सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 मई 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 मई

हेयर शैलून की दुकानों पर तालाबंदी से सेन, समाज के सामने भूखे मरने की आई नौबत
मुख्यमंत्री से मांगी प्रति परिवार दस हजार रूपयें की आर्थिक मदद
सीहोर। जिले में दो हजार से अधिक हेयर शेलून की दुकाने बंद है। छोटी बड़ी हेयर शेलून की दुकाने मुख्य रूप से पिछड़ी जाति में शामिल सेन समाज के द्वारा संचालित की जाती है। लॉक डाउन ने कैशकला व्यावसाय से जुड़े हजारों सेन समाज बंधुओं के समक्ष आर्थिक संकट खड़ा कर दिया है। समाज सुधार उद्धार सेन समाज समिति जिलाध्यक्ष तुलसीराम सेन ने संकट से जूझ रहे सेन परिवारों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से प्रति परिवार दस हजार रूपये की आर्थिक मदद प्रदान करने की मांग की है। युवासेन समाज संगठन अध्यक्ष विश्वास बगवैया ने बताया की दुकाने लगातार बंद रहने से कई परिवारों के सामने भूखे मरने जैसे हालात उत्पन्न हो गए है। केंद्र और राज्य सरकार सहित जिला प्रशासन ने अन्य काम धंधा करने वाले नागरिकों को तो लॉक डाउन से समयबंध राहत दी है लेकिन हेयर शेलून संचालकों पर कोई ध्यान नहीं दिया है। प्रति एक दुकान पर दो से दस लोगों तक काम करते है दुकाने बंद होने से हजारों सेन समाज के युवा बेरोजगार हो गए है। कोरोना वायरस से चल रहीं जंग भी सेन समाज भी देश के साथ है। आर्थिक मदद की मांग करने वालों में प्रेमनाराण मालवीय, अशोक बगवैया,मूलचंद्र देहरिया, अरूण श्रीवास,मनोहर बगवैया, सुरेश सेन, धनश्याम सेन,नितिन सेन, ललित सेन, रितेश सेन आदि समाजजन शामिल है।

सैकड़ों व्यापारियों दुकानदारों को विधायक सुदेश राय ने दिलाई लॉक डाउन से बड़ी राहत 
  •  मुख्यमंत्री ने जारी किए ग्रीन जोन जिले में सुबह 8  से 12 बजे तक सभी दुकाने खोलने के आदेश 
  • विधायक ने कहा था प्रशासन से करेंगे बात,लॉक डाउन से दिलाएंगे निजात । 
  • कपड़ा व्यापारी,मोबाईल शॉप,बर्तन दुकानदार, जरनल स्टोर्स बूट हाउस, ऑटो मोबाईल शॉप सहित अन्य दुकानदारों ने विधायक को सौपा था ज्ञापन 
sehore news
सीहोर। जनहितैशी विधायक सुदेश राय ने लॉक डाउन से प्रभावित व्यापारियों दुकानदारों बेरोजगारोंं को बड़ी राहत दिला दी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रीन जोन में शामिल कोरोना संक्रमण से रहित जिले के दुकानदारों और व्यापारियों को विधायक सुदेश राय के अनुरोध पर व्यापारिक गतिविधियां प्रारंभ किए जाने का निर्णय लिया है। लॉक डाउन में सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक दुकाने खोलने का समय निर्धारित किया गया है।  विधायक सुदेश राय ने कहा की लगातार गिरती अर्थ व्यवस्था को बनाए रखने और लॉक डाउन से सभी तरह के व्यापारियों दुकानदारों को हो रही परेशानियों और ग्रीन जोन के नागरिकों को समुचित सुविधाएं उपलब्ध कराने के मददेनजर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उक्त जनहितैशी निर्णय लिया है।  विधायक श्री राय ने कहा की बाजार में दुकाने खुलने और व्यापारिक गतिविधियों के दौरान कड़ाई से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन व्यापारियोंं दुकानदारों को करना होगा। विक्रेताओं और ग्राहकों को सैनीटाईजर का उपयोग करना होगा। सभी के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा। व्यापारियोंं दुकानदारों को केंद्र और राज्य सरकार सहित जिला प्रशासन के सभी निर्देशों का पालन करना होगा।  लॉक डाउन से हैरान परेशान कपड़ा व्यापारी,मोबाईल शॉप,बर्तन दुकानदार, जरनल स्टोर्स बूट हाउस, ऑटो मोबाईल शॉप सहित अन्य दुकानदारों ने विधायक सुदेश राय को सीमेंट विक्रेता इलेक्ट्रीकल्स इलेक्ट्रानिक्स दुकानदारों की तरह लॉक डाउन से समय बंध राहत दिलाने की मांग को लेकर रविवार को ज्ञापन दिया था।  विधायक सुदेश राय को दुकान में लम्बे समय से जारी तालाबंदी से उत्पन्न आर्थिक परेशानियों से व्यापारियों ने अवगत कराया था जिस के बाद विधायक श्री राय ने व्यापारियों से चचा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को व्यापारियों की परेशानियों से अवगत कराने और लॉक डाउन से राहत दिलाए जाने का आश्वासन दिया था।  लॉक डाउन में चार घंटे की राहत प्रदान करने पर सभी वर्गो के व्यापारियों दुकानदारों ने मुख्यमंंत्री शिवराज सिंह चौहान और विधायक सुदेश राय का आत्मीय आभार व्यक्ति किया है। 

