सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 08 जनवरी

समेकित बाल संरक्षण योजना का प्रषिक्षण संपन्न

sehore map सीहोर
किषोर न्याय (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 एवं नियम 201़6 के अंतर्गत समेकित बाल संरक्षण योजना के प्रावधानों पर विभिन्न पदाधिकारियों, पर्यवेक्षकों को प्रषिक्षण दिये जाने हेतु सीहोर जिले में कार्यषाला का आयोजन कलेक्टेªट कार्यालय के सभाकक्ष में संपन्न हुआ। प्रषिक्षण में जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय प्रताप सिंह जिला महिला सषक्तिकरण अधिकारी श्रीमती रंजीता पटेल, सहायक संचालक श्रीमती सुष्मिता बिल्लौरे, श्रीमती गौतमी गोलाईत, विकासखण्ड महिला सषक्तिकरण अधिकारी कु.प्रीति यादव, बाल संरक्षण अधिकारी श्री अमित दुबे, परामर्षदाता श्री सुरेष पांचाल, सामाजिक कार्यकर्ता शषि राठौर आदि के साथ जिले की सभी पर्यवेक्षक उपस्थित थे। समेकित बाल संरक्षण योजना अंतर्गत अनाथ एवं निराश्रित  बच्चों के चलाई जा रही योजनाओं के संदर्भ में विस्तृत जानकारी देते हुए संरक्षण अधिकारी श्री अमित दुबे ने बताया कि प्रत्येक आंगनवाड़ी केन्द्र स्तर पर सर्वे करवाया जाकर अनाथ, निराश्रित एवं देखरेख के योग्य बच्चों का चिन्हांकन कर उन्हें बाल संरक्षण अधिकारी अथवा बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत करें ताकि बच्चों के उचित संरक्षण की व्यवस्था की जा सकें एवं उन्हें दत्तक मे दिया जा सकें। साथ ही केन्द्रिय दत्तक ग्रहण अभिकरण में बच्चों को दत्तक लिए जाने हेतु आवेदन संबंधित प्रक्रिया भी बताई।  परामर्षदाता सुरेष पांचाल ने बताया कि समेकित बाल संरक्षण योजना अंतर्गत फोस्टर केयर योजना संचालित हैं जिसमें अनाथ, निराश्रित एवं देखरेख के योग्य बच्चों को पारिवारिक पुर्नवास किया जाता हैं तथा कोई भी व्यक्ति बाल कल्याण समिति के समक्ष बच्चों को पारिवारिक पुर्नवास में लेने हेतु आवेदन कर सकता हैं। जिला महिला सषक्तिकरण अधिकारी श्रीमती रंजीता पटेल ने विभाग की समस्त योजनाओं महिलाओं/बालिकाओं से संबंघित अघिनियमों व कानूनों की जानकारी प्रदान करते हुए प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर महिलाओं की सुरक्षा हेतु गठित शक्ति समिति की विस्तार पूर्वक जानकारी दी। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय प्रताप सिंह ने बताया कि समेकित बाल संरक्षण योजना के अंतर्गत शासन द्वारा बच्चों हेतु विभिन्न कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। प्रत्येक आंगनवाड़ी स्तर पर सर्वे किया जा कर बच्चों को योजनाओं से जोडा जाए।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
Loading...