'द्विराष्ट्र समाधान ही फिलीस्तीन-इजरायल संघर्ष को समाप्त करने का एकमात्र रास्ता'


bilateral-solution-is-the-only-way-to-end-the-palestine-Israeli-conflict
काहिरा 18 जनवरी, मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल-फतह अल-सीसी ने कहा है कि द्विराष्ट्र समाधान के माध्यम से एक फिलीस्तीनी राष्ट्र का निर्माण करना ही क्षेत्र में स्थिरता, शांति, समृद्धि और विकास हासिल करने का एकमात्र रास्ता है। समाचार एजेंसी के अनुसार, सीसी ने यह टिप्पणी बुधवार को अपने फिलीस्तीनी समकक्ष महमूद अब्बास के साथ बैठक के दौरान की। मिस्र के राष्ट्रपति ने फिलीस्तीन-इजरायल संघर्ष के निष्पक्ष और व्यापक समाधान तक पहुंचने के लिए मिस्र के प्रयासों पर जोर दिया, जिसके अनुसार 1967 के पहले तय सीमा के अनुरूप एक स्वतंत्र फिलीस्तीनी राज्य की स्थापना की जानी चाहिए जिसकी राजधानी पूर्वी जेरूसलम हो। दोनों नेताओं ने जेरूसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के अमेरिका के हालिया फैसले के खिलाफ अरब देशों और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर किए जा रहे प्रयासों की जांच के लिए दोनों देशों के समन्वय और सहयोग पर भी चर्चा की। अब्बास ने फिलीस्तीन के लोगों की सहायता के लिए मिस्र के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने यह भी कहा कि मिस्र ने एक स्वतंत्र फिलीस्तीनी राष्ट्र की स्थापना करने के प्रयास में अपना भरपूर समर्थन दिया है। फिलीस्तीन के राष्ट्रपति ने अमेरिका के फैसले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में मिस्र के हालिया रुख और प्रतिद्वंद्वी फिलीस्तीनी गुटों के बीच सुलह के प्रयासों की भी सराहना की। पिछले साल दिसंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जेरूसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने की घोषणा की थी। ट्रंप के इस कदम की दुनियाभर में आलोचना की गई थी। फिलीस्तीनी 1967 के युद्ध में इजरायल द्वारा अपने कब्जे में किए गए पूर्वी जेरूसलम को भविष्य के अपने स्वतंत्र राष्ट्र की राजधानी मानता है, जबकि इजरायल पूरे शहर को अपनी राजधानी मानता है।


Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...