महाजन ने मुख्यमंत्री से की थी व्यापारियों को लॉक  डाउन में दुकाने खोलने शीघ्र अनुमति देने की मांग 
 व्यापारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर विरोध भी दर्ज कराया    किया सीएम और महाजन का आभार व्यक्त 
sehore news
सीहोर। भाजपा नेता गौरव सन्नी महाजन के द्वारा सोमवार को पत्र ईमेल कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से केंद्र सरकार की गाईड लाईन के मुताबिक जनता और व्यापारियों के हित में दुकाने खोलने की अनुमति देने की मांग की थी मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महाजन की जनहितैशी मांग को गंभीरता से लेकर दुकानदारों को लॉक डाउन में चार घंटे दुकान खोलने की इजाजत दी है।  मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में भाजपा नेता महाजन ने कहा था की केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जिले को ग्रीन जोन में शामिल किया गया है जिले में कोई भी कोरोना का मरीज नहीं मिला है। लॉक डाउन से व्यापारी परेशान है नागरिकों को भी जरूरी सामग्री नहीं मिल रहीं है। शहर के अनेक व्यापारियों ने इस संबंध में भाजपा नेता महाजन से मुलाकात कर तालाबंदी से छूट दिलाने के लिए कहा था मंगलवार को व्यापारियों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर विरोध भी दर्ज कराया था। मुख्यमंत्री ने दोपहर बाद निर्देश जारी कर ग्रीन जोन में सम्मिलित सीहेार जिले के दुकानदारों को सुबह आठ से दोपहर बारह बजे के माध्य नियमानुसार दुकान खोलने की परमिशन दी है। दुकानदारों को केंद्र और राज्य सरकार सहित जिला प्रशासन के द्वारा कोरोना रोकधाम के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करना होगा। लॉक डाउन में दुकान खोलने की अनुमति दिलाने पर मुख्यमंत्री और भाजपा नेता गौरव सन्नी महाजन का व्यापारी अनिल दासवानी, सुमित तिलावानी, किशौर दासवानी, अशोक दासवानी, अभिषेक जमदानी, पंकज पंजवानी, विकास महाजन पंकज खत्री दिनेश चावड़ा लोकेश सोनी आदि व्यापारियों दुकानदारों को आभार व्यक्त किया है। 

माता रसोई के कार्यकर्ताओं ने कोरोना  योद्धाओं का किया मंडी में अभिनंदन 

sehore news
सीहोर। गल्ला मंडी परिवार के द्वारा लॉक डाउन से प्रभावित दरिद्र नारायणों के लिए संचालित माता की रसोई के कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना योद्धा डॉक्टर नर्स पुलिस कर्मियों और सफाई कर्मियों सहित मीडिया कर्मियों का माता मंदिर चौराहे पर नागरिक अभिनंदन किया। कार्यकर्ताओं ने कोरोना की जंग में जानकी बाजी लगाकर नागरिकों की सुरक्षा कर रहे कोरोना फाईटरों का पुष्प माला पहनाकर श्रीफुल भेंटकर स्वागत किया। कोराना फाईटर के लिए कार्यकर्ताओं ने तालियों बजाकर उत्साहवर्धन किया। कार्यकर्ताओं ने नागरिकों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सैनीटाईजर और मास्क का वितरण भी किया। लाईलाज कोरोना वायरस से बचाव के लिए नागरिकों को जागरूक करने का संकल्प भी कार्यकर्ताओं के द्वारा लिया गया। माता की रसोई के द्वारा गरीब पिछड़ी बस्तियों के आठ सौ से अधिक परिवारों को भोजन के पेकेट घर पहुंचकर उपलब्ध कराए जा रहे है। अभिनंदन कार्यक्रम के दौरान पार्षद आकाश रोहित,सुशील ताम्रकार उमेश रोहित. गौरव शर्मा,  बंटी राठौर, विकास रोहित, सुनील,  संजय यादव, हर्ष मकारिया, विकास रोहित, प्रिंस राठौर, अमित वर्मा, दीपक शर्मा, विकास राठौर शैलेन्द्र जैन आदि उपस्थित रहे। 

