम्बर को येसु ख्रीस्त बालक के रूप में गौशाले में जन्म लेंगे. बालक येसु का पालक पिता संत जोसेफ हैं और माता मां मरियम हैं. इस बीच अल्पसंख्यक ईसाई कल्याण संघ ने ऐलान कर दी है कि संघ तथा ईसाई समुदाय द्वारा ख्रीस्त जयंती मिलन समारोह पटना सिटी में आयोजित की जाएंगी. संघ के सचिव एसके लौरेंस के अनुसार विशेष ख्रीस्त जयंती मिलन समारोह में 10.12.2017 (रविवार)को दोपहर तीन बजे, पादरी की हवेली, पटना सिटी में होगी. तमाम लोगों को सपरिवार सादर आमंत्रित किये हैं. संत जोसेफ चर्च,हरनौत से खबर है कि क्रिसमस कैरोल सॉग 10 दिसम्बर से शुरू होगा.
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...