बिहार : मेडिकल छात्रों की गिरफ्तारी लाठीचार्ज से फूटा गुस्सा, सरकार का फूंका पुतला,

मेडिकल छात्रों की गिरफ्तारी लाठीचार्ज से फूटा गुस्सा, ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने बिहार सरकार का फूंका पुतला, गिरफ्तार मेडिकल छात्रों की बिना शर्त रिहाई, फर्जी मुकदमांे की वापसी, लाठीचार्ज के दोषियों पर कार्रवाई और विधिसम्मत काउंसिलिंग पूरा कराने की मांग, मांगों को पूरा नहीं होने पर राज्य भर में आंदोलन छेड़ने की चेतावनी।


aisf logo
पटना:- सोमवार को पी॰जी॰ मेडिकल काउंसिलिंग के दरम्यान अचानक लाठीचार्ज एवं छात्रों की गिरफ्तारी से आक्रोशित आॅल इण्डिया स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ;।प्ैथ्द्ध ने आज पी॰एम॰सी॰एच॰ गेट पर बिहार सरकार का पुतला फूंका। गिरफ्तार मेडिकल छात्रों की बिना शत्र्त रिहाई, फर्जी मुकदमे की वापसी, लाठीचार्ज के दोषियों का निलंबन व लाठीचार्ज की न्यायिक जाँच और पी॰जी॰ मेेडिकल काउंसिलिंग विधिसम्मत तरीके से सम्पन्न कराने की मांग की। पी॰एम॰सी॰एच॰ के ओ॰पी॰डी॰ से आज ए॰आई॰एस॰एफ॰ के छात्रों ने मांगों की तख्तियां, झंडा-बैनर के साथ जुलूस निकाला। जो पी॰एम॰सी॰एच॰ के हथुआ वार्ड, बच्चा वार्ड इरमजेंसी होते हुए मुख्य द्वार पर पहुंचा। इस दौरान ए॰आई॰एस॰एफ॰ के छात्रों के चेहरे गुस्से से तमतमाया हुआ था। गिरफ्तार मेडिकल छात्रों को बिना शत्र्त रिहा करो, फर्जी मुकदमे वापस लो, लाठीचार्ज की न्यायिक जाँच कराओ, डाॅक्टरों के साथ अपराधियों जैसा सलूक पर शर्म करो, लाठीचार्ज के दोषी पुलिस अधिकारियों को निलंबित करो, पी॰जी॰ मेडिकल काउंसिलिंग को विधिसम्मत तरीके से पूरा कराओ आदि रोषपूर्ण नारे लगाए।

पी॰एम॰सी॰एच॰ मुख्य द्वार पर पुतला दहन के बाद सभा को संबोधित करते हुए ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव सुशील कुमार ने कहा कि पूरे मामले मंे मुख्यमंत्री को स्वयं हस्तक्षेप करना चाहिए। राज्य की पुलिस बेलगाम हो हर चीज का समाधान लाठी व गोली से करना चाहती है। पुलिस के खिलाफ जूनियर डाॅक्टर हड़ताल पर चले गये हैं ऐसे में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमाराना तय है। मुख्यमंत्री बिना शत्र्त छात्रों की रिहाई, फर्जी मुकदमे की वापसी एवं लाठी चार्ज के दोषी पुलिस कर्मियों का निलंबन सुनिश्चित करेंगे तो एक अच्छा संदेश जाएगा। सभा की अध्यक्षता करते हुए ए॰आई॰एस॰एफ॰ के जिलाध्यक्ष पुष्पेन्द्र प्रणय ने कहा कि राज्य की पुलिस को संवाद पर यकीन नहीं है। हर चीज का समाधान ये लोग लाठी व गोली से करना चाहते हैं। इनको शह राज्य के बड़े अफसरों का भी प्राप्त है मुख्यमंत्री यदि अलग हैं तो दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई सुनिश्चित करें। मौके पर मौजूद प्रतियोगी परीक्षार्थी संघ के राज्य संयोजक सुभाष पासवान ने कहा कि ए॰आई॰एस॰एफ॰ के लम्बे आन्दोलन के बाद एस॰एस॰सी॰ (एम॰टी॰एस॰) की परीक्षा रद्द हुई है। इसे छात्रों के संघर्षों की जीत बताते हुए उन्होंने कहा व्यापक धांधली, पर्चा लीक को देखते हुए नीट एवं बी॰एस॰एस॰सी॰ की स्नातक स्तरीय परीक्षा को रद्द कराने के लिए व्यापक आंदोलन छेड़ना चाहिए। 
मौके पर मौजूद संगठन के राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराज ने कहा कि विधिसम्मत तरीके से पी॰जी॰ मेडिकल की काउंसिलिंग की पूरी प्रक्रिया को सरकार सम्पन्न कराए। राज्य के लोगों के स्वास्थ्य को देखते हुए अच्छे डाॅक्टरों के चयन के साथ राज्य के सभी मेडिकल काॅलेजांे में सीट बढ़ाने की तत्काल जरूरत है। सभा को ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य कार्यकारिणी सदस्य विकास गुप्ता राज्य पार्षद संदीप कुमार, जन्मेजय कुमार, मुकेश कुमार, अफरोज आलम, बिट्टू कुमार, विकास यादव, प्रशांत कुमार, विकास सिंह, मुरारी ठाकुर, मनीष कुमार, शेखर सुमन ने भी संबोधित किया। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...