शासन के नियमानुसार जिले में मदिरा दुकानों का संचालन शुरु कलेक्टर ने किए आदेश जारी

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा देशी मदिरा भाण्डागार सीहोर, आष्टा, नसरुल्लागंज को पूर्ववत कार्य के लिए तथा जिले की समस्त देशी/विदेशी मदिरा की दुकानों पर मदिरा विक्रय के लिए आदेश जारी किए गए हैं। जारी आदेश में स्पष्ट कहा गया है कि समस्त मदिरा दुकानें प्रात: 7 बजे खोली जाकर शाम 7 बजे अनिवार्य रूप से बंद की जाएं। समस्त मदिरा दुकानों में उपस्थित व्यक्तियों के बीच में कम से कम 6 फिट की दूरी तथा एक समय में 5 से अधिक व्यक्तियों का एकत्र न होना सुनिश्चित किया जाए। मदिरा दुकानों में विक्रयकर्ता मास्क/सेनेटाईजर के साथ-साथ स्वच्छता व संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए आवश्यक प्रबंध करें। समस्त मदिरा दुकानों में मदिरा का उपभोग पूर्व आदेश अनुसार प्रतिबंधित रहेगा। आदेश का कड़ाई से पालन किया जाने के निर्देश दिए गए है।   

शासकीय कर्मचारी आई डी कार्ड से अपने कर्तव्य स्थल पर पहुंच सकेंगे

प्रमुख सचिव मध्यप्रदेश शासन नगरीय विकास एवं आवास श्री संजय दुबे ने जारी आदेश में कहा है कि राज्य शासन के समस्त अधिकारी -कर्मचारियों के लिए जो लॉक डाउन के कारण अपने कर्तव्य स्थल पर नहीं आए हैं उनके लिये शासकीय कार्यालय अथवा संस्था का आईडी कार्ड ही ई-पास के रूप में मान्य किया गया है। जारी आदेश में कहा गया है कि शासकीय कर्मचारियों के लिए ई-पास की पृथक व्यवस्था नहीं की गई है। राज्य शासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि ऐसे समस्त अधिकारी- कर्मचारीगण जो अपने कर्तव्य स्थान पर उपलब्ध नहीं है वे अगर अपने निवास स्थान से अपने कर्तव्य स्थल जिले में आना चाहते हैं और वह रेड जोन में शामिल जिला हो तो भी वे अपने शासकीय आई डी कार्ड से अपने कर्तव्य स्थल पर पहुंच सकते है।

अभी तक कुल 32520 लोगों की स्क्रीनिंग की गई आज तक कुल 235 रिपोर्ट निगेटिव आई

sehore news
स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा मैदानी स्तर पर ग्राम एवं शहरी वार्डो में निरंतर घर-घर सर्वे कर विदेश से सीहोर जिले में लौटे तथा अन्य जिलों व राज्यों से व्यक्तियों की खोजबीन की जा रही है। पिछले 24 घंटे के दौरान जिले में अन्य राज्यों व अन्य जिलों से आए हुए करीब 525 व्यक्तियों की पहचान व पता लगाकर उनकी तत्काल स्क्रीनिंग की गई तथा उन्हें होम क्वारेंटाईन किया गया है। सीहोर जिले में अन्य जिलों अथवा राज्यों से लौटे हुए यात्रियों की संख्या अब तक कुल 32520 है। उन्हें होम कोरेंटाईन से संबंधित गाईड लाईन की जानकारी प्रदान कर सख्त हिदायत दी गई है कि होम कोरेंटाइन गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अन्य देशों से सीहोर पहुंचे कुल व्यक्तियों की संख्या 232 है जिनमें से 184 लोगों की अब तक स्क्रीनिंग स्वास्थ्य विभाग द्वारा की जा चुकी है। पिछले 24 घंटों के दौरान 525 ऐसे व्यक्तियों की पहचान की गई जो अन्य राज्यों और अन्य जिलों से लौटे थे इन सभी व्यक्तियों की तत्काल स्क्रीनिंग कर इन्हें 05 मई को ही होम कोरेंटाईन कर दिया गया है जिले में अब तक होम कोरेंटाईन किए गए व्यक्तियों की संख्या 32520 है। डॉ.डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान ऐसे व्यक्ति जो विदेश से सीहोर जिले में नहीं लौटे थे परंतु अन्य जिलों एवं राज्यों से लौटे थे और विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए। पिछले 24 घंटों में होकोंरेटाईन की अवधि से 483 लोग बाहर आ चुके हैं जबकि अब तक कुल 26689 व्यक्तियों का होम कोरेंटाइन पूर्ण किया जा चुका है। जिले से अब तक कुल 257 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 235 की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। मंगलवार को 01 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए। 01 सेंपल सहित कुल 17 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। आज की स्थिति में हास्पिटल आईसोलेशन में भर्ती मरीजों की संख्या कुल 7 है। 22 सेंपलों को पुन: जांच के लिए भेजा गया था जिनमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। कोरोना संक्रमण पाजीटिव मरीजों की संख्या शून्य है। वहीं विदेश से आए यात्री जो गृह जिला या निवासरत जिला में वापस नहीं आए उनकी संख्या 48 है। विभाग की ओर से मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 7247704181 है इस नंबर पर बाहर से बाहर से आए हुए व्यक्तियों की जानकारी 24 घंटे दी जा सकती है। वहीं कलेक्ट्रेट कार्यालय में भी 24 घंटे के लिए काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है इस नंबर पर संपर्क कर कोविड-19 के संबंध में किसी प्रकार की सलाह ली जा सकती है 24 घंटे संचालित उक्त काल सेंटर में चिकित्सा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है जिनके द्वारा विदेश, अन्य राज्यों व जिलों से आकर होम कोरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को फोनकर  प्रतिदिन फीडबैक लिया जाता है तथा इसकी जानकारी जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, संबंधित ब्लाक मेडिकल आफिसर को तत्काल दी जाती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसिन सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-401259 है यहां पर टेलीमेडिसिन के संबध में उचित सलाह लें।

राज्य-स्तरीय कोरोना नियंत्रण कक्ष बना नागरिकों के लिए मददगार

प्रदेश में नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के कारण लॉकडाउन के दौरान लोगों की दिक्कतों, जिज्ञासाओं आदि के त्वरित समाधान के लिये विशेष राज्य-स्तरीय नियंत्रण कक्ष (कन्ट्रोल रूम) भोपाल के स्मार्ट सिटी सेन्टर में संचालित किया जा रहा है। राज्य-स्तरीय नियंत्रण कक्ष को प्राप्त 64 हजार 909 फोनकॉल में से 58 हजार 497 में त्वरित कार्रवाई कर समाधान किया गया। नियंत्रण कक्ष द्वारा किये जा रहे सहयोग एवं सहायता से अब तक चार लाख 82 हजार 412 लोग लाभान्वित हो चुके हैं। राज्य-स्तरीय नियंत्रण-कक्ष को राशन, भोजन, आश्रय, चिकित्सा, परिवहन तथा अन्य प्रकार की सहायता एवं सहयोग के लिये प्राप्त होने वाले फोनकॉल को तीन अलग-अलग श्रेणी में दर्ज कर त्वरित कार्यवाही की जा रही है। मध्यप्रदेश के वह नागरिक जो अन्य राज्यों में निवास कर रहे हैं, से प्राप्त 51 हजार 243 फोनकॉल में से 45 हजार 913 का निराकरण किया गया। प्रदेश के अन्दर ही अपने निवास के जिले से बाहर रुके हुए नागरिकों से प्राप्त 9 हजार 635 फोनकॉल में से 9 हजार 118 को चाहा गया सहयोग प्रदान किया गया। इसी प्रकार, अन्य राज्यों के मध्यप्रदेश में निवास कर रहे लोगों द्वारा किये गये 4 हजार 031 फोनकॉल में से 3 हजार 466 में मदद पहुँचाई जा चुकी है। नियंत्रण कक्ष में चिकित्सा, खाद्य, परिवहन तथा सामाजिक न्याय आदि विभाग के अधिकारी नियमित रूप से 24×7 उपस्थित हैं। नागरिकों के फोनकॉल पर प्राप्त सूचना के आधार पर संबंधित विभाग के अधिकारी त्वरित कार्रवाई करते हैं। नागरिकों द्वारा चाहे गये सहयोग अथवा मांग की पूर्ति होने पर निराकृत की गई शिकायतों के संबंध में उच्च अधिकारियों द्वारा सम्पर्क कर पुष्टि भी की जाती है। भोपाल के राज्य-स्तरीय कोरोना नियंत्रण कक्ष में आम नागरिक अपनी जरूरतों, शिकायतों और सुझाव के लिए निरंतर सम्पर्क कर रहे हैं।

श्रमिकों को नहीं लगेगा ट्रेन किराया-शासन करेगा भुगतान

राज्य शासन ने निर्णय लिया है कि अन्य प्रदेशों में फँसे मध्यप्रदेश के श्रमिकों को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से प्रदेश लाने में उनके किराये का भुगतान शासन द्वारा किया जायेगा। श्रमिकों से किराया नहीं लिया जायेगा। अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल रूम श्री आई.सी.पी. केशरी ने स्टेट कॉर्डिनेटर और कलेक्टरों  को प्रभार के राज्यों के नोडल अधिकारी एवं रेलवे से समन्वय कर इस निर्णय के क्रियान्वयन के निर्देश दिये है।

प्रदेश के गरीबों को पुन: मिलेगा संबल का लाभ

मध्यप्रदेश में असंगठित श्रमिकों के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये हैं। संबल योजना को व्यापक स्वरूप दिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 5 मई को संबल योजना के श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 41 करोड़ रूपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से उनके खातों में ट्रांसफर करेंगे। संबल योजना के अंतर्गत असंगठित श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा की योजनाएँ शुरू की गई है। इस योजना में न केवल पंजीकृत श्रमिकों बल्कि उनके परिवार के सदस्यों को भी लाभान्वित किया जाता है। योजना के अंतर्गत असंगठित श्रमिकों के पंजीयन के लिए विशेष अभियान चलाया गया था। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में शुरू की गई संबल योजना का उद्देश्य यह था कि सरकार के जन कल्याण के प्रयासों से समाज का कोई वर्ग अछूता नही रहें। सरकार की कोशिश समाज के हर वर्ग कोनए शिखर पर ले जाना रहा है। संबल योजना में असंगठित श्रमिक उन्हें माना गया है जो नौकरी, स्वरोजगार, घरों में कार्य करने वाले, किसी एजेंसी ठेकेदार के जरिए या प्रत्यक्ष रूप से कार्यरत जैसे भविष्य निधि और ग्रेजुयटी आदि समाजिक सुरक्षा का लाभ नही मिलता। संबल योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों कीसामान्य मृत्यु की दशा में सहायता राशि 2 लाख रूपये की अनुग्रह राशि का प्रावधान है। दुर्घटना में मृत्यु की दशा में अनुग्रह सहायताराशि 4 लाख रूपये स्थायी अपंगता पर अनुग्रह सहायताराशि 2 लाख रूपये और आंशिक स्थायी अपंगता में अनुग्रह सहायताराशि 1 लाख रूपये देने का प्रावधान है।मृत्यु होने पर श्रमिक के उत्तराधिकारी को तत्काल 5 हजार की राशि अंत्येष्टि सहायता के रूप मेंदी जाती है। संबल योजना के अंतर्गत पंजीकृत श्रमिकों के परिवार को नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा तथा महाविद्यालयीन स्तर तक नि:शुल्क शिक्षा की सुविधा भी प्रदान की जाती है।

मंडी समिति के अधिकारी/कर्मचारियों ने एक दिन का वेतन 56 हजार 300 रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में प्रदान किया

नोवेल कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के आव्हान पर मंडी समिति सीहोर के समस्त अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा अप्रैल माह के वेतन से एक दिन का वेतन स्वेच्छा से मुख्यमंत्री सहायता कोष में प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री सहायता कोष में 56 हजार 300 रुपये की राशि प्रदान की गई है। मंडी समिति के भारसाधक अधिकारी एवं अनुविभागीय अधिकारी श्री आदित्य कुमार जैन को प्रभारी मंडी सचिव श्री मनोज स्वरूप एवं मंडी निरीक्षक श्री राधेश्याम द्वारा भुगतान की गई राशि का आरटीजीएस पत्रक सौंपा गया।

कोई टिप्पणी नहीं: