क्या खुले में शौच के लिए जाते थे अंबानी, अडानी : मोदी

who-go-for-open-defecation-rich-or-poor-asks-modi
नेत्रंग/दाहोद (गुजरात), 06 दिसंबर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन पर अमीराें और उद्योगपतियों के लिए काम करने के कांग्रेस और इसके उपाध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर कड़े पलटवार करते हुए आज कहा कि 50 साल के शासन के बावजूद कांग्रेस आदिवासी समुदाय के लिए अलग मंत्रालय नहीं बना सकी थी। श्री मोदी ने गुजरात के आदिवासी बहुल दाहोद और नेत्रंग विधानसभा क्षेत्रों में दो चुनावी सभाओं में कहा, ‘ कांग्रेस वाले कहते हैं कि मोदी अमीरों के लिए काम करता है। पर पार्टी ने केवल एक ही कुटुंब के 50 साल के राज के बाद भी अलग आदिवासी मंत्रालय नहीं बनाया। जब अटल जी की सरकार बनी तभी जाकर ऐसा हुआ और उनके लिए अलग बजट के साथ ही संसद में अलग से चर्चा होने लगी। आदिवासियों को केवल चुनाव के लिए इस्तेमाल करने वाली कांग्रेस किस मुंह से आदिवासियों और गरीबों की बात करती है। इसके लंबे शासन के बावजूद देश के 18 हजार गांवों और चार करोड परिवारों के पास बिजली नहीं है। इसे बिजली पहुंचाने का विचार क्यों नहीं आया। उनकी सरकार 2019 से पहले इन्हें मुफ्त बिजली देगी क्या ऐसे गांवों में अंबानी परिवार रहता है। सरकार ने बड़े पैमाने पर शौचालय बनाये हैं क्या ये गरीबों के लिए नहीं हैं, क्या अंबानी और अडानी खुले में शौच के लिए जाते थे। श्री मोदी ने राहुल गांधी का नाम लिये बिना उन्हें बात बनाने में माहिर करार दिया। उन्होंने कहा कि आज गुजरात में घूम रहे एक नेता ऐसे आराम से झूठ बाेलते हैं कि मुझे दुनिया को तीन डग में नाप लेने वाले वामन भगवान से बड़ा बना दिया। उन्होंने कहा कि मैने 48 हजार करोड़ एकड़ यानी पृथ्वी से तीन गुनी भूमि एक उद्योगपति को दे दी। इन लोगों को प्राथमिक जानकारी भी नहीं। कांग्रेस आजादी की लड़ाई में आदिवासियों और अन्य के योगदान को भुला कर इसे केवल एक परिवार की जय जयकार के लिए इसे उसी की उपलब्धि दिखाने का प्रयास किया है। इन्होंने सरदार पटेल को भुला दिया और इनका वश चलता तो ये गांधी जी को भी भुला देते। उनकी सरकार शहीद आदिवासियों से संबंधित हर राज्य में उनके संग्रहालय बनायेगी और ऐसा गुजरात में भी किया जायेगा। कांग्रेस ने अन्य पिछड़ा वर्ग के आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाने वाले विधेयक को भी अटका दिया। श्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने 30 करोड़ खाते गरीबों के ही खुलवायें है। ये अमीरों के नहीं हैं। कांग्रेस के शासन में हैंडपंप से हवा निकलती थी पर उन्होंने अपने शासन में पानी की समस्या को स्थायी तौर पर दूर कर दिया।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...