एफएमसीजी कंपनियों ने सेंसेक्स को सँभाला, निफ्टी टूटा

fmcg-holds-the-market-nifty-dips
मुंबई 19 मई, वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों की घोषणा के बाद आज घरेलू शेयर बाजार में बनी नकारात्मक निवेश धारणा के बावजूद दिग्गज कंपनियों - विशेषकर एफएमसीजी समूह की कंपनियों - में हुई लिवाली से सेंसेक्स अधिकतर शुरुआती बढ़त गँवाता हुआ 30.13 अंक की तेजी में 30,434.79 अंक पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 1.55 अंक की गिरावट के साथ 9,427.90 अंक पर रहा। रोजमर्रा की उपभोक्ता वस्तुओं (एफएमसीजी) को जीएसटी में 18 प्रतिशत के स्लैब में रखा गया है जबकि मौजूदा समय में इन पर औसतन 22 से 25 प्रतिशत कर लगता है। इससे बीएसई के सेंसेक्स में आईटीसी और हिंदुस्तान यूनिलिवर में सबसे ज्यादा तेजी देखी गयी। आईटीसी के शेयर करीब तीन प्रतिशत उछले। हिंदुस्तान यूनिलिवर में भी दो प्रतिशत से अधिक की तेजी रही। वहीं, एशियन पेंट्स में करीब ढाई प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी। बाजार पर बिकवाली का दबाव इस कदर हावी रहा कि सेंसेक्स को छोड़ बीएसई के शेष सभी प्रमुख सूचकांक लाल निशान में रहे। जीएसटी में 1,200 वस्तुओं पर करों की दरें गुरुवार को घोषित कर दी गयी थीं जबकि सेवाओं के लिए दरों की घोषणा शुक्रवार शाम होनी है। वैश्विक बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच सेंसेक्स 104.86 अंक चढ़कर 30,539.65 अंक पर खुला। पहले घंटे के कारोबार में ही यह और चढ़ता हुआ 30,712.35 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। लेकिन, घरेलू स्तर पर बनी कमजोर निवेश धारणा से दोपहर तक यह लाल निशान में उतर गया। कारोबार के दौरान एक समय यह 30,338.52 अंक के दिवस के निचले स्तर तक भी उतरा, लेकिन सेंसेक्स की एफएमसीजी कंपनियों ने इसे लाल निशान में बंद होने से बचा लिया। यह गत दिवस की तुलना में 0.10 प्रतिशत यानी 30.13 अंक चढ़कर 30,434.79 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी 40.45 अंक की तेजी में 9,469.90 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 9,505.75 अंक के दिवस के उच्चतम और 9,390.75 अंक के न्यूनतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 0.02 प्रतिशत यानी 1.55 अंक उतरकर 9,427.90 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 14 कंपनियाँ लाल निशान में और 16 हरे निशान में रहीं जबकि निफ्टी की 51 में से 32 कंपनियों में गिरावट देखी गयी। बीएसई में कुल 2,911 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,786 के शेयर बढ़त के साथ और 961 के गिरावट में बंद हुये जबकि 164 के शेयरों के बंद भाव गत दिवस के स्तर पर ही रहे। कमजोर निवेश धारणा से मझौली और छोटी कंपनियों में जबरदस्त गिरावट देखी गयी। बीएसई का मिडकैप 0.72 प्रतिशत फिसलकर 14,644 अंक पर और स्मॉलकैप 0.88 प्रतिशत की गिरावट के साथ 15,227.07 अंक पर रहा। